पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Referring To Kovid, The Student Organizations Were Adamant On The Demand To Postpone The Exam And Get It Done From The Open Book, It Could Be From 27

रादुविवि की परीक्षा स्थगित:कोविड का हवाला देकर छात्र संगठन परीक्षा टालने और ओपन बुक से कराने की मांग पर थे अड़े, 27 से हो सकती

जबलपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय की पीजी थर्ड सेमेस्टर सहित अन्य परीक्षाओं को विवि प्रशासन ने स्थगित कर दिया। छात्र संगठन ओपन बुक से परीक्षा कराने की मांग पर अड़े थे। आज दिन भर विवि परिसर में छात्र संगठनों का हंगामा चला। पुलिस से भी छात्रों की धक्का-मुक्की हो गई। आखिरकार शाम होते-होते विवि प्रशासन को परीक्षा स्थगित करनी पड़ी। अब 27 जनवरी से परीक्षा हो सकती है। रादुविवि में दिन भर चले छात्रों के प्रदर्शन और उनकी मांग के बाद कुलपति की अध्यक्षता में विद्या परिषद की आपात बैठक बुलाई गई। कोविड का हवाला देते हुए परीक्षा को स्थगित करने का निर्णय लिया गया। विवि की तरफ से बताया गया कि परीक्षा की अगली तारीख जल्द ही घोषित की जाएगी। सूत्रों की मानें तो विवि प्रशासन 27 जनवरी से परीक्षा करा सकती है। 15 दिन के अंदर रिजल्ट घोषित कर देगी।

विभिन्न संगठनों ने ज्ञापन सौंपा।
विभिन्न संगठनों ने ज्ञापन सौंपा।

एनएसयूआई ने सबसे पहले सौंपा ज्ञापन
एनएसयूआई ने 18 जनवरी से आयोजित होने वाली सीबीसीएस की लॉ परीक्षाओं को स्थगित करने की सबसे पहले मांग करते हुए ज्ञापन सौंपा। विरोध में एनएसयूआई ने विवि परिसर में धरना प्रदर्शन किया। वहीं मप्र स्टूडेंट यूनियन के अध्यक्ष अभिषेक पांडे की अगुवाई में बड़ी संख्या में छात्रों ने कुलपति कक्ष में धरना देकर परीक्षाएं स्थगित करने की मांग की।

छात्रों से बात करते हुए पुलिस वाले और विवि के अधिकारी।
छात्रों से बात करते हुए पुलिस वाले और विवि के अधिकारी।

एक करोड़ रुपए छात्र की मौत पर दे विवि तब कराएं परीक्षा

जबलपुर स्टूडेंट्स लॉ यूनियन ने भी परीक्षा ऑफलाइन की बजाए ओपन बुक से कराने की मांग की। छात्रों ने संक्रमित होने पर स्टाम्प पेपर में 1 करोड़ रुपए के साथ परिवार के लोगो को इलाज कराने की लिखित आश्वासन के साथ परीक्षा कराने की शर्त पर अड़ गए।

पुलिस बुलाना पड़ा, तब काबू में आए छात्र।
पुलिस बुलाना पड़ा, तब काबू में आए छात्र।

पुलिस बुलाना पड़ा
छात्रों के हंगामे के बाद सिविल लाइंस थाने सहित ओमती व बेलबाग थाने का बल बुलाना पड़ा। कुलपति कक्ष में घुस गए छात्रों को बल का प्रयोग कर बाहर निकाला गया। इस दौरान धक्का-मुक्की भी हुई। पुलिस ने सख्ती की ताे छात्र बाहर निकल कर नारेबाजी करने लगी। छात्रों के ज्ञापन और कोविड का हवाला देकर परीक्षा निरस्त करने की मांग पर शाम को कुलपति प्रो. कपिलदेव मिश्रा की अध्यक्षता में विद्या परिषद की बैठक में परीक्षा स्थगित करने का निर्णय लिया गया।

ज्ञापन देते छात्र।
ज्ञापन देते छात्र।

शासन स्तर से तय होगा परीक्षा कैसे कराएं
परीक्षा ऑफलाइन होगी या ओपन बुक से, ये शासन स्तर पर ही तय होगा। छात्रों की मांग के संबंध में शासन स्तर को उनके ज्ञापन से अवगत करा दिया गया है। उच्च शिक्षा विभाग के निर्णय के अनुसार ही परीक्षा ऑफलाइन या ओपन बुक से होगा। विवि स्तर से इसका निर्धारण नहीं हो सकता है। कुलसचिव बृजेश सिंह के मुताबिक अभी परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं। नई परीक्षा का टाइमटेबल घोषित होने के साथ ही माध्यम भी तय कर दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...