पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जनजातीय महासम्मेलन में इंदौर की तैयारियां:खरगोन से आए 2 हजार आदिवासी आज रात इंदौर में करेंगे विश्राम, स्वागत सत्कार होगा

इंदौर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भोपाल में 15 नवम्बर को जनजातीय महासम्मेलन को लेकर इंदौर में भी तैयारियां कर ली गई हैं। इंदौर संभाग के सभी आठ जिलों के करीब 50 हजार आदिवासी महासम्मेलन में भाग लेंगे। खरगोन के करीब 2 हजार आदिवासी रविवार रात इंदौर में आकर रात्रि विश्राम करेंगे। जिला प्रशासन द्वारा इनका अतिथि के रूप में स्वागत किया जाएगा। इसके साथ ही इनके भोजन की उचित व्यवस्था की है। सामाजिक संगठनों द्वारा इनके भोपाल जाने के भोजन के पैकेट उपलब्ध कराए जाएंगे।

महासम्मेलन में खरगोन, बड़वानी, धार के दस-दस हजार, खंडवा, झाबुआ, अलीराजपुर के पांच-पांच हजार और इंदौर व बुरहानपुर से दो-दो हजार आदिवासी लोगों को भोपाल ले जाया जाएगा। कलेक्टर मनीषसिंह ने बताया कि इंदौर से आदिवासी समुदाय के करीब 2 हजार लोगों को भोपाल ले जाया जाएगा। इनके ठहरने के लिए नेहरू स्टेडियम, अटल बिहारी वाजपेयी आर्ट एंड कॉमर्स कालेज, असरावद खुर्द स्थित पिछड़ा वर्ग छात्रावास, देवी अहिल्या विश्वविद्यालय परिसर स्थित आकांक्षा होस्टल, माता गुजरी कॉलेज, भंडारी रिसोर्ट आदि में पर्याप्त इंतजाम किए गए हैं। इंदौर से करीब 70 बसें सोमवार को दो हजार लोगों को लेकर भोपाल जाएंगी। इसके लिए प्रत्येक बस पर प्रभारी अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। युवाओं के ठहरने के स्थल पर विभिन्न व्यवस्थाओं के लिए जिले के वरिष्ठ अधिकारियों को प्रभार दिया गया है। ठहरने के स्थान पर साफ-सफाई एवं पेयजल आदि की व्यवस्था की गई है। महासम्मेलन में भाग लेने के लिए भोपाल नहीं जा पा रहे हैं, उनके लिए स्थानीय स्तर पर कार्यक्रम के प्रसारण के लिए एलईडी की व्यवस्था भी की जा रही है।