पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Two Photos In Jabalpur, Old Man Dies Of Kovid, 5th Death In Third Wave, On The Other Hand 90 Year Old Defeated Kovid

मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर संजय भारती से समझें खतरे को:जबलपुर में दो तस्वीर, कोविड से वृद्धा की मौत, तीसरी लहर में 5वीं मौत , उधर 90 वर्षीय वृद्धा ने कोविड को हराया

जबलपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

एक शहर दो तस्वीर। जबलपुर में गंभीर बीमारी से ग्रसित 64 वर्षीय वृद्धा ने जहां दम तोड़ दिया। वहीं 90 वर्षीय वृद्धा ने गंभीर बीमारियों की बजाए कोविड को हराकर स्वस्थ होकर घर पहुंची। चिकित्सकों ने आगाह किया है कि कोरोना के तीसरी लहर में गंभीर बीमारियों से ग्रसित लोगों पर अधिक खतरा है। 15 जनवरी को जबलपुर में नए संक्रमितों की संख्या 400 पार हो गई। पांच हजार 270 सैंपल में 482 नए संक्रमित मिले। वहीं 152 कोरोना से ठीक होकर डिस्चार्ज हुए। मेडिकल कॉलेज के वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. संजय भारती से समझें कोविड के खतरे और सावधानी के बारे में...

डॉक्टर भारती के मुताबिक सर्दी-खांसी, गले में खराश, बुखार आना, दस्त आना, पीठ में जकड़न, सुस्ती लगना, नींद आना, छाती में दर्द या दबाव और सांस लेने में दिक्कत होने की समस्या को नजर अंदाज न करें। तुरंत जांच कराएं। अभी असामान्य तरीके के मरीज सामने नहीं आए हैं। पर दो डोज लेने वाले भी गंभीर हालत में पहुंच रहे हैं। शहर के सरकारी स्वास्य केंद्रों और फीवर क्लीनिक में कोरोना आरटीपीसीआर टेस्ट नि:शुल्क किए जा रहे हैं। कोई भी दवा डॉक्टर की सलाह पर ही लें।

जबलपुर में 5वीं मौत

जबलपुर में तीसरी लहर में शनिवार को पांचवीं मौत हुई। कचनार सिटी निवासी 64 वर्षीय वृद्धा को 12 जनवरी को परिजनों ने बेस्ट सुपर स्पेशिलिटी हॉस्पिटल में भर्ती कराया था। वह हाई बीपी, ब्रेन स्ट्रोक, किडनी व लकवा से पीड़ित थीं। सांस लेने में कठिनाईयों के चलते अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अस्पताल की ओर से कोविड जांच कराई गई। रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर अलग वार्ड में इलाज जारी हुआ। शनिवार दोपहर में उनकी मौत हो गई। चौहानी शमशान घाट में कोरोना प्रोटोकाल से अंतिम संस्कार हुआ।

निजी अस्पताल में भर्ती 64 वर्षीय वृद्धा ने दम तोड़ा।
निजी अस्पताल में भर्ती 64 वर्षीय वृद्धा ने दम तोड़ा।

एक सप्ताह में चार लोगों ने दम तोड़ा

जबलपुर में तीसरी लहर में पांचवीं मौत है। एक सप्ताह में चार लोगों ने दम तोड़ें। पांचों मौत में एक बात समान थी कि सभी किसी न किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित थे। इसके बाद कोविड संक्रमित हुए और हालत बिगड़ती चली गई। जिले में ऐसे 50 हजार बुजुर्ग हैं, जो किसी न किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित हैं। कलेक्टर के निर्देश पर कोविड कमांड कंट्रोल रूम से ऐसे बुजुर्गों की सेहत की मॉनीटरिंग जारी है।

मेडिकल कॉलेज में 11 से अधिक मरीज भर्ती हैं।
मेडिकल कॉलेज में 11 से अधिक मरीज भर्ती हैं।

मेडिकल कॉलेज से आई सुखद खबर

जिले में पांच संक्रमितों की मौत के बीच जबलपुर मेडिकल कॉलेज से सुखद खबर भी सामने आई। यहां भर्ती 90 वर्षीय वृद्धा ने कोविड को हराकर जिंदगी की जंग जीत ली। सबसे बड़ी बात ये कि अधिक उम्र और बीपी सहित दूसरी बीमारियों से ग्रसित होने के बाद भी मेडिकल कॉलेज में कोविड प्रभारी डॉ. संजय भारती की अगुवाई में चिकित्सकों ने वृद्धा को मौत के मुंह से खींच लाया। जब वे 3 जनवरी को अस्पताल में भर्ती हुई थीं, तो उनका हार्ट 40 प्रतिशत ही काम कर रहा था। पल्स और ऑक्सीजन रेट भी कम था। वेंटीलेटर पर रखना पड़ा था। बावजूद उन्हें स्वस्थ होकर अस्पताल से डिस्चार्ज हुई है।

जबलपुर में कोविड के नए संक्रमित 400 से अधिक मिले।
जबलपुर में कोविड के नए संक्रमित 400 से अधिक मिले।

15 दिन में चार सौ से ऊपर संक्रमित

जबलपुर में 15 दिन में कोरोना संक्रमितों की संख्या 400 को पार कर गई। 1 जनवरी को जिले में एक संक्रमित सामने आया था। 15वें दिन संक्रमितों की संख्या 482 पहुंच गई। वहीं 152 लोग कोविड से ठीक हुए। जिले में एक्टिव केस 2137 पहुंच गई है। 1 जनवरी से अब तक 2525 नए संक्रमित सामने आ चुके हैं। वहीं 532 डिस्चार्ज हुए। पांच की अब तक मौत हुई है। जिले में अब एक्टिव मरीजों की संख्या 1808 हो चुकी है। 60 मरीज अस्पताल में भर्ती हैं। इसमें से 11 आईसीयू और एक वेंटीलेटर पर है। अधिकतर संक्रमित 30 से 50 उम्र वाले हैं।

खबरें और भी हैं...