पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Dhar
  • Grandfather And Father Brought The Mother And Daughter Of Drums And Drums Home By Sitting On The Buggy, Named The Daughters Riddhi Siddhi

जुड़वां बेटी जन्मी तो रथ से लाए घर VIDEO:बेटियों और मां का ढोल-नगाड़ों के साथ नगर में निकाला जुलूस; नाम रखा- रिद्धि-सिद्धि

धार4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

धार के कोणदा गांव में दो जुड़वां बेटियों का जन्म होने पर परिवार इतना खुश हुआ कि दोनों बच्चियों और मां को सजे हुए रथ में बैठाकर घर लाए। इससे पहले दोनों बच्चियों और मां का रथ जुलूस ढोल-नगाड़ों के साथ दो घंटे तक पूरे नगर में घुमाया गया। बच्चियों के दादा-पिता और परिवार के बाकी लोग रथ के सामने नाचते-झूमते चले।

मायके में दिया था बेटियों को जन्म
कोणंदा में रहने वाले मयूर भायल की पत्नी अपने पिता के घर दोगांवा गांव गई थीं। उन्होंने यहां 11 सितंबर 2021 को गणेश चतुर्थी के दिन दो जुड़वां बेटियों को जन्म दिया। परिवार की सहमति से दोनों बच्चियों का नाम रिद्धि और सिद्धि रखा गया। चार महीने बाद शनिवार को बेटियों के साथ बहू अपने ससुराल वापस आई।

रथ में अपनी मां व एक रिश्तेदार की गोद में बैठीं दोनों नवजात बेटियां।
रथ में अपनी मां व एक रिश्तेदार की गोद में बैठीं दोनों नवजात बेटियां।

ससुराल के लोगों ने नाना के घर से बेटियों को दादा के घर लाने के लिए बड़े धूमधाम से इंतजाम किया। गांव में माता मंदिर से डीजे और ढोल बाजे के साथ ग्रामीणों ने रिद्धि-सिद्धि का बड़े ही प्यार के साथ स्वागत किया। शनिवार सुबह 11 बजे से दोपहर 4 बजे तक बेटियों का स्वागत किया गया। इस दौरान जुलूस को दो किलोमीटर की दूरी तय करने में दो घंटे लग गए।

दोनों बेटियों का जन्म गणेश चतुर्थी के दिन हुआ था।
दोनों बेटियों का जन्म गणेश चतुर्थी के दिन हुआ था।

गांव के लोग कर रहे इस पहल की तारीफ
परिवार के मुखिया और बच्चियों के दादा जगदीश भायल की सोच की गांव के लोगों ने भी तारीफ की। डेढ़ साल पहले जगदीश ने अपने बेटे की शादी भी धूमधाम से की थी। गणेश चतुर्थी पर​​ बहू ने दो प्यारी बेटियों को जन्म दिया था। बच्ची के पिता मयूर भायल की कुक्षी में कपड़ों की दुकान है। दादा जगदीश भायल की 6 बीघा खेती है।

खबरें और भी हैं...