पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX61765.590.75 %
  • NIFTY18477.050.76 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47184-1.49 %
  • SILVER(MCX 1 KG)62935-0.03 %
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Property Will Be Attached If He Does Not Appear In Court By September 28, Trust Of 5 Thousand, Anticipatory Bail Has Been Rejected On The Accused, Women Police Station TI Banned The Transfer.

MLA पुत्र ने कुर्की के डर से दान की संपत्ति:28 सितंबर तक कोर्ट में पेश न होने पर प्रॉपर्टी होगी कुर्क, आरोपी की अग्रिम जमानत हो चुकी है खारिज; पुलिस ने नामांतरण पर लगवाई रोक

इंदौरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

6 माह से दुष्कर्म और ब्लैकमेलिंग के मामले में फरार बडनगर विधायक का पुत्र करण मोरवाल की मुसीबतें और बढ़ सकती हैं। 28 सितंबर तक कोर्ट में पेश न होने पर आरोपी की संपत्ति कुर्क करने के कोर्ट ने आदेश दिए थे। इसके बाद आरोपी द्वारा अपने भाई के नाम पावर ऑफ अटॉर्नी कर प्रॉपर्टी का दान दिया जा रहा था। दान जमीन किसी जरूरतमंद को नहीं बल्कि मां मीना मोरवाल को मिलने वाली थी। इसकी जानकारी लगते ही इंदौर पुलिस द्वारा बड़नगर उप पंजीयक को पत्र लिखकर जमीन के नामांतरण पर रोक लगाने की बात कही गई है।

महिला थाना प्रभारी ज्योति शर्मा के अनुसार इंदौर पुलिस द्वारा बड़नगर के कई इलाकों में करण मोरवाल की खोजबीन की जा रही है। वहीं बडनगर में 15 दिन पूर्व ही इलाके के सभी जगह पुलिस द्वारा आरोपी के पोस्टर भी चस्पा किए गए हैं। मामले में आरोपी अब तक पुलिस गिरफ्त से दूर है। पुलिस ने बताया कि जमानत अर्जी खारिज होने पर करण ने संपत्ति बचाने का रास्ता निकाला। दान पत्र लिखने के कारण रजिस्ट्री शुल्क भी बच गया। कुर्की के डर से करण ने उसके हिस्से के मकान और जमीन मां मीना को दान देना बता दिया। रजिस्ट्री के खुद उपस्थित नहीं हो सकता था तो भाई शिवम को पॉवर आफ अटॉर्नी कर दी। टीआई ज्योति शर्मा ने उज्जैन कलेक्टर, तहसीलदार और उप पंजीयक को पत्र लिख नामांतरण आदि पर रोक लगा दी है।

28 सितम्बर तक कोर्ट में पेश न होने पर संपत्ति कुर्क करने के आदेश।
28 सितम्बर तक कोर्ट में पेश न होने पर संपत्ति कुर्क करने के आदेश।

MLA पुत्र को पकड़ने के लिए छापे मारी:4 महीने से दुष्कर्म के मामले में है फरार; पुलिस कर चुकी है 5 हजार का इनाम घोषित

दिसंबर 2020 में करण के संपर्क में आई थी युवती

थाना प्रभारी ज्योति शर्मा के मुताबिक, पीड़िता पिछले साल दिसंबर में करण के संपर्क में आई थी। दोनों की दोस्ती हुई। धीरे-धीरे वॉट्सऐप और मोबाइल पर बातें होने लगीं। पीड़िता के अनुसार, करण कई बार उससे मिलने इंदौर भी आया। इस दौरान इंदौर बाइपास स्थित होटल में उसे प्रपोज किया और शादी करने का झांसा देकर उसे नशीला पदार्थ पिलाकर दुष्कर्म किया था।

बड़नगर इलाके में पुलिस ने चस्पा किए थे फरार आरोपी के पोस्टर।
बड़नगर इलाके में पुलिस ने चस्पा किए थे फरार आरोपी के पोस्टर।

दुष्कर्म के आरोप में फरार MLA पुत्र के लगे पोस्टर:पुलिस कर चुकी है 5 हजार का इनाम है घोषित, अग्रिम जमानत हो चुकी है खारिज, कोर्ट के समक्ष पेश नहीं हुआ, तो उसकी संपत्ति होगी कुर्क

अग्रिम जमानत याचिका खारिज

12 जुलाई को जिला कोर्ट ने करण मोरवाल की अग्रिम जमानत खारिज कर दी थी। आरोपी ने अग्रिम जमानत के लिए कुछ साक्ष्य पेश किए थे, जिसमें घटना के समय उसने खुद को किसी अस्पताल में भर्ती होना बताया था। इसके आधार पर वह जमानत चाह रहा था, लेकिन पीड़िता ने कॉल रिकॉर्डिंग, वॉट्सऐप चैटिंग जैसे कुछ साक्ष्य पेश किए, जिसके बाद जिला कोर्ट ने आरोपी की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी थी।

खबरें और भी हैं...