पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57200.23-0.13 %
  • NIFTY17101.95-0.05 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47875-1.15 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61247-2.76 %

प्रताड़ना के चलते किया था सुसाइड:जबलपुर पुलिस ने दवा दुकानदार की मौत मामले में मृतक के चाचा सहित 6 पर FIR

जबलपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सौरव साहू (40) के सुसाइड मामले में चाचा सहित 6 पर एफआईआर। - Money Bhaskar
सौरव साहू (40) के सुसाइड मामले में चाचा सहित 6 पर एफआईआर।

जबलपुर के रांझी में मारपीट और दुकान खाली कराने के लिए दो सालों से प्रताड़ित करने पर सौरव साहू (40) ने सुसाइड किया था। रांझी पुलिस ने मामले में मृतक के सुसाइड नोट, मौत पूर्व के वीडियो और दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे के आधार पर मृतक के चाचा सहित 6 लोगों को आरोपी बनाया है। सभी आरोपी फरार बताए जा रहे हैं।

रांझी टीआई विजय सिंह परस्ते के मुताबिक 12 अक्टूबर की रात 10.30 बजे के लगभग आशीर्वाद बारात घर के पास रहने वाले सौरव साहू ने पंखे में रस्सी का फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया था। इसकी सूचना उसके छोटे भाई गौरव ने पुलिस को दी थी। साथ ही ये भी बताया था कि सुसाइड से पहले उसके भाई का रांझी स्थित डेंटल क्लीनिक चलाने वाले डॉ. तरनजीत सिंह गुजराल और उनके साथियों से विवाद हुआ था।

बीजेपी विधायक अशोक रोहाणी के साथ काली पगड़ी में आरोपी काके गूमर और लाल पगड़ी में उदीप रील हैं।
बीजेपी विधायक अशोक रोहाणी के साथ काली पगड़ी में आरोपी काके गूमर और लाल पगड़ी में उदीप रील हैं।

BJP के पूर्व पार्षद के भतीजे ने किया सुसाइड:जबलपुर में मेडिकल संचालक फंदे पर झूला; सुसाइड नोट में लिखा- डेंटल डॉक्टर समेत 7 लोग करते थे परेशान

जेब में मिला था सुसाइड नोट

टीआई के मुताबिक सौरव के पहने हुए लोवर के दाहिने जेब में एफएसएल टीम की मौजूदगी में एक सुसाइड नोट मिला था। जिसमें सौरव ने लिखा है कि पिछले दो साल से दुकान मालिक उसके चाचा ऋषि साहू और किराएदार डॉ. तरनजीत सिंह गुजराल द्वारा दुकान खाली कराने के लिये प्रताड़ित किया जा रहा था। 12 अक्टूबर को वह जब दुकान में बैठा था, तभी डॉ. तरनजीत गुजराल, काके गूमर, तेजिन्दर सिंह लाम्बा, ऋषि साहू की लड़की ऋषिता साहू अपने साथियों के साथ पहुंचे और उसे गाली देते हुए दुकान से खींच कर बाहर निकाल कर मारपीट की।

दुकान में लगे सीसीटीवी में आरोपी मारपीट करते हुए।
दुकान में लगे सीसीटीवी में आरोपी मारपीट करते हुए।

मौत पूर्व सौरव का वीडियो और सीसीटीवी में भी साक्ष्य

रांझी पुलिस के मुताबिक गौरव ने अपने भाई का मौत पूर्व एक वीडियो भी दिया, जिसमें वह अपनी मौत के लिए उक्त आरोपियों को दोषी बता रहा था। अपने साथ मारपीट और दो साल से की जा रही प्रताड़ना के चलते सुसाइड करना बता रहा है। साथ ही सौरव के दवा दुकान में लगे सीसीटीवी फुटेज में भी 12 अक्टूबर को की गई मारपीट का सीन कैद मिला। फुटेज में दिख रहा था कि सौरव काे उदीप रील तेजिन्दर लाम्बा , काके गूमर, डॉ तरनजीत सिंह गुजराल दुकान के अंदर से जबरन पकड़कर बाहर निकालते हुए मारपीट कर रहे हैं।

विधायक के साथ पीछे खड़ा तेजिंदर सिंह उर्फ सनी लाम्बा है।
विधायक के साथ पीछे खड़ा तेजिंदर सिंह उर्फ सनी लाम्बा है।

दुकान को लेकर था पूरा विवाद

पुलिस के मुताबिक जांच में सामने आया कि पूरा विवाद दुकान को लेकर था। सौरव अपने चाचा ऋषि साहू की दुकान में 15 वर्षों से मेडिकल दुकान चला रहा था। उसके बगल में ही डॉ तरनजीत सिंह की डेंटल क्लीनिक है। दुकान मालिक ऋषि साहू की बेटी डॉ. ऋर्षिता साहू भी डेंटिस्ट है और इसी क्लीनिक में प्रेक्टिस करती है। डॉ तरनजीत सिंह का सौरव साहू से 2 वर्षों से विवाद चल रहा था। दरअसल मृतक की मेडिकल की दुकान की जगह डॉ. तरनजीत सिंह खुद का मेडिकल स्टोर खोलना चाहता था। इस कारण सौरव को दुकान खाली करने के लिए प्रताड़ित कर रहा था।

दुकान में लगे सीसीटीवी में आरोपी कैद।
दुकान में लगे सीसीटीवी में आरोपी कैद।

मारपीट और प्रताड़ना से व्यथित होकर की सुसाइड

दुकान खाली करने के लिए प्रताड़ित और 12 अक्टूबर को की गई मारपीट से व्यथित होकर ही सौरव ने सुसाइड किया है। रांझी पुलिस ने सुसाइड नोट, सीसीटीवी फुटेज, मौत पूर्व के वीडियो के आधार पर डॉ. तरनजीत सिंह गुजराल, ऋषि साहू, काके गूमर, तेजिन्दर सिंह लाम्बा, डॉ. ऋषिता साहू, उदीप रील के खिलाफ दुकान में घुसकर मारपीट, धमकी और आत्महत्या के लिए मजूर करने का प्रकरण दर्ज किया है। सभी आरोपियों की तलाश जारी है।

जबलपुर में सुसाइड से पहले का VIDEO:बोला- सारे सबूत मिट जाएं तो भी मेरे मोबाइल पर हैं, बेटी को भी भेजा है