पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

इंदौर में 500 रुपए से 1 लाख तक के रावण:3 फीट से लेकर 51 फीट ऊंचे रावण के स्वरूप, छोटी प्रतिमाएं बनी पसंद

इंदौर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मालवा मिल क्षेत्र में लगी दुकान। - Money Bhaskar
मालवा मिल क्षेत्र में लगी दुकान।

दशहरा पर शुक्रवार को रावण दहन किया जाएगा। इंदौर में कई स्थानों पर बड़े स्वरूप में रावण का दहन होगा, जबकि गली-मोहल्ले, काॅलाेनियों और सोसायटियों में भी रावण दहन किया जाएगा। मालवा मिल और पंचम की फेल में रावण की दुकानें सजी हैं। यहां 3 फीट से लेकर 51 फीट ऊंचे रावण तैयार किए गए हैं। इनकी कीमत 500 रुपए से लेकर 1 लाख रुपए तक की है। कुछ जगह इनकी प्री-बुकिंग तक हो चुकी है। इसके साथ ही ऑर्डर भी रावण तैयार किए गए हैं। वहीं, कई ग्राहक को सीधे ही इन दुकानों पर रावण खरीदने पहुंच रहे हैं।

इंदौर के मालवा मिल क्षेत्र में पिछले 25 साल से रूपेश जैन रावण बेचने का काम रहे हैं। वे गणेश चतुर्थी के 4 दिन बाद से ही इन्हें तैयार करना शुरू कर देते हैं। उनके यहां 4 फीट से लेकर 51 फीट ऊंचे रावणों का निर्माण किया गया है। खास बात है कि रावण तैयार करने के लिए इनके पास पहले ही ग्राहकों के ऑर्डर भी आ जाते हैं। हालांकि कोविड के चलते इस बार 8 कारीगरों से ही काम करवाया गया है। वहीं, इसके पहले करीब 20 कारीगर उनके यहां काम करते थे।

ये है रावणों की रेट लिस्ट

रूपेश जैन ने बताया कि इनकी दुकान पर 4 फीट से लेकर 51 फीट ऊंचे रा‌वण तैयार किए गए हैं। इनकी कीमत 1 हजार रुपए से लेकर 1 लाख रुपए तक की है। इन रावणों को बनाने में कपड़ा, घास, बांस, तार, लेस, पटाखों, चेहरा सहित अन्य वस्तुओं का इस्तेमाल किया जाता है। इसके अलावा, एक स्थान पर उन्होंने रावण के साथ ही विभीषण, कुंभकर्ण, शूर्पणखा भी तैयार करके भेजी है। उन्होंने बताया कोविड के चलते छोटे साइज के रावण की डिमांड ज्यादा बढ़ी है।

ऊंचाई दाम

4 फीट 1 हजार रुपए

5 फीट 2 हजार रुपए

6 फीट 3 हजार रुपए

7 फीट 4 हजार रुपए

8 फीट 8 हजार रुपए

12 फीट 10 हजार रुपए

21 फीट 20 हजार रुपए

31 फीट 40 हजार रुपए

40 फीट 60 हजार रुपए

51 फीट 1 लाख रुपए

मार्च 2020 के बाद अब तक रहे आयोजन

कालिंदी पार्क, श्रीनगर एक्सटेंशन के सचिव भूपेंद्र सिंह परमार व अध्यक्ष बालकांत राठी ने बताया कि वे हर साल सोसायटी में सभी त्यौहार उत्साह के साथ मिलकर मनाते हैं, लेकिन कोविड के चलते मार्च 2020 के बाद अब पहला आयोजन सोसायटी में रावण दहन का किया जा रहा है। वे कई वर्षों से रावण खरीदकर दशहरे पर रावण दहन का आयोजन सोसायटी में करते आ रहे हैं।

पंचम की फेल में लगी दुकान
पंचम की फेल में लगी दुकान

छोटे व्यापारियों की ग्राहकी कम

इधर, रावण का व्यापार करने वाले छोटे व्यापारियों पर रोजगार का संकट नजर आ रहा है। पंचम की फेल में रावण की दुकान लगाने वाले लोकेश बैतले ने बताया कि बीते 7 वर्षों से रावण का व्यापार करते आ रहे है। लेकिन इस बार कोविड के चलते ग्राहकी पर असर हुआ है। दशहरा के एक दिन पहले तक उनके पास कोई बुकिंग नहीं आई है। जबकि पहले के वक्त में दशहरा के पहले ही प्री-बुकिंग हो जाती थी। उन्होंने बताया उनके यहां 3 फीट से लेकर 51 फीट तक का रावण है। इसकी कीमत 500 रुपए से लेकर 45 हजार रुपए तक की है। अब तक करीब 6 से 7 ही छोटे रावण की बिक्री हुई है। जैसे-तैसे वे इसका व्यापार कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...