पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57684.791.09 %
  • NIFTY17166.91.08 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47590-0.92 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61821-0.24 %
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • 11,311 Crore Rs. Many Ministers Will Be Involved Including Chief Minister, Union Minister Tomar, Scindia, Dr. Virendra Kumar To Inaugurate 35 Road Projects Worth Rs.

केंद्रीय मंत्री गडकरी ने MP को दी सौगातें:प्रदेश के प्रोजेक्ट्स के लिए 1 लाख करोड़ रुपए की घोषणा, बुधनी से जुड़े तीन नेशनल हाई वे को मंजूरी, इंदौर के पश्चिम रिंग रोड की जमीन के लिए केंद्र से मदद

इंदौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सड़क प्रोजेक्ट्स का लोकार्पण व शिलान्यास करते केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी। - Money Bhaskar
सड़क प्रोजेक्ट्स का लोकार्पण व शिलान्यास करते केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी।

केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार को इंदौर में 9577 करोड़ रुपए लागत की 1356 किलोमीटर लंबी 34 सड़क प्रोजेक्ट्स का लोकार्पण व शिलान्यास किया। इसके साथ ही एक बार फिर प्रदेश को कई सौगातें दी। इसके तहत प्रदेश की अन्य राज्यों से सड़क कनेक्टिविटी के लिए विभिन्न प्रोजेक्ट्स के मामलों में 1 लाख करोड. रु. की घोषणा की। ऐसे ही भारत माला प्रोजेक्ट के तहत भी 35 करोड़ रु. मिलेंगे। इसके अलावा एक लाख करोड़ रु. की योजनाएं भी प्लान में हैं। ऐसे ही बुधनी से जुडे तीन नेशनल हाई वे (फोर लेन) को भी मंजूरी दी। इंदौर पश्चिम रिंग रोड की जमीन के लिए 25 से 35 फीसदी केंद्र व 50 फीसदी राज्य शासन से मदद कर इसे तैयार किया जाएगा। इंदौर बायपास की सर्विस रोड भी करोडों खर्च कर बेहतर बनाई जाएगी।

केंद्रीय मंत्री गडकरी ने कहा कि मुझे सभी सांसदों की मांगों का समाधान करना है। मैं अगले महीने आऊंगा और 1 लाख करोड़ के प्रोजेक्ट फिर स्वीकृत करूंगा। अभी सड़कों का 107 किमी की स्पीड से अच्छा काम हुआ। सवाई-माधोपुर हाई वे एक्सप्रेस वर्ल्ड में अपने तरह का पहला है। इसके बनने 320 मिलियन ईधन व कार्बन ऑक्साइड कम होगा। अब रतलाम से दिल्ली 5 से 6 घंटे, दिल्ली से देहरादून 3 घंटे, दिल्ली से हरिद्वार 2 घंटे, दिल्ली से अमृतसर 4 घंटे व दिल्ली से कटरा मार्ग 6 घंटे का हो गया है। मुंबई-पुणे मार्ग का सफर पहले 6-8 घंटे का था जो हाई वे बनने के बाद करीब 2 घंटे का हो गया है।

लॉजिस्टिक कैपिटल बनाने में केंद्र सरकार करेगी सहयोग

उन्होंने कहा दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे के बारे में बताया कि 1350 किलोमीटर लंबाई का एक्सप्रेस-वे जनवरी 2023 तक बनाया जाएगा। मध्यप्रदेश भी इस एक्सप्रेस-वे का हिस्सा है। एक्सप्रेस-वे के तहत प्रदेश में लगभग 11 हजार करोड़ की लागत से 245 किलोमीटर 8 लेन मार्ग बनाया जा रहा है। इस एक्सप्रेस-वे के माध्यम से दिल्ली से मुंबई की दूरी 24 घंटे से घटकर 12 घंटे हो गई है। मुख्यमंत्री चौहान द्वारा चम्बल एक्सप्रेस-वे को अटल प्रगति पथ का जो नया नाम दिया गया है उसके लिए मैं उन्हें धन्यवाद देता हूं। उन्होंने बताया कि अटल प्रगति पथ दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेस-वे से मिलेगा।

