पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मुरूम मिली मूंग दाल बांटने का मामला:सरकारी उचित मूल्य दुकान के विक्रेता के खिलाफ एफआईआर दर्ज, विद्यार्थियों को दी गई थी मिलावटी दाल

कटनीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सरकारी उचित मूल्य दुकान से मुरूम ​​​​​​, गिट्टी मिली मूंग दाल मिलने के मामले में धरवारा गांव निवासी विक्रेता विकास दुबे के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत मामला दर्ज कराया गया है। एफआईआर कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी पीयूष कुमार शुक्ला ने स्लीमनाबाद थाने में दर्ज कराई है।

पुलिस ने बताया कि सरकारी उचित मूल्य दुकान भूला गांव से छात्र-छात्राओं को कंकड़, मिट्टी युक्त मूंग दाल बांटी गई थी। एसडीएम बहोरीबंद संघमित्रा गौतम ने उचित मूल्य दुकान की जांच की। जिसमें कई तरह की अनियमितताएं पाई गई। इससे पहले भी मूंग भंडारित थी, उसे सील बंद किया गया।

जांच के दौरान दुकान से 84 विद्यार्थियों को मूंग का वितरण किया जाना पाया गया। जिसमें से 69 छात्रों को 21 मई के पूर्व मूंग वितरण किया गया और 15 हितग्राहियों को 21 मई को मूंग वितरण विक्रेता के ओर से किया गया था।

जिसमें से 8 हितग्राहियों ने उचित मूल्य दुकान पहुंचकर और 6 हितग्राहियों ने पंचायत भवन में दुकान से मिली कंकड़, मुरूम युक्त मूंग को वापस कर दिया था। दस किलो के थैले में मुरूम मिट्टी युक्त मूंग पाई गई।

विक्रेता ने निम्न गुणवत्ता युक्त मूंग की जानकारी प्रबंधक या अन्य अधिकारियों को नहीं दी और उसे बांटता रहा। जांच में इस मामले में को बदनीयती और घोर लापरवाही की श्रेणी में रखा गया है। मप्र सार्वजनिक वितरण प्रणाली के नियमों का उल्लंघन करने पर विक्रेता विकास दुबे के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत मामला दर्ज कराया गया है। पुलिस ने प्रकरण की जांच शुरु कर दी है।

खबरें और भी हैं...