पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लड़की से बात करने पर बेटे को मार डाला:MP में टीचर ने बेटे की हत्या की, पत्नी-बेटी के साथ मिल लाश नदी में फेंकी; खुद मांग रहा था इंसाफ

बुरहानपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मप्र में एक सरकारी टीचर ने बेटे की हत्या कर दी। पत्नी-बेटी के साथ मिलकर शव को नदी में फेंका। छोटी सी बात यह थी कि बेटा सगाई के बाद भी दूसरी लड़की से फोन पर बात करता था। हत्या के बाद टीचर खुद पुलिस से इंसाफ की गुहार लगा रहा था। एक रस्सी के सहारे पुलिस आरोपियों तक पहुंची। नदी में लाश मिलने के 15 दिन बाद सोमवार को पुलिस ने मामले का खुलासा किया।

पुलिस के मुताबिक बुरहानपुर में सरकारी टीचर का बेटा सगाई होने के बाद भी दूसरी लड़की से बात करता था। इससे उसके पिता नाराज थे। 2 जनवरी की रात भी बेटा दूसरी लड़की से बात कर रहा था। यह देख पिता ने बेटे को धक्का दे दिया, जिससे वह बाथरूम की दीवार से टकराकर गिर गया था। इसके बाद पिता ने सीने पर जोरदार लात मारी थी। इससे बेटे की मौत हो गई थी। टीचर ने पत्नी और बेटी के साथ मिलकर बेटे के हाथ-पैर रस्सी से बांधे। और 2 जनवरी की रात ही लाश रूपारेल नदी में फेंक दी। 3 जनवरी को पुलिस के पास जाकर शिकायत दर्ज कराई कि बेटा 2 जनवरी से लापता है। इसके बाद पुलिस से इंसाफ की गुहार लगाता रहा। घटना धुलकोट गांव की है। पुलिस रस्सी के सहारे कैसे आरोपियों तक पहुंची। पढ़िए पूरी खबर...

पुलिस ने पिता के साथ हत्या में शामिल मां और बहन को भी गिरफ्तार किया है।
पुलिस ने पिता के साथ हत्या में शामिल मां और बहन को भी गिरफ्तार किया है।

धक्का दिया, सीने पर लात मारी, बेटे की मौत हो गई तो लाश ठिकाने लगा दी

धुलकोट गांव के रामकृष्ण भिलाला (25) की सगाई हो गई थी। इसके बाद भी वह किसी अन्य लड़की से बात करता था। वह कोई कामकाज नहीं करता था। दिनभर मोबाइल पर बात करते रहता था। इस बात से पिता भिमान सिंह और परिवार नाराज था। 2 जनवरी को रात करीब 10 बजे रामकृष्ण किसी लड़की से बात कर रहा था। इसे लेकर पिता भिमान उस पर भड़क गए। बेटे ने बहस की तो पिता ने उसे थप्पड़ जड़ दिया। गुस्साए पिता ने उसे धक्का भी दे दिया, जिससे वह बाथरूम की दीवार से टकराकर जमीन पर गिर गया। भिमान ने रामकृष्ण की सीने पर जोरदार लात मारी। जमीन पर पड़े बेटे के शरीर में कोई हरकत नहीं हुई तो पिता घबरा गए। उन्होंने पत्नी जमना बाई और बेटी कृष्णा की मदद से लाश को ठिकाने लगाने का प्लान बनाया।

रामकृष्ण की हरकतों से परेशान होकर पिता ने ही उसे जान से मार दिया।
रामकृष्ण की हरकतों से परेशान होकर पिता ने ही उसे जान से मार दिया।

शौचालय में वैसी ही रस्सी मिली, जैसी मृतक के हाथ-पैर में बंधी मिली थी

बाप, मां और बहन ने प्लास्टिक की थैली को फाड़कर रामकृष्ण के दोनों पैर बांधे। बाथरूम के पास बंधी रस्सी को खोलकर हाथ बांधे और लाश रात में ही रूपारेल नदी तक ले गए। यहां नदी में फेंककर घर लौट आए। अगले दिन थाने पहुंचकर गुमशुदगी दर्ज करवाते हुए इंसाफ की मांग की। जांच में पुलिस को पता चला कि हाथ और पैरों में बंधी रस्सी तो मृतक के घर की ही है। पुलिस भिमान के घर पहुंची तो शौचालय की रस्सी वैसी ही मिली जैसी मृतक के हाथ-पैर में बंधी थी। पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया।

दिसंबर में हुई थी सगाई, फरवरी में होने वाली थी शादी
रामकृष्ण की दिसंबर महीने में ही सगाई हुई थी। फरवरी 2022 में विवाह होने वाला था, लेकिन रामकृष्ण की गलत आदतों के कारण परिजन से अकसर विवाद होता रहता था। पुलिस ने इसी एंगल पर जांच की तो मामले का खुलासा हुआ।

3 जनवरी को पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई, बेटा 2 जनवरी से लापता
दो जनवरी 2022 को पिता ने बेटे की हत्या कर दी थी। उसी रात बेटे की लाश को ठिकाने लगा दिया था। 3 जनवरी को पिता ने धुलकोट चौकी में बेटे के 2 जनवरी 2022 से लापता होने की शिकायत दर्ज कराई थी। इसके बाद दो दिन तक परिवार बेटे के लापता होने का नाटक करता रहा। पुलिस से इंसाफ की गुहार लगाते रहे। 5 जनवरी को नदी में फाॅरेस्ट रेस्ट हाउस के पीछे युवक की लाश मिली थी। अज्ञात बदमाश ने रामकृष्ण की हत्या कर लाश छिपाने की नीयत से हाथ-पैर बांधकर रूपारेल नदी में फेंक दिया था। बाद में निंबोला थाना पुलिस ने धारा 302, 201 के तहत हत्या का केस दर्ज कर मामला जांच में लिया था। 15 दिन बाद पूरे हत्याकांड का खुलासा कर दिया। एसपी राहुल कुमार लोढ़ा ने बताया- आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर उन्हें कोर्ट में पेश किया।