पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX58649.681.76 %
  • NIFTY17469.751.71 %
  • GOLD(MCX 10 GM)479790.62 %
  • SILVER(MCX 1 KG)612240.48 %

फांसी लगाने वाले युवक का फंदा टूटा, मौत:इंदौर में बेटे को फांसी लगाता देख मां पुलिस वालों को लेकर आई, दरवाजा तोड़कर बाहर निकाला, अस्पताल में 15 मिनट बाद हो गई मौत

इंदौर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गौरव खत्री। - फाइल - Money Bhaskar
गौरव खत्री। - फाइल

परदेशीपुरा इलाके में रहने वाले एक निजी अस्पताल के कर्मचारी ने शनिवार फांसी लगा ली। बीट के सिपाहियों को जब मामले की जानकारी लगी तो वह युवक के घर पहुंचे। दरवाजा तोड़कर उसे बाहर निकाला और अस्पताल ले गए। यहां डॉक्टरों ने उसे प्राथमिक उपचार दिया, लेकिन 15 मिनट बाद युवक की मौत हो गई।

मामला गौरव पुत्र नरेन्द्र खत्री (22) का है। उसने अपने घर का दरवाजा बंद कर फांसी लगा ली थी। गौरव की मां ने जब खिड़की से उसे देखा तो आसपास वालों से मदद मांगी। जिसमें एफआरवी-100 को सूचना दी गई। इस दौरान डमरू उस्ताद चौराहे पर ड्यूटी कर रहे सिपाही राजकुमार और पप्पू बर्डे मौके पर पहुंचे। उन्होंने यहां खिड़की से देखने के बाद सबसे पहले गौरव के घर का दरवाजा तोड़ दिया यहां वह फंदा टूटने पर गिर गया। सिपाहियों ने यहां देखा की गौरव की सांसे चल रही है। वह उसे अपनी गाड़ी से नजदीक शेल्बी अस्पताल ले गए। लेकिन कुछ देर बाद डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

गेट तोड़कर बाहर निकालने वाले पुलिसकर्मी।
गेट तोड़कर बाहर निकालने वाले पुलिसकर्मी।

एक साल पहले किया था प्रेम विवाह
गौरव ने एक साल पहले प्रेम विवाह किया था, लेकिन आए दिन पत्नी से किसी ना किसी बात पर विवाद होता था। गौरव निजी अस्पताल में वार्ड बाय का काम करता था। वह अपनी पत्नी के साथ भागीरथपुरा इलाके में रहता था। शनिवार को वह अपनी मां से मिलने का कहकर घर से निकला था ओर कुछ देर बाते करने के बाद वह कमरे में चला गया और फांसी लगा ली। पुलिस को मृतक के पास से सुसाइड नोट नहीं मिला है। पत्नी व परिवार के बयान के बाद आगे की जानकारी सामने आ पाएगी।

बीमारी से कर्ज में डूबा जान दी
एरोड्रम इलाके में रहने वाले एक व्यक्ति ने भी शनिवार देर रात फांसी लगाकर जान दे दी। बताया जाता है कि बीमारी का उपचार कराने के चलते वह कर्ज तले दब गया था। इस कारण से तनाव में था। पुलिस के मुताबिक सुखदेव नगर निवासी योगेश उर्फ पिंटू पुत्र जयंती लाल सलेचा को उसके परिवार के लोग एमवाय अस्पताल लेकर पहुंचे थे। यहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। योगेश के परिवार में उसका तीन साल का बेटा व पत्नी है। बताया जाता है कि वह फेफड़ों की बीमारी से ग्रसित था जिसके कारण उपचार में काफी खर्च आ रहा था। उस पर इसी कारण से कर्ज भी हो गया था।

खबरें और भी हैं...