पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57684.791.09 %
  • NIFTY17166.91.08 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47590-0.92 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61821-0.24 %

इंदौर में विधायक से विवाद, समझौता, अब FIR:सफाई कर्मचारियों की चेतावनी के बाद कांग्रेस के राऊ विधायक जीतू पटवारी पर FIR, दवा छिड़काव के दौरान हुई थी बहस

इंदौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
थाने पर प्रदर्शन। - Money Bhaskar
थाने पर प्रदर्शन।

मलेरिया और डेंगू उन्मूलन कार्यक्रम में निगम के स्वास्थ्य अधिकारी और कांग्रेस से राऊ विधायक के बीच विवाद तूल पकड़ता जा रहा है। सफाईकर्मियों के दबाव के बाद विधायक जीतू पटवारी पर शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने का मामला दर्ज किया है। उल्लेखनीय है कि बुधवार को मलेरिया और डेंगू उन्मूलन कार्यक्रम के दौरान कीटनाशक छिड़काव के दौरान विधायक ने निगम में स्वास्थ्य अधिकारी उत्तम यादव को अपशब्द बोलते हुए धक्का-मुक्की कर दी थी। इस मामले में समझौता भी हो गया था लेकिन सफाईर्मियों के हड़ताल पर चले जाने की चेतावनी के बाद राजेंद्र नगर में FIR दर्ज की गई।

बुधवार को पालदा में हुए विधायक और नगर निगम के स्वास्थ्य अधिकारी के विवाद के तीसरे दिन नगर निगम के कर्मचारियों ने प्रकरण दर्ज नहीं होने की बात पर शुक्रवार को हड़ताल पर जाने की धमकी दी थी। सुबह होते ही सफाई कर्मचारी इकट्‌ठा होकर यहां पहुंच गए और नारेबाजी करते हुए केस दर्ज करने की बात करने लगे। पुलिस के अधिकारी शुरुआत में उन्हें समझाने का प्रयास करते रहे। लेकिन बाद में विधायक पर शासकीय कार्य में बाधा और धमकाने के मामले में केस दर्ज कर लिया गया।
राजेन्द्र नगर थाने पर शुक्रवार सुबह सफाईकर्मियों के नेता प्रताप करोसिया के साथ कामगार महिला और पुरुष इकट्‌ठा होकर पहुंचे थे। यहां उन्होंने जमकर नारेबाजी की। उन्होने विधायक जीतू पटवारी पर केस दर्ज करने की मांग की। जोन क्रंमाक 14 पर काम करने वाले कामगारों ने शुक्रवार को काम नहीं किया। सभी इकट्‌ठा होकर थाने पर पहुंच गए। बाद में अधिकारी यहां पहुंचे। मामले में स्वास्थ्य अधिकारी उत्तम पुत्र यशवंत यादव निवासी 401 बी/4 संवाद नगर इंदौर की शिकायत पर केस दर्ज किया गया। FIR में बताया गया है कि 15 सिंतबर को जोन 14 के वार्ड 79 में दुर्गा नगर में मलेरिया डेंगू उन्मूलन कारवाई के दौरान टीम के साथ दवाई छिड़काव व अन्य गतिविधियों का निरीक्षण कर रहा था। इसी बीच विधायक जीतू पटवारी आए और समस्त अमले को अपशब्द कहे व मेरे साथ धक्का-मुक्की की गई। निगम के अमले को काम करने से भी रोका गया। इस प्रकार शासकीय कार्य में बाधा डाली गई। जिससे कार्य में व्यवधान उत्पन्न होने के साथ ही आपत्तिजनक भाषा का उपयोग किया गया। घटनाक्रम के दौरान मेरे सहायक कर्मचारी राम लोवंशी, लखन मेलाने और सुमित दुबे मौजूद थे।
हड़ताल की धमकी से डरा प्रशासन
जीतू पटवारी के खिलाफ इस मामले में केस दर्ज नहीं होने के पहले सफाई कामगारों ने पूरे शहर भर में हड़ताल की बात कही थी। जिसमें प्रशासन के आला अधिकारी पहले उन्हें समझाने की बात कर रहे थे। लेकिन सफाईकर्मी इस बात पर राजी नहीं हुए। बाद में वरिष्ठ अधिकारियों से चर्चा कर कारवाई की गई।
पहले माफी मांगने पर पलट गए थे अधिकारी
तीन दिन पहले हुए विवाद में स्वास्थ्य अधिकारी विधायक जीतू पटवारी पर केस दर्ज कराने राजेन्द्र नगर थाने पहुंचे थे। यहां कांग्रेस के नेता दीपू यादव से बात कर उन्होंने लिखित में कोई शिकायत नहीं करने की बात कही थी। लेकिन अगले दिन सफाईकर्मियों ने थाने पर प्रदर्शन कर दिया। जिसके बाद तीसरे दिन जोन पर हड़ताल कर सफाईकर्मी प्रदर्शन करने थाने पहुंचे थे। बाद में उन्होंने अपनी बात नहीं मानने पर पूरे शहर में हड़ताल की धमकी दी थी।

खबरें और भी हैं...