पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX56747.14-1.65 %
  • NIFTY16912.25-1.65 %
  • GOLD(MCX 10 GM)476900.69 %
  • SILVER(MCX 1 KG)607550.12 %

10 फोटो में संस्कारधानी में शाह:राजा शंकर शाह और उनके बेटे के शहीदी कार्यक्रम में शामिल हुए, पिता-पुत्र को अंग्रेजों ने तोप के मुंह पर बांध उड़ा दिया था

जबलपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुलदस्ता देकर गृह मंत्री अमित शाह का स्वागत किया। - Money Bhaskar
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुलदस्ता देकर गृह मंत्री अमित शाह का स्वागत किया।

गृहमंत्री अमित शाह संस्कारधानी यानी जबलपुर में राजा शंकरशाह और उनके बेटे कुंवर रघुनाथ शाह के शहीदी कार्यक्रम में शामिल हुए। अमर बलिदानी शंकरशाह और रघुनाथ शाह को अंग्रेजों ने तोप के मुंह के आगे बांध उड़ा दिया था। गृहमंत्री अमित शाह और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंच से तमाम घोषणाएं और वादे भी किए। फोटो में देखिए, शाह का दौरा...

गृहमंत्री अमित शाह विशेष विमान से जबलपुर आए।
गृहमंत्री अमित शाह विशेष विमान से जबलपुर आए।
जबलपुर के गैरिसन ग्राउंड में आदिवासी सम्मेलन हुआ।
जबलपुर के गैरिसन ग्राउंड में आदिवासी सम्मेलन हुआ।
आदिवासी सम्मेलन के अलग-अलग रंग।
आदिवासी सम्मेलन के अलग-अलग रंग।
शाह ने कहा- राजा शंकर शाह और उनके बेटे का बलिदान भुलाया नहीं जा सकता।
शाह ने कहा- राजा शंकर शाह और उनके बेटे का बलिदान भुलाया नहीं जा सकता।
इसी मंच से BJP ने जनजातीय समाज जोड़ो अभियान की शुरुआत की।
इसी मंच से BJP ने जनजातीय समाज जोड़ो अभियान की शुरुआत की।
आदिवासी सम्मेलन में कलाकारों ने भी परफॉर्मेंस दी।
आदिवासी सम्मेलन में कलाकारों ने भी परफॉर्मेंस दी।
धनुष-बाण के साथ अमित शाह।
धनुष-बाण के साथ अमित शाह।
सम्मेलन में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का अंदाज।
सम्मेलन में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का अंदाज।
महाकौशल के सभी जिले से लगभग 3 हजार आदिवासी इस सम्मेलन में शामिल हुए।
महाकौशल के सभी जिले से लगभग 3 हजार आदिवासी इस सम्मेलन में शामिल हुए।

गृह मंत्री ने कहा- आजादी का इतिहास लिखने वालों ने आदिवासियों का योगदान भुलाया; शिवराज बोले- MP के आदिवासी क्षेत्रों में स्वशासन की व्यवस्था लागू होगी

आदिवासियों को लुभाने जबलपुर आए अमित शाह:MP में 2 करोड़ आबादी ST, 230 में से 84 विधानसभा सीटों पर असर; 2018 में इसी फैक्टर ने BJP से छीन ली थी सत्ता

अंग्रेजों ने शंकर शाह और उनके बेटे रघुनाथ को तोप से बांधकर उड़ा दिया था, इसलिए मनाया जाता है बलिदान दिवस

खबरें और भी हैं...