पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हिल स्टेशन में टाइगर सफारी:पचमढ़ी में पहली बार शुरू होगी टाइगर सफारी, बाघ का आसानी से पर्यटक कर सकेंगे दीदार

होशंगाबाद9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल तस्वीर। - Money Bhaskar
फाइल तस्वीर।

मप्र के हिल स्टेशन पचमढ़ी में टूरिस्ट बाघ का आसानी से दीदार कर सकेंगे। टूरिस्ट को किसी प्रकार की कोई परेशानी न उठानी पड़े। इसके लिए मप्र सरकार यहां टाइगर सफारी शुरू करने की तैयारी कर रहा है। सतपुड़ा टाइगर रिजर्व पार्क क्षेत्र में करीब 20 करोड़ रुपए की लागत से टाइगर सफारी बनाई जाएगी। पचमढ़ी में 50 हेक्टर क्षेत्र को टाइगर सफारी के लिए आरक्षित किया जाएगा।

भारत सरकार से इसकी अनुमति मिल चुकी है। राजस्व विभाग से 50 हेक्टर जमीन हस्तांतरित होने के बाद इसके काम में तेजी आएगी। पिछले दिनों पचमढ़ी और होशंगाबाद दौरे पर आए वनमंत्री विजय शाह ने टाइगर सफारी शुरू करने की बात कही। उन्होंने कहा पचमढ़ी सेंट्रल इंडिया की ग्रीष्म कालीन राजधानी रहा है। यहां देश