पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Burhanpur
  • Referred From Nepa Mill Hospital To Burhanpur, Died On The Way To Indore Due To Deteriorating Condition, Platelets Had Come To 19 Thousand

एमबीए के छात्र की मौत:रैफर करने के बाद इंदौर ले जाते समय रास्ते में दम तोड़ा

बुरहानपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नगर की पावर हाउस कॉलोनी के रहने वाले 22 साल के करण की डेंगू संभावित होने के चलते मौत हो गई। उसके पिता उदेश नकुल नेपा मिल में सुरक्षा गार्ड के पद पर पदस्थ हैं। जबकि करण इंदौर के एक निजी कॉलेज से एमबीए कर रहा था। एक दिन पहले तबीयत खराब होने पर परिजन उसे नेपा मिल अस्पताल में उपचार कराने ले गए। वहां से उसे बुरहानपुर निजी अस्पताल में रैफर किया गया। जहां जांच में डेंगू संभावित होना सामने आया। बुधवार को उसे बुरहानपुर से इंदौर रैफर किया गया, लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई।

पॉवर हाउस कॉलोनी निवासी करण पिता उदेश को एक दिन पहले मंगलवार को तेज बुखार आया, जिसके बाद परिजनों ने उसे नेपा मिल अस्पताल में दिखाया। यहां से उसे बुरहानपुर रैफर किया गया। परिजन के अनुसार करण की प्लेटलेट्स 19 हजार पर आ गई थी। जबकि यह अमूमन 1.50 लाख से ऊपर होना चाहिए। यही वजह रही कि युवक को संभावित डेंगू मरीज माना गया। करण इंदौर के एक निजी कॉलेज में एमबीए कर रहा था। परिवार में एक भाई और दो बहन हैं।

एलाइजा टेस्ट की स्थिति देखना पड़ेगी, तब पता चलेगा

नेपानगर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डॉ. महेश वर्मा का कहना है कि हमारे पास जानकारी आई है कि युवक की मौत हुई है, लेकिन उसे अभी संभावित पॉजिटिव माना जाएगा। एलाइजा टेस्ट कराया होगा तो स्थिति स्पष्ट हो जाएगी।

खबरें और भी हैं...