पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX61305.950.94 %
  • NIFTY18338.550.97 %
  • GOLD(MCX 10 GM)478990 %
  • SILVER(MCX 1 KG)629570 %
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Hoshangabad
  • Vaccination Centers In Schools, 17% Attendance On The First Day, Rust On The Bench, Carrot Grass In The Campus, Arrangements Were Not Made Even After 6 Days Before Order

प्राइमरी स्कूल अनलॉक:स्कूूलों में वैक्सीनेशन सेंटर, पहले दिन 17% उपस्थिति, बेंच पर जंग, परिसर में गाजर घास, 6 दिन पहले आदेश होने के बाद भी दुरुस्त नहीं की गई व्यवस्थाएं

हाेशंगाबादएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शिक्षा विभाग ने 6 दिन पहले 20 सितंबर से 50 प्रतिशत क्षमता के साथ प्राइमरी स्कूल खाेलने के आदेश जारी किए थे। इसके बाद भी हाेशंगाबाद शहर के साेमवार काे 6 स्कूलाें में वैक्सीन लगाई गई। इसके अलावा शिक्षा विभाग स्कूलाें में 6 दिन में व्यवस्था दुरुस्त नहीं कर पाया। स्कूल परिसर में घास उगी थी ताे कहीं ब्रेंच पर जंग लगी थी। शासकीय प्राथमिक शाला काेठी बाजार में साफ-सफाई नहीं थी व टेबल कुर्सिंयाें पर जंग लगी थी। दर्ज संख्या से भी कम बच्चे पहले दिन स्कूल पहुंचे। शहर में निजी स्कूलाें में ऑनलाइन क्लास चल रही है। पहले दिन कुछ निजी स्कूल में ही बच्चें पहुंचे। एपीसी संताेष ठाकुर ने कहा कि स्कूल प्रारंभ हाे चुके हैं। पहले दिन उपस्थिति सामान्य रही।

यहां थे वैक्सीनेशन सेंटर: शहर में सोमवार को एसएनजी स्कूल, माध्यमिक स्कूल प्रताप नगर, शासकीय स्कूल रेवागंज, शासकीय स्कूल आदमगढ़, शासकीय प्राथमिक शाला बालागंज,शासकीय स्कूल फेफरताल में वैक्सीनेशन सेंटर बनाए गए हैं।

प्राथमिक शाला, बालागंज, स्कूल खुला था, लोग लगवा रहे थे टीके

प्राथमिक स्कूल में बने सेंटर पर वैक्सीनेशन चल रहा था। कक्षाएं खाली थीं, एक भी विद्यार्थी स्कूल नहीं पहुंचा। स्कूल में दाेपहर 2.20 बजे वैक्सीनेशन चल रहा था। शिक्षा विभाग ने प्रदेश स्तर पर पालक शिक्षक बैठक का आयाेजन 17 सितंबर काे कर बच्चाें काे स्कूल पहुंचाने के लिए पालकाें काे जागरूक किया था। लेकिन इसके बाद भी स्कूलाें में बच्चाें की दर्ज संख्या से भी कम बच्चे स्कूल पहुंचे। प्रधानपाठक रेखा रवैरकर ने बताया कि पहली से पांचवी तक बच्चाें की दर्ज संख्या 40 है। साेमवार काे कुल 7 बच्चे ही आए थे। लेकिन 11 बच्चाें के पालकाें ने हमें लिखित सहमति दी है। लंच टाइम हाेने के कारण बच्चे घर गए हैं।

प्राथमिक शाला, काेठी बाजार , पहले दिन लंच में कंचे खेलते मिले बच्चे

कलेक्टर और डीईओ कार्यालय राेड पर स्थित काेठी बाजार प्राथमिक शाला में पहली से 5वीं तक 75 विद्यार्थी हैं। पहले दिन पहली में 1, दूसरी में 1, तीसरी में 2 पांचवी में 2 बच्चे पहुंचे। पहले दिन कुछ बच्चे लंच में कंचे खेलते रहे। कुर्सी टेबल पर जंग लग रही थी। बारिश के पानी के कारण छत से पानी टपक रहा था व दीवाराें पर सीलन थी। परिसर में घास थी। प्रधानपाठक ओमप्रकाश सिंह ने बताया स्कूल का पहला दिन है पालकाें की सहमति 6 बच्चे ही आए हैं। सुबह नगरपालिका कर्मचारी सफाई के लिए आए थे लेकिन ताला नहीं खुला हाेने के कारण परिसर की सफाई नहीं हाे सकी। कुर्सी टेबल पिछले दाे साल से पेंट नहीं किया है।

बच्चों को लेने नहीं पहुंचे वाहन, निजी स्कूलों काे भरना होगा 2 साल का व्हीकल टैक्स

साेमवार काे शहर के निजी स्कूलाें का एक भी वाहन बच्चाें काे स्कूल लाने के लिए घर नहीं पहुंचा। दरअसल स्कूल संचालकाें के सामने स्कूल वाहनाें के टैक्स जमा करने का संकट है। साेपास के जिलाध्यक्ष आलाेक राजपूत ने बताया स्कूल संचालन दाे साल से बंद था इसके कारण वाहन खड़े थे। इनका टैक्स जमा नहीं हुआ है। अब दाे साल का इकट्ठा टैक्स जमा करना हाेगा।

वहीं शासन ने वाहनाें में 50 प्रतिशत क्षमता के साथ स्कूल बस,ऑटाे, वैन चलाने के आदेश दिए हैं स्कूल बंद हुए थे तब डीजल 73 रुपए लीटर था लेकिन अब 99 रुपए लीटर हाे गया है। ऐसे में आधी क्षमता के साथ स्कूल वाहन चलाना मुश्किल हाेगा। पालकाें काे स्वयं ही अपने बच्चाें काे स्कूल छाेड़ना हाेगा।​​​​​​

खबरें और भी हैं...