इंदौर का बढ़ना प्रदेश के विकास का बढ़ना है

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि केंद्रीय मंत्री गडकरी से मध्य प्रदेश को विकास की एक बड़ी सौगात प्राप्त हो रही है। यह सौगात मध्य प्रदेश के विकास की दिशा भी बदलेगी। राज्य शासन द्वारा प्रदेश में अमर कंटक से अलीराजपुर तक लगभग 1000 किमी. के नए नर्मदा एक्स्प्रेस वे का प्रस्ताव तैयार किया गया है। इस एक्सप्रेस-वे को नर्मदा प्रगति पथ का नाम दिया जाएं। राज्य शासन इसके आसपास इंडस्ट्रियल क्लस्टर विकसित करेगा जिससे रोजगार के नए अवसर बनेंगे। उन्होंने कहा कि भारतमाला प्रोेजेक्ट्स के पूरे भारत में 35 मल्टी-मॉडल लॉजिस्टिक पार्क विकसित किए जाने की योजना है। इसमें इंदौर तथा भोपाल का चयन किया गया है। रतलाम में भी 1 हजार एकड़ जमीन राज्य शासन द्वारा उपलब्ध कराई जा रही है, वहां भी लॉजिस्टिक पार्क बनना चाहिए। केन्द्र सरकार के सहयोग से हम प्रदेश को देश का लॉजिस्टिक कैपिटल बनाएंगे। इंदौर में जो लॉजिस्टिक पार्क बनाया जा रहा है वो इंदौर के विकास को और अधिक आगे बढ़ाएगा और इंदौर का आगे बढ़ना यानी पूरे प्रदेश के विकास का बढ़ना है।

बुधनी से जुड़े तीन नेशनल हाई वे को मंजूरी

उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार के सहयोग से हम प्रदेश को देश का लॉजिस्टिक कैपिटल बनाएंगे। बुधनी विधानसभा क्षेत्र तीन राष्ट्रीय राजमार्ग के बीच है। यदि तीनों को जोड़ा जाए तो 92 किमी सड़क की जरूरत होगी। उन्होंने केंद्रीय मंत्री से अनुरोध किया कि इस मार्ग को भी राष्ट्रीय राजमार्ग में जोड़ने की स्वीकृति प्रदान करें, जिसे गडकरी ने मंजूरी दी। इंदौर में जो लॉजिस्टिक पार्क बनाया जा रहा है वो इंदौर के विकास को और अधिक आगे बढ़ाएगा और इंदौर का आगे बढ़ना पूरे प्रदेश के विकास का बढ़ना है।

बुधनी फोर लेन का मंगलवार को ऑर्डर साइन करेंगे

गडकरी ने मुख्यमंत्री की मांग पर बुधनी फोर लेन को मंजूरी देने के साथ कहा कि मैं मंगलवार को ऑर्डर साइन कर दूंगा। ऐसे ही इंदौर, भोपाल, रतलाम लॉजिस्टिक हब को लेकर कहा कि रुपयों की कोई कमी नहीं है। मैं पूरा सहयोग करूंगा। इसके अलावा सीआरएफ के तहत भी 1500 करोड़ रु. मंजूर करने की बात कही तथा बाकी 400 करोड़ रु. भी जल्द स्वीकृत किए जाएंगे।

ये खास महत्वपूर्ण घोषणाएं भी

- बुधनी विधानसभा क्षेत्र से गुजरने वाले तीन राष्ट्रीय राजमार्ग को जोड़ने वाली सड़क को राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित किया।

- इंदौर-जबलपुर-भोपाल-ग्वालियर में ब्रॉडगेज मेट्रो की नि:शुल्क कंसलटेंसी प्रदान की जाएगी।

- कार्यक्रम के दौरान केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार के बीच 800 करोड़ रूपये लागत से 150 एकड़ में बन रहे मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक पार्क का एमओयू साइन किया गया।

मैं इंजीनियर नहीं बल्कि मैनेजमेंट का स्टूडेंट रहा हूं

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश बदल रहा है। हमारे देश के इंफ्रास्ट्रक्चर को लेकर मैं जॉन कैनेडी को याद करता हूं। मेरे लिए दिल्ली-मुंबई हाई वे बनना आनंद का क्षण था। मैं इंजीनियर नहीं बल्कि मैनेजमेंट का स्टूडेंट रहा हूं। सड़कों के प्रोजेक्ट्स में एनएचआई के अधिकारियों की सराहनीय भूमिका रही है। उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराजसिंह से कहा कि हमारे देश में रुपयों की कमी नहीं है, इच्छाशक्ति होनी चाहिए। मुझे गलत निर्णय लेने वाले पसंद है लेकिन निर्णय नहीं लेने वाले पसंद नहीं है।

11 हजार करोड़ की लागत का चंबल हाई वे
उन्होंने कहा कि चंबल हाई वे ज्योदिरादित्य सिंधिया व नरेंद्र सिंह तोमर का सपना था। यह 11 हजार करोड रु. की लागत से तथा 403 किमी लंबा होगा। उधर, भारत माला ने मप्र-राजस्थान का अलाइनमेंट भी फाइनल कर दिया है। एक्सप्रेस हाई वे पास इण्डस्ट्रीज स्थापित करने के मामले में सरकार राहत देगी। इसमें 50 फीसदी तक जमीन सरकार देगी। गडकरी ने कहा कि मैं खुद दिसम्बर में मप्र आकर इसका भूमिपूजन करूंगा। इंदौर के अलावा जबलपुर, भोपाल व ग्वालियर में रिंग रोड को मजबूती दी जाएगी।

खण्डवा रोड पर ‌विशेष पुल व आधुनिक फाउंटेन

उन्होंने कहा कि इंदौर-खण्डवा रोड पर एक विशेष पुल बनाया जाए। पुल के पास आधुनिक फाउंटेन का निर्माण हो ताकि यहां बैठकर लोग लुत्फ ले सके। यह पुल देवी अहिल्या के नाम से हो। ऐसे ही राऊ चौराहा से जुड़े प्रोजेक्ट के लिए 10 करोड रु. की स्वीकृति दी। इंदौर-झाबुआ-हरदा रोड की कनेक्टिविटी के लिए राज्य सरकार जमीन देगी। इंदौर से झाबुआ, माचल में भी लॉजिस्टिक पार्क बनाया जाएगा। उन्होंने कहा शिवराजसिंह के नेतृत्व में प्रदेश का अच्छा विकास हो रहा है। इसमें एग्रीकल्चर व इण्डस्ट्रीज को और बढ़ावा दिया जाए ताकि चौमुखी विकास हो। इंदौर तो एजुकेशन हब बन गया है।

मालवा के किसानों के ट्रेक्टर सीएनजी चलित हो

उन्होंने भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय को कहा कि मालवा में सीएनजी को बढ़ावा दिया जाना चाहिए। यहां के किसानों के ट्रेक्टर सीएनजी में कन्वर्ट कीजिए जिससे किसानों को राहत मिलेगी। सीएनजी मेरा सपना है। मप्र देश का सुखी व समृद्ध शक्तिशाली प्रदेश हो, इसके लिए हर संभव मदद की जाएगी।

गडकरी के पास असंभव शब्द नहीं

कार्यक्रम को केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन, सांसद शंकर लालवानी, मंत्री गोपाल भार्गव सहित अन्य मंत्रियों ने संबोधित किया। सभी ने एक बात दोहराई कि केंद्रीय मंत्री गडकरी के पास असंभव नाम से कोई शब्द ही नहीं है। उनके नेतृत्व में सड़क व परिवहन के क्षेत्र में काफी विकास हुआ है। विकास संबंधी मामलों में उन्होंने कभी मना नहीं किया। इस मौके पर गडकरी ने महाजन को लेकर कहा कि वे इंदौर व प्रदेश के प्रोजेक्ट्स को लेकर हमेशा मुझे अवगत कराती रही है।

लालवानी को अपनी गाडी में बैठाया

इसके पूर्व एयरपोर्ट पर अगवानी के दौरान सांसद शंकर लालवानी ने अपनी मांगों की फाइल आगे बढ़ाई तो गड़करी मुस्कुराते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से कहा कि इंदौर के लिए इतनी चीजें करवा ली, फिर भी मांगे बाकी है। इसके बाद सांसद शंकर लालवानी को अपने साथ गाड़ी में बैठाया और साथ में कार्यक्रम स्थल पहुंचे।

इन प्रोजेक्ट्स का हुआ लोकार्पण

- इंदौर 6 लेन बायपास पर स्ट्रीट लाइट व सर्विस रोड (83 करोड़ रु., 21 किमी)

- भोपाल-ब्यावरा के फोर लेन चौड़ीकरण (मुबारकरपुर-ब्यावरा, 897 करोड़ रु., 97 किमी)

- ग्वालियर-झांसी फोन लेन चौड़ीकरण (1024 करोड़ रु., 82 किमी)

- मोहगांव-खवासा फोन लेन चौड़ीकरण (968 करोड़ रु., 29 किमी)

- झांसी-खजुराहो फोन लेन चौड़ीकरण (1185 करोड़ रु., 86 किमी)

- शुजालपुर-आष्टा टू लेन (236 करोड़ रु., 44 किमी)

इन प्रोजेक्ट्स का हुआ शिलान्यास

- बलवाडा-धनगांव पर नए ब्रिज व फोर लेन चौड़ीकरण (1002 करोड़ रु., 40 किमी)

- धनगांव-बोरगांव फोर लेन चौड़ीकरण (866 करोड़ रु., 58 किमी)

- रीवा-बेला फोर लेन चौड़ीकरण (337 करोड़ रु., 13 किमी)

- नौरादेही सेंचुरी का फोर लेन चौड़ीकरण(176 करोड़ रु., 12 किमी)

- माछलिया घाट फोर लेन चौड़ीकरण (323 करोड़ रु., 16 किमी)

- माधव नेशनल पार्क के बचा फोर लेन चौड़ीकरण(178 करोड़ रु., 6 किमी)

- सतना-मैहर टू लेन (615 करोड़ रु., 39 किमी)

- सागर-मोहारी फोर लेन चौड़ीकरण (791 करोड़ रु., 42 किमी)

- बमीठा-खजुराहो फोर लेन चौड़ीकरण (73 करोड़ रु., 10 किमी)

इनके अलावा 152 करोड़ रु. की लागत की 310 किमी लंबी 7 सड़कों का सुदृढ़ीकरण जिसमें इंदौर-बैतूल NH-47 भी है। ऐसे ही अन्य 8 सड़कों का सुदृढ़ीकरण है जो 145 करोड़ की लागत से 244 किमी लंबी बनाई गई है।

खबरें और भी हैं...