पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दादा के देहांत के बाद नाती ने कराया संकल्प पूरा:85 वर्षीय बुजुर्ग की देह दान, मेडिकल स्टूडेंट्स करेंगे अध्ययन, दो की जिंदगी में उजियारा

इंदौर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
स्व. मदनलाल डाकले - Money Bhaskar
स्व. मदनलाल डाकले

शहर में अब परिवार में किसी सदस्य की मौत के बाद उनके परिजन अंग दान, नेत्र दान के साथ अब देह दान के लिए भी आगे आ रहे हैं। हाल ही में एक बुजुर्ग किसान की मौत के बाद उनके नाती ने उनके द्वारा लिए गए संकल्प को पूरा कराते हुए उनकी देन दान कराई है। बुजुर्ग किसान का संकल्प था कि मरणोपरांत उनकी आंखें व त्वचा किसी के काम आए और देह मेडिकल स्टूडेंट्स के लिए उपयोग हो। उनकी आंखें व त्वचा भी दान की गई है।

मामला 85 वर्षीय बुजुर्ग किसान मदनलाल डाकले निवासी बिचौली मर्दाना का है। वे कई दिनों से बीमार थे तथा शक्रवार रात उनकी तबियत और ज्यादा बिगड़ी। परिवार के लोग उन्हें मेडिकेयर अस्पताल ले गए जहां कुछ ही देर में उनकी मौत हो गई। इस पर उनके नाती गुंजन जैन ने फिर इंडेक्स अस्पताल प्रबंधन और मुस्कान ग्रुप के संदीपन आर्य व जीतू बगानी से संपर्क किया। उन्हें बताया कि दादाजी ने कुछ साल पूर्व देह, नेत्र व त्वचा दान का संकल्प लिया था जिसे पूरा किया जाना है। इस पर शनिवार को देह दान की तैयारी की गई। मामले में इंडेक्स मेडिकल हॉस्पिटल के तुलसीराम जाटव ने समन्वय किया और एडमिनिस्ट्रेट डायरेक्टर चित्रा खिरवड़कर ने उनकी देह दान कराई। उनके नेत्र एमके इंटरनेशनल बैंक व त्वचा स्किन बैंक रैफर की गई। इंडेक्स ग्रुप के चेयरमन सुरेश सिंह भदौरिया व डीन डॉ. जीएस पटेल ने इस पुनीत काम के लिए डाकले परिवार के प्रति आभार व्यक्त किया। उन्होंने बताया कि देहदान से निश्चित रूप से चिकित्सा जगत में विद्यार्थियों को मानव शरीर को जानने, समझने का ज्ञान प्राप्त होता है।

खबरें और भी हैं...