पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX52574.460.44 %
  • NIFTY15746.50.4 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47005-0.25 %
  • SILVER(MCX 1 KG)67877-1.16 %

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वैक्सीन क्यों जरूरी है, जानें एक्सपर्ट की राय:मैं पॉजिटिव हो चुका हूं तो क्या वैक्सीन लगवा सकता हूं?, विशेषज्ञ- हां, संक्रमण से उबरने के 4-8 हफ्ते बाद डोज ले सकते हैं

इंदौर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • एक्सपर्ट ने 14 सवालों के जवाब देकर समझाया कोरोना और वैक्सीन को

मैं पॉजिटिव हो चुका हूं, क्या वैक्सीन लगवा सकता हूं और कब तक? इस सवाल पर एक्सपर्ट का कहना है- यह तय नहीं है कि एक बार संक्रमित होने के बाद दोबारा कोरोना नहीं होगा। कोरोना संक्रमित होने के 4-8 हफ्ते बाद वैक्सीन लगवाई जा सकती है। इसलिए वैक्सीन जरूरी है। ऐसे ही कई सवाल वैक्सीन और कोरोना को लेकर लोग कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर भी भ्रम फैलाया जा रहा है। पिछले दिनों इंदौर में धर्म गुरुओं ने बैठक में इस भ्रम को दूर करने के लिए सुझाव दिया था। इसके बाद संभागायुक्त डॉ. पवन शर्मा ने मेडिकल विशेषज्ञों की एक टीम का गठन किया था। इसी टीम के डॉ. हेमंत जैन ने महात्मा गांधी मेडिकल कॉलेज के विशेषज्ञ डॉक्टरों के साथ मिलकर 14 सवालों के जवाब तैयार किए हैं।

वैक्सीन को लेकर सवाल और उसके जवाब

प्रश्न : क्या जो लोग कोरोना से संक्रमित हैं या जिन्हें संक्रमण हो चुका है, वे टीका लगा सकते है?

  • हां, कोरोना संक्रमण के बाद यह सुनिश्चित नहीं है कि कोरोना दोबारा नहीं होगा। इसलिए यदि आप संक्रमित हो चुके हैं तो भी टीका जरूर लगवाएं। ऐसे लोग संक्रमण से उबरने के 4-8 हफ्ते टीका लगवा सकते हैं

प्रश्न : वैक्सीन लेने के कितने दिन बाद एंटीबॉडी बन जाएगी?

  • दोनों डोज लेने के बाद 2 से 3 सप्ताह में शरीर में कोरोना से लड़ने की क्षमता विकसित हो जाती है।

प्रश्न : टीकाकरण के बाद शरीर में कब तक कोरोना के खिलाफ प्रतिरक्षा (एंटीबॉडी) बनी रहती है?

  • अभी इस पर दुनिया भर के वैज्ञानिक अध्ययन कर रहे हैं। चूंकि वायरस नया है और अपने आपको यह परिवर्तित भी कर रहा है, अब तक यह सामने आया है कि टीकाकरण (दोनों खुराक) होने के बाद शरीर में 6 माह से 1 साल तक प्रतिरोधक क्षमता बनी रहती है।

प्रश्न : क्या टीका लगाने के बाद कोई गंभीर समस्या या दुष्प्रभाव पैदा होता है?

  • नहीं, अभी तक दोनों टीकों का कोई गंभीर दुष्प्रभाव सामने नहीं आया है। टीका लगने के बाद केवल दर्द, बुखार और बदन दर्द जैसी मामूली समस्या ही सामने आई हैं। जो टीका लगने के एक से दो दिनों के भीतर कम हो जाती है। इसलिए दोनों टीकों को सुरक्षित माना जा सकता है। वैसे किसी भी दिक्कत के लिए स्वास्थ्य कार्यकर्ता से संपर्क कर सकते हैं या फोन कर सकते हैं। फोन नंबर टीकाकरण के समय दिया जाता है।

प्रश्न : देश में कोरोना के कौन-कौन से टीके उपलब्ध हैं। इन्हें कौन लगवा सकता है?

  • इस समय दो टीके- कोविशील्ड और कोवैक्सिन उपलब्ध हैं। अब तक सभी स्वास्थ्य कार्यकर्ता, फ्रंट लाइन वर्कर्स और 45+ के नागरिक टीका लेने के लिए पात्र हैं।

प्रश्न : क्या वैक्सीन लेना अनिवार्य है?

  • यह आप पर निर्भर करता है। हालांकि अपनी और अपने परिवार की सुरक्षा के लिए दोनों डोज लेना जरूरी है। इससे बीमारी का प्रसार भी रुकेगा।

प्रश्न- वैक्सीन की दोनों डोज लेने में कितने दिन का अंतर होना चाहिए?

  • कोविशील्ड वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज के बीच 6 से 8 सप्ताह का अंतर रहना चाहिए। कोवैक्सिन की पहली डोज लेने के बाद दूसरी डोज 28 दिन बाद लेना चाहिए।

प्रश्न : दोनों में बेहतर वैक्सीन कौन सी है?

  • दोनों वैक्सीन संक्रमण रोकने में कारगर हैं। संक्रमण को गंभीर स्थिति में जाने से रोकते हैं। बुजुर्ग लोगों या कोमोरबिडिटी (दूसरी बीमारियों से ग्रसित) वाले लोगों में मृत्यु को रोकने में सहायक हैं।

प्रश्न : क्या दोनों डोज एक ही कंपनी के वैक्सीन के होने चाहिए?

  • हां, ऐसा नहीं हो सकता कि पहली खुराक कोविशील्ड की और दूसरी खुराक कोवैक्सिन की ले। जिसने कोविशील्ड की पहली खुराक ली है, उसे दूसरी खुराक भी उसी की लेनी होगी और जिसने कोवैक्सिन की पहली खुराक ली है वे दूसरी खुराक भी उसी की ही लेंगे।

प्रश्न : क्या ये टीके बच्चों को भी दिए जा सकते हैं?

कोरोना लक्षण और इलाज से संबंधित सवालों के जवाब

प्रश्न : कोविड संक्रमण के लक्षण क्या हैं?

  • अगर आपको खांसी, जुकाम, बुखार, गले में खराश, बदन दर्द और सांस लेने में कठिनाई हो रही है तो आपको कोरोना संक्रमण हो सकता है। साथ ही साथ दस्त, उल्टी और स्वादहीनता भी इसके लक्षणों में शामिल है। यदि इनमें से कोई भी लक्षण मौजूद हैं तो आपको खुद को कोरोना की RT-PCR जांच करवाना चाहिए। इसके अलावा यदि आपके पास कोई परिवार का सदस्य है जो कोरोना संक्रमित है तो आपको संपर्क के 5वें दिन कोरोना जांच करवाना चाहिए।

प्रश्न : अगर मेरी कोरोना जांच पॉजिटिव है तो मुझे अपना सीटी स्कैन चेस्ट कब करवाना चाहिए?

  • सीटी स्कैन केवल डॉक्टर के सलाह पर ही किया जाना चाहिए, यह लक्षणों की शुरुआत के 5वें दिन से पहले कभी भी नहीं किया जाना चाहिए।

प्रश्न : अगर मैं कोरोना पॉजिटिव हूं तो क्या मेरा घर पर इलाज किया जा सकता है?

  • हां, अधिकतर कोरोना पॉजिटिव एसिमटोमेटिक (बिना लक्षण) वाले होते हैं या उनमें हल्के लक्षण होते हैं। ऐसे लोगों का घर पर ही इलाज किया जा सकता है। उन्हें घर के दूसरे सदस्यों से अलग रखना होगा।

प्रश्न : मुझे कब अस्पताल में भर्ती होना चाहिए?

  • यदि आप में गंभीर लक्षण हैं, जैसे- सांस फूलना, ऑक्सीजन लेवल में कमी, बुखार का बना रहना न दिखाई दे। या 6 मिनट चलने के बाद SPO2 94% या उससे नीचे गिरता है तो या आप 60 वर्ष से अधिक हैं। दूसरी कोई गंभीर बीमारी है तो इस स्थिति में तो आपको इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता है।
  • कोरोना से अब तो डरो ना:24 घंटे में 3722 केस, 18 मौतें; 7 दिन में 20 हजार से ज्यादा संक्रमित, जनवरी से अब तक 11 गुना बढ़ी संक्रमण दर
खबरें और भी हैं...