पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

इंदौर में MBBS डॉक्टर की गुंडई:महिला ने कार खड़ी करने पर टोका; क्लिनिक से वर्कर्स बुलाकर मां-बेटे को पिटवाया, ठेले से आलू-प्याज फेंके

इंदौरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

इंदौर में एक MBBS डॉक्टर ने गुस्से में महिला का आलू-प्याज का ठेला पलटवा दिया। महिला और उसके बेटे की गलती सिर्फ इतनी थी कि उन्होंने डॉक्टर से ठेले के आगे से कार हटाने का कह दिया। इससे नाराज डॉक्टर ने अपने क्लिनिक से कर्मचारियों को बुलाकर पहले मां-बेटे को पिटवाया। फिर आलू-प्याज रोड पर फेंक दिए। कुछ रोज पहले भोपाल में भी ऐसा ही मामला सामने आ चुका है। घर के बाहर खड़ी कार से ठेला टच होने पर महिला प्रोफेसर ने फल का ठेला पलटा दिया था।

घटना बीती रात को भंवरकुआ थाना इलाके की भोलाराम उस्ताद रोड पर हुई। यहां आलू-प्याज का ठेला लगाने वाली द्वारिका बाई और उसके बेटे राजू को अनु अनायका क्लिनिक के संचालक डॉ. अनिल घई ने पिटवा दिया। इसका वीडियो अब सामने आया है।

द्वारिका का आरोप है कि वह बीती रात अपने ठेले पर खड़ी थी, तभी डॉ. घई क्लिनिक पर पहुंचे। उन्होंने कार ठेले के सामने लगा दी। बस उनसे इतना कहा कि कार साइड में लगा लीजिए, इस पर वह भड़क गए। गाली-गलौज की। चार कर्मचारियों को बुलाकर हमें पिटवा दिया। बेटे राजू के हाथ में गंभीर चोट आई है।

मारपीट में घायल राजू।
मारपीट में घायल राजू।

पुलिस ने राजीनामे का दबाव बनाया
महिला का कहना है कि बेटे के साथ शिकायत करने भंवरकुआं थाने गई थी। वहां हमें काफी देर तक बैठाकर रखा गया। राजीनामे का दबाव बनाया गया, लेकिन जब थाने पर भीड़ जमा होने लगी, तब डॉ. घई के सिर्फ 1 कर्मचारी यश पर रिपोर्ट की गई। उसे गिरफ्तार कर छोड़ भी दिया। पुलिस ने हमें रात 3 बजे तक थाने में बैठाकर रखा।

पुलिस कमिश्नर से शिकायत करने पहुंचे मां-बेटा।
पुलिस कमिश्नर से शिकायत करने पहुंचे मां-बेटा।

पुलिस कमिश्नर से शिकायत
महिला शिकायत लेकर पुलिस कमिश्नर हरिनारायण चारी मिश्र के पास पहुंचीं। कमिश्नर ने धाराएं बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। बताया जाता है कि डॉ. घई आपराधिक और जालसाज प्रवृत्ति का है। उसके खिलाफ पहले भी और लोग शिकायत कर चुके हैं।