पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

इंदौर में धोखाधड़ी:फर्जी बिल लगाकर 3 माह में फैक्ट्री मैनेजर ने मालिक को लगाई 20 लाख की चपत, केस दर्ज

इंदौरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Money Bhaskar
फाइल फोटो

शहर में एक फैक्ट्री मैनेजर द्वारा 3 महीने में अपने ही मालिक को 20 लाख की चपत लगा दी। जानकारी लगने के बाद फैक्ट्री मैनेजर के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज कराया गया है। खुडैल थाना प्रभारी महेंद्र सिंह भदौरिया के अनुसार फरियादी कृष्णा देवी पति स्वर्गीय प्रदीप गोयल निवासी कटकटपुरा ने शिकायत की है। इसके बाद सपन पिता मोहनलाल अग्रवाल निवासी सुखदेव विहार 60 फीट रोड के खिलाफ धोखाधड़ी, अमानत में खयानत और जाली बिल बनाने का केस दर्ज किया गया है।

कृष्णा के पति केरी ऑन फूड्स प्राइवेट लिमिटेड नाम से नेमावर रोड पर नमकीन की फैक्ट्री का संचालन करते थे। उनके निधन के बाद पत्नी ने काम संभाला। आरोपी सपन उनका रिश्तेदार है। उस पर भरोसा कर उसे फैक्ट्री में मैनेजर बनाया गया था। आरोपी जो माल तैयार होता था, उसे व्यापारियों को भेजते समय आधे ही माल का बिल तैयार करता था। बाकी आधे माल का गबन कर दिया करता था। वह व्यापारियों से पैसा भी नगदी में ही लेता था।

कई बार उसने फर्जी बिल बनाकर भी फैक्ट्री में लगा दिए। कृष्णा देवी को शक हुआ, तो उन्होंने अपने स्तर पर जांच की। सामने आया कि 3 महीने में ही आरोपी ने 20 लाख की चपत लगाई है।

ऐसे हुआ धोखाधड़ी का खुलासा

कृष्णा के बेटे नवनीत ने बताया कि उनके पिता प्रदीप गोयल का निधन 2019 में हुआ था। इसके बाद बिजनेस उसने संभाला। कुछ समय से व्यापार में नुकसान को देखते हुए शक हुआ। पूंजी अधिक लग रही है, मुनाफा कम होता जा रहा है। इसके बाद अपने स्तर पर छानबीन की।

फैक्ट्री बंद होने के बाद करता हेराफेरी

नवनीत ने बताया कि जब फैक्ट्री बंद हो जाती थी, तो आरोपी सपन देर रात कम्प्यूटर के सर्वर से कई बड़े मिलों को आधा कर देता था। जिस कारण से किसी को जानकारी नहीं लगती थी। सपन इतना शातिर था, जो व्यापारी फैक्ट्री से माल उठाते थे। जो नकद रुपए देते थे, उनके बिलों में ही वह हेराफेरी करता था। आरोपी नवनीत का साला है।

खबरें और भी हैं...