पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX56747.14-1.65 %
  • NIFTY16912.25-1.65 %
  • GOLD(MCX 10 GM)476900.69 %
  • SILVER(MCX 1 KG)607550.12 %
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • New System Made After The Death Of Female Constable In Jabalpur, Health Report Of Sick Police Personnel Will Be Taken In The Morning And Evening

पुलिस की डेंगू केयर सेंटर शुरू:जबलपुर में महिला आरक्षक की मौत के बाद बनाई गई नई व्यवस्था, बीमार पुलिस कर्मियों का सुबह-शाम लिया जाएगा हेल्थ रिपोर्ट

जबलपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस कंट्रोल रूम में फागिंग कराई गई। पुलिस कर्मियों की सेहत का पता लगाने अब यहीं पर डेंगू केयर सेंटर संचालित होगी। - Money Bhaskar
पुलिस कंट्रोल रूम में फागिंग कराई गई। पुलिस कर्मियों की सेहत का पता लगाने अब यहीं पर डेंगू केयर सेंटर संचालित होगी।

बीमार पुलिस जवानों से थाना प्रभारी रोजाना सुबह-शाम फोन पर बात कर उनकी सेहत का पता लगाएंगे। किसी भी तरह की समस्या होने पर अस्पताल में भर्ती कर उनके उपचार की व्यवस्था करेंगे। डेंगू से आरक्षक की मौत के बाद बीमारी से मौत की घटनाओं को रोकने के लिए यह व्यवस्था पुलिस विभाग में लागू कर दी गई है।

पुलिस अस्पताल में संसाधन जुटाए गए हैं ताकि डेंगू, मलेरिया, टाईफाईड, चिकनगुनिया की जांच के लिए जवानों को भटकना न पड़े। इतना ही नहीं गणना के दौरान थाना प्रभारी जवानों से बातचीत कर उनकी और उनके परिजनों की सेहत की जानकारी लेंगे। यदि कोई बीमार है तो संपूर्ण ब्यौरा रजिस्टर में दर्ज करते हुए डेंगू केयर सेंटर द्वारा निगरानी की जाएगी। दरअसल, डेंगू से महिला आरक्षक की मौत को एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने कोविड की तर्ज पर डेंगू केयर सेंटर शुरू कराई है। पुलिस का हेल्थ सिस्टम तैयार किया जा रहा है, ताकि जवानों अथवा उनके परिवार के सदस्य को समय रहते उपचार मिल सके।

जबलपुर में डेंगू से महिला कॉन्स्टेबल की मौत:बेटा-बेटी भी अस्पताल में भर्ती, अब तक 399 लोगों की एलाइजा जांच में डेंगू की पुष्टि; 35 मरीज चिकुनगुनिया के भी मिले

पुलिस लाइन अस्पताल में सभी जरूरी जांच की सुविधा उपलब्ध।
पुलिस लाइन अस्पताल में सभी जरूरी जांच की सुविधा उपलब्ध।

जांच की सुविधा, कम कीमत पर दवा-

पुलिस अस्पताल की पैथालाजी में डेंगू, टाइफाइड, मलेरिया, सीबीसी, काेलेस्ट्राल, डायबिटीज, सीआरपी समेत तमाम जांचों की सुविधा प्रारंभ की गई है। अस्पताल में दवा दुकान का संचालन किया जा रहा है। यहां जवानों को 30-35 फीसद छूट पर दवाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। एसपी बहुगुणा ने नगर निगम, नगर पालिका परिषद, स्वास्थ्य विभाग से समन्वय स्थापित कर पुलिस थानों, चौकियों, पुलिस के आवासीय परिसर में मच्छरों के विनष्टीकरण के लिए दवा का छिड़काव सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं।

पुलिस लाइन में भी भर्ती हो सकेंगे पुलिस कर्मी।
पुलिस लाइन में भी भर्ती हो सकेंगे पुलिस कर्मी।

कार्यालय, पुलिस लाइन व थानों में सफाई शुरू, चली फागिंग-

मच्छरों पर प्रभावी रोकथाम के लिए पुलिस थानों व कार्यालयों में सफाई व्यवस्था शुरू कर दी गई है। पुलिस लाइन में भी यह अभियान शुरू कर दिया गया है। मच्छरों की रोकथाम के लिए फागिंग मशीन चलाने के साथ कीटनाशक का छिड़काव किया जा रहा है। पुलिस अधीक्षक ने अधीनस्थों को निर्देश दिया है कि डेंगू, टाइफाइड, मलेरिया व अन्य बीमारियों से ग्रस्त जवानों व अधिकारियों से रोजाना संवाद किया जाए। उनके उपचार में किसी भी तरह की समस्या होने पर बिना देर किए उन्हें जानकारी दी जाए।

डेंगू से मौत पर मिले मुआवजा:हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर, जिला स्तर पर एक्सपर्ट कमेटी गठित की जाए

खबरें और भी हैं...