पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

इंदौर में डेंगू के मरीजों की संख्या बढ़ी:अब कैट कॉलोनी, नंदबाग, आजाद नगर, अवंतिका नगर, हिम्मत नगर में डेंगू के 13 नए मरीज मिले, अब तक 164 में 18 बच्चे

इंदौर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहर में डेंगू के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। सोमवार को 12 नए मरीज मिले थे। मंगलवार को फिर 13 नए मरीज मिले। ये मरीज कैट कॉलोनी, नंदबाग, आजाद नगर, अवंतिका नगर, हिम्मत नगर, पवनपुरी, बर्फानी धाम, आदर्श बिजासन नगर, श्रवण बाग कॉलोनी, भागीरथपुरा, मौर्य नगर, विद्या नगर, श्रीबाल गर्ल्स होस्टल आदि क्षेत्रों में मिले हैं। इनमें एक बच्चा भी है। अब तक 164 मरीज हो चुके हैं। इनमें 18 बच्चे हैं। सभी क्षेत्रों में लार्वा सैंपल लेने व छिड़काव के लिए टीमें भेजी जा रही है। वैसे प्राइवेट अस्पतालों में भी डेंगू के मरीज काफी पहुंच रहे हैं। इससे कुल संख्या 164 से ज्यादा हो सकती है।

कोरोना संक्रमण के साथ भले ही डेंगू पर काबू करने के लिए प्रयास जारी हो लेकिन मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। शनिवार को इंदौर के राजेंद्र, क्लर्क कॉलोनी, सांई सिटी, स्कीम 78, न्यू गौरी नगर, स्कीम 134, सांई सिटी, ओल्ड पलासिया क्षेत्र में डेंगू के मरीज मिले थे। इनमें से न्यू गौरी नगर व ओल्ड पलासिया में पहले भी मिल चुके हैं। ऐसे ही चार मकानों में लार्वा पॉजिटिव पाया गया है। इसके बाद रविवार को शुभम पैलेस, खातीवाला टैंक, स्कीम 51, महालक्ष्मी नगर, साउथ तुकोगंज, सहज हॉस्पिटल, शिव सिटी, गृह नगर होस्टल, आरएपीटीसी, ब्रह्मपुरी, पीपल्याराव, आनंदपुरी, गणेश नगर, आनंदपुरी, खंडवा नाका, एलआईजी व तलावली चांदा में मिले नए मरीज मिले थे। जिस प्रकार तेजी से मरीज बढ़ रहे हैं यह डेंगू के डेन-2 स्टेज है। जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. दौलत पटेल के मुताबिक हालांकि डेन-2 के वहीं लक्षण हैं जो डेन-1 के हैं लेकिन जब मरीजों संख्या बढ़ने लगती है तो यह डेन-2 स्टेज कहलाती है।

इसके पूर्व शुक्रवार को स्कीम 114, गोयल विहार, सुदामा नगर, इनकम टैक्स कॉलोनी, श्रीजी वैली, वंदना नगर, वल्लभ नगर, ग्राम काडवाली आदि क्षेत्रों में 9 नए मरीज मिले थे। खास बात यह मलेरिया विभाग की टीमों ने शनिवाार को 432 मकानों का सर्वे किया तो 4 मकान परिसरों में लार्वा पॉजिटिव पाया गया। शुक्रवार को मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान द्वारा इंदौर सहित अन्य शहरों में डेंगू को लेकर दिए गए दिशा निर्देश के बाद अब स्वास्थ्य, मलेरिया विभाग व नगर निगम ने और कसावट की है। अभी 34 टीमें मैदान में हैं। इसके साथ ही सरकारी अस्पतालों की ओपीडी और इलाज संबंधी व्यवस्था मजबूत की जा रही है।

वैसे सरकारी रिकॉर्ड में डेंगू मरीजों की कुल संख्या 151 हो गई है जबकि प्राइवेट अस्पतालों में भी मरीज पहुंच रहे हैं। जिन नए क्षेत्रों में मरीज मिले हैं वहां इनकी संख्या बढ़ भी सकती है। मामले में इन सभी स्थानों पर टीमें लार्वा सैंपल लेने के साथ छिड़काव में जुटी हैं। लोगों से अपील की गई है कि अपने-अपने मकान, परिसर व आसपास गंदगी व पानी जमा न होने दें। हाल ही में एमजीएम गर्ल्स, बॉयज व बीएससी नर्सिंग होस्टल के छात्र-छात्राओं सहित अन्य क्षेत्रों में 8 नए मरीज मिले थे। फिर मनोरमागंज, बिचौली मर्दाना, लक्ष्मीबाई नगर, खातीवाला टैंक, रेवती नगर (अरबिंदो अस्पताल के पास), भानगढ़ व हातोद में मिले थे।

जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. दौलत पटेल ने बताया कि जिन भी क्षेत्रों में मरीज पाए गए वहां घरों के गमले, बगीचों, अटाला आदि में पानी जमा पाया गया। इनके सहित अब अन्य स्थानों पर भी तेजी से छिड़काव किया जा रहा है।
इन क्षेत्रों में मिल चुके हैं डेंगू के मरीज

इसके पूर्व गोविंद कॉलोनी, गीता भवन, भाग्यश्री कॉलोनी, प्राइम सिटी, औरंगपुरा (धन्नड), शांति पथ रोड, आलोक नगर, मूसाखेड़ी, स्कीम 94, विनायक टॉउनशिप, सिमरोल, देपालपुर, भंवरकुआ, अहीरखेड़ी, बर्फानीधाम, न्यू द्वारकापुरी, उदापुरा, नृसिंह बाजार, मेघदूत नगर, गीता भवन, नंदा नगर, सरदार सरोवर नगर, वल्लभ नगर, खजराना, नेहरू नगर, ब्रह्मपुरी कॉलोनी, नरवल कांकड़ (सांवेर), प्रोफेसर कॉलोनी, बाणगंगा, महू, तुलसी नगर, विजय नगर, स्कीम 11, मीना नगर, जगजीवनराम नगर, श्रीनगर एक्सटेंशन, आनंद नगर एक्सटेंशन, पीपल्याहाना, विजय नगर, जगजीवन राम नगर व गुरु नगर आदि क्षेत्रों में डेंगू के मरीज मिले थे। कुछ समय पहले एक गर्भवती महिला की भी डेंगू से मौत हुई थी जबकि डॉक्टरों का कहना था कि उसे अन्य बीमारियां भी थी।

खबरें और भी हैं...