पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX61905.840.98 %
  • NIFTY185311.05 %
  • GOLD(MCX 10 GM)478990 %
  • SILVER(MCX 1 KG)629570 %
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • LHB Coaches Being Installed In Five Pairs Operating From Jabalpur And One Pair Running From Bhopal, Light In Weight And Unmatched In Safety

WCR की 6 जोड़ी ट्रेनों में लगा LHB कोच:जबलपुर से संचालित पांच जोड़ी तो भोपाल से चलने वाली एक जोड़ी ट्रेनों में लगाए जा रहे एलएचबी कोच, वजन में हल्के तो सुरक्षा में बेजोड़

जबलपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जबलपुर से संचालित पांच तो भोपाल के हबीबगंज से संचालित एक जोड़ी ट्रेनों के रैक एलएचबी से रिप्लेसमेंट किए जा रहे। - Money Bhaskar
जबलपुर से संचालित पांच तो भोपाल के हबीबगंज से संचालित एक जोड़ी ट्रेनों के रैक एलएचबी से रिप्लेसमेंट किए जा रहे।

पश्चिम मध्य रेलवे (WCR) यात्रियों को बेहतर सुविधाएं देने के लिए लंबी दूरी की 6 जोड़ी ट्रेनों के कोच बदलने का निर्णय लिया है। अब पुराने कोच की बजाए इन ट्रेनों में LHB कोच लगाया जाएगा। इसमें से पांच जोड़ी ट्रेन जबलपुर से संचालित होती हैं तो एक जोड़ी ट्रेन भोपाल से दिल्ली के बीच संचालित हो रही है। रेलवे सभी पुराने कोच को एलएचबी कोच में तब्दील करने के लिए चरणबद्ध तरीके से काम कर रही है।

डब्ल्यूसीआर के सीपीआरओ राहुल जयपुरिया के मुताबिक रेल प्रशासन यात्रियों को बेहतर सुविधाएं देने का लगातार प्रयास में जुटा रहता है। पमरे ने जोन से संचालित 6 जोड़ी ट्रेनों के कोच को एलएचबी कोचों से रिप्लेस करने का निर्णय लिया है। एलएचबी कोच जहां वजन में हल्के होते हैं। वहीं मजबूती में पुराने आईसीएफ रैक की तुलना में बेहतर होते हैं।

सुरक्षा और रफ्तार में बेजोड़

रेलवे लिंके होफमान बुश (LHB) डिजाइन कोच का उपयोग करने और पुराने आईसीएफ डिजाइन कोच के उत्पादन को रोकने का फैसला किया है। एलएचबी कोच के साथ ट्रेन की रफ्तार बढ़ाने में भी मदद मिलती है। सुरक्षा के लिहाज से भी ये बेहतर है। कोच में एंटी-क्लाइम्बिंग जैसी विशेषताएं होती हैं, ताकि टकराव की स्थिति में कोच एक-दूसरे पर न चढ़ सके।

रेलवे चरणबद्ध तरीके से ट्रेनों के कोच को कर रही रिप्लेसमेंट।
रेलवे चरणबद्ध तरीके से ट्रेनों के कोच को कर रही रिप्लेसमेंट।

22 कोचों के साथ अब चलाने का रेलवे ने लिया है निर्णय

रेलवे ने एलएचबी कोच के साथ मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों के पारंपरिक आईसीएफ डिजाइन कोच को चरणबद्ध तरीके से बदलने का फैसला किया है। अप्रैल 2018 से उत्पादन इकाइयों द्वारा सिर्फ एलएचबी कोच ही बनाए जा रहे हैं। सभी 6 जोड़ी ट्रेनों में 01 एसी प्रथम श्रेणी, 02 एसी द्वितीय श्रेणी, 06 एसी तृतीय श्रेणी, 07 स्लीपर, 04 सामान्य श्रेणी और 01-01 जनरेटर कार व एसएलआरडी सहित कुल 22 कोचों के साथ चलाने का निर्णय लिया है। सभी स्पेशल ट्रेनों को नवंबर के आखिरी और दिसंबर के पहले सप्ताह तक चलाने का निर्णय लिया गया है।

एलएचबी कोच हल्के और अधिक मजबूत होते हैं।
एलएचबी कोच हल्के और अधिक मजबूत होते हैं।

WCR की इन 6 जोड़ी ट्रेनों में लगाए जा रहे एलएचबी कोच

  • ट्रेन 02127/02128 जबलपुर-निज़ामुद्दीन-जबलपुर एमपी संपर्क क्रांति स्पेशल ट्रेन।
  • ट्रेन02181/02182 जबलपुर-निज़ामुद्दीन-जबलपुर सुपरफास्ट स्पेशल ट्रेन
  • ट्रेन 01464/01463 जबलपुर-सोमनाथ-जबलपुर वाया (इटारसी, होशंगाबाद) स्पेशल ट्रेन
  • ट्रेन 01466/01465 जबलपुर-सोमनाथ-जबलपुर वाया (कटनी मुड़वारा, बीना) स्पेशल ट्रेन
  • ट्रेन 02292/02291 जबलपुर-इंदौर-जबलपुर स्पेशल ट्रेन
  • ट्रेन 02155/02156 हबीबगंज-निज़ामुद्दीन-हबीबगंज स्पेशल ट्रेन

खबरें और भी हैं...