पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • In The District, On An Average, 5 Patients Were Found Every Hour In 13 Days, The Family Of A TI, University Registrar And Former Minister's Brother Got Infected.

जबलपुर में संक्रमण का तिहरा शतक:13 दिन में औसतन हर घंटे 5 मरीज मिले, एक टीआई, विवि के रजिस्टार और पूर्व मंत्री के भाई का परिवार संक्रमित

जबलपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोविड संक्रमण ने जबलपुर में लगाया तिहरा शतक। - Money Bhaskar
कोविड संक्रमण ने जबलपुर में लगाया तिहरा शतक।

जबलपुर में कोविड का संक्रमण तेजी से फैलता जा रहा है। 13 दिन में संक्रमण ने तिहरा शतक लगा दिया। 13 दिन में हर घंटे औसतन 5 संक्रमित मिल रहे हैं। 13 जनवरी को 5 हजार 295 सैंपल की जांच में 349 नए संक्रमित मिले। एक जनवरी को जिले में 1 संक्रमित मिला था। नए संक्रमितों में संजीवनी नगर टीआई सहित थाने का चार स्टाफ, रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय के रजिस्टार और पूर्व मंत्री अजय विश्नोई के भाई का परिवार शामिल है।

जबलपुर में पिछले तीसरी लहर में पहली बार नए संक्रमितों का आंकड़ा 300 के पार हुआ है। 89 मरीज ठीक हुए हैं। जिले में एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 1587 हो गई है। वहीं 1 जनवरी से 13 जनवरी के बीच मिलने वाले नए संक्रमितों की बात करें तो अब तक 1727 लोग संक्रमित हो चुके हैं। वहीं ठीक होने वालों की संख्या 285 हो चुकी है।

पुलिस के 27 अधिकारी व जवान संक्रमित

कोरोना के तीसरी लहर में पुलिस वाले भी बड़ी संख्या में चपेट में आने लगे हैं। माढ़ोताल के बाद अब संजीवनी नगर में 5 लोग संक्रमित मिले हैं। इसमें टीआई शोभना मिश्रा और चार आरक्षक शामिल हैं। अब तक पुलिस विभाग के 27 लोग संक्रमित हो चुके हैं। इसमें दो डीएसपी, चार टीआई, दो एसआई, प्रधान आरक्षक व आरक्षक शामिल हैं। गनीमत ये है कि सभी पुलिस वालों को हल्के लक्षण हैं और सभी होम आइसोलेशन में भर्ती हैं।

पूर्व मंत्री के भाई का परिवार पॉजिटिव

पूर्व मंत्री अजय विश्नोई के भाई का परिवार कोरोना पॉजिटिव हो गया है। जिला स्वास्थ्य अधिकारी समेत कई चिकित्सक, स्वास्थ्य कर्मचारी भी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। साइबर थाने के निरीक्षक के कोरोना संक्रमित मिलने के बाद अन्य लोग भी आशंकित हैं।

35 संक्रमित अस्पतालों में भर्ती

जिले में 15 सौ से अधिक संक्रमितों में अधिकतर को हल्के लक्षण है। 35 संक्रमित मेडिकल कॉलेज, मेट्रो सहित अन्य निजी अस्पतालों में भर्ती हैं। इसमें से कई पूर्व से गंभीर बीमारियों, जैसे कैंसर, बीपी, शुगर आदि से पीड़ित रहे हैं। भर्ती होने वालों में वैक्सीन न लगवाने वाले भी शामिल हैं। इन मरीजों में 22 से 76 वर्ष के मरीज हैं। अब तक चार लोगों की मौत हो चुकी हैं। इसमें दो कैंसर, एक बीपी और एक किडनी की समस्या से ग्रसित थे।

जिले में 50 हजार बुजुर्ग किसी न किसी बीमारी से ग्रसित

कोरोना के संक्रमण की चपेट में आने वाले बुजुर्गों को बचाने के लिए जिले में अभियान शुरू किया गया है। पहली व दूसरी लहर में ऐसे चिन्हित किए गए 50 हजार बुजुर्गों की सूची बनाई गई थी। इसमें सभी के मोबाइल नंबर सहित पूरा डाटा फीड है। 60 वर्ष से अधिक कोमारबिडिटी वाले बुजुर्गों से कोविड कमांड एंड कंट्रोल रूम द्वारा कॉल कर उनके सेहत की जानकारी ली जा रही है। लक्षण बता कर ऐसा कुछ होने पर तत्काल डॉक्टर को दिखाने के लिए कहा जा रहा है।

कोविड कमांड सेंटर में संपर्क करें

जिले में कोविड से जुड़ी किसी भी समस्या के निदान के लिए कोविड कमांड सेंटर में 0761-2637500 से 2637505 फोन नंबर पर भी संपर्क कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। यहां 24 घंटे डॉक्टर से लेकर अन्य की ड्यूटी लगाई गई है। जिले में 53 फीवर क्लीनिक खोले जा चुके हैं। यहां भी सर्दी-बुखार वाले अपना इलाज करा सकते हैं। यहां कोविड सैंपल भी लेने की सुविधा उपलब्ध कराई गई है।

टेलीमेडिसिन की सुविधा को किया जा रहा मजबूत

कोरोना के तीसरी लहर में अनुमान है कि फरवरी के पीक में एक दिन में अधिकतम 5 हजार तक मरीज आ सकते हैं। इतने मरीजों को भर्ती करने के लिए अस्पताल नहीं है। सभी को क्वारंटीन भी नहीं रखा जा सकता है। ऐसे में हल्के लक्षण वालों को होम आइसोलेशन में रखा जाएगा। गंभीर मरीजों को ही अस्पताल पहुंचाया जाएगा। ऐसे में टेलीमेडिसिन की भूमिका बढ़ जाएगी। कोविड कमांड एंड कंट्रोल रूम के साथ, शहर के गांधी भवन और हर ब्लाक में एक कंट्रोल सेंटर बनाया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...