पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विशाल नगर कीर्तन आज:इंदौर में सिक्खी शानों-शौकत के साथ 7 घंटे तक निकलेगा नगर कीर्तन, खाने के स्टॉल पर रहेगी पाबंदी

इंदौर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गुरुद्वारा इमली साहिब पर सजाव� - Money Bhaskar
गुरुद्वारा इमली साहिब पर सजाव�

इंदौर में श्री गुरु नानक देव जी महाराज के 553 वें प्रकाश पर्व पर श्री गुरु सिंघ सभा, इंदौर के तत्वाधान में रविवार को विशाल नगर कीर्तन शहर में निकाला जाएगा। यह नगर कीर्तन सुबह 11 बजे से शुरू होगा और शहर के विभिन्न इलाकों में घूमते हुए शाम 6 बजे समाप्त होगा। ऐसे यह नगर कीर्तन सात घंटे शहर की सड़कों पर अलग-अलग क्षेत्र से गुजरेगा। हालांकि नगर कीर्तन के चलते शहर के अलग-अलग क्षेत्रों पर लगने वाले खाने के स्टॉल पर पाबंदी रहेगी, लेकिन नगर कीर्तन में शामिल होने वालों के लिए पानी की व्यवस्था रहेगी। श्री गुरु सिंघ सभा इंदौर के अध्यक्ष मनजीत सिंह भाटिया एवं महासचिव जसबीर सिंह गांधी के मुताबिक श्री गुरु नानक देव जी महाराज का 553 वा प्रकाश गुरपर्व श्री गुरु सिंघ सभा के तत्वावधान में परंपरागत तरीके से 7 नवंबर से 19 नवंबर तक नगर की सभी गुरु नानक नामलेवा संगतों द्वारा पूरे उत्साह और प्रेम के वातावरण में भक्तिभाव से मनाया जा रहा है। रविवार सुबह 11 बजे ऐतिहासिक गुरुद्वारा इमली साहिब से एक विशाल नगर कीर्तन शहर में परंपरागत, सिक्खी शानों-शौकत से राऊ, बेटमा साहिब और इंदौर के सभी गुरुद्वारा साहिब के शब्दी जत्थों के साथ शुरू होगा। इस नगर कीर्तन में नगर के सिक्ख समाज की सभी धार्मिक, शैक्षणिक एवं सामाजिक संस्थाएं शामिल होंगे।

यह रहेगा नगर कीर्तन का रूट
नगर कीर्तन ऐतिहासिक गुरुद्वारा इमली साहिब से शुरू होकर राजबाड़ा, कोठारी मार्केट, शास्त्री ब्रिज, रीगल चौराहा, आर.एन.टी. मार्ग से पटेल ब्रिज, जवाहर मार्ग होकर वापस गुरुद्वारा इमली साहिब पर शाम करीब 6 बजे पहुंचेगा। जहां इस नगर कीर्तन का समापन होगा। सभा ने सभी सिक्ख संगतों से निवेदन किया है कि, नगर कीर्तन मार्ग पर ट्रैफिक सुविधा पूर्वक चलता रहे और आम लोगों को परेशानी न हो इसके लिए आधी सड़क छोड़कर संगतें कीर्तन में शामिल हो। हालांकि नगर कीर्तन में शामिल होने वाले सभी जत्थों को अनुशासित चलाने और ट्रैफिक को सुगम बनाने के लिए सभी की ओर से वॉलेंटियर्स की विशेष व्यवस्था रहेगी। नगर कीर्तन में शामिल सभी भाई सफेद कपड़े और केसरी पगड़ी और बहनें सफेद कपड़े और केसरी दुपट्टा धारण कर शामिल होंगी।

साफ-सफाई की भी व्यवस्था
इस विशाल नगर कीर्तन में साफ-सफाई की भी व्यवस्था का विशेष ध्यान रखा जाएगा। सिक्ख समाज की संगत नगर कीर्तन के आखरी छोर पर साफ-सफाई की सेवा संभालेंगे। लगातार ये संगत रोड़ की सफाई करती हुए चलेंगी, ताकि गंदगी ना फैले। हालांकि इस बार कीर्तन के लिए लगने वाले खाने के स्टॉल पर पाबंदी लगाई गई है। कीर्तन में शामिल होने वाली संगतों के लिए पानी की व्यवस्था रहेगी। सभा ने निवेदन किया है कि आम जनता की तकलीफों को देखते हुए कम से कम चार पहिया वाहन लेकर आए।

17 से 19 तक विशेष गुरमत दीवान
श्री गुरु नानक देव जी महाराज के पावन प्रकाश गुरपर्व के 3 दिवसीय विशेष गुरमत दीवान 17 से 19 नवंबर तक सुबह-शाम के ऐतिहासिक गुरुद्वारा इमली साहिब, गुरु नानक चौक और राज मोहल्ला स्थित गुरु तेग बहादुर स्टेडियम, खालसा कॉलेज में सजाए जाएंगे। इन सभी कार्यक्रमों में प्लास्टिक का उपयोग नहीं किया जाएगा। यह कार्यक्रम प्लास्टिक मुक्त रहेगा साथ ही कोविड-19 के प्रोटोकॉल का नियमानुसार पालन किया जाएगा। वहीं सैनिटाइजर, मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का भी ध्यान रखा जाएगा। सभा ने श्री गुरु नानक नामलेवा संगतों से अपील की है कि कार्यक्रमों में मास्क लगाने का अनिवार्य रूप से पालन किया जाए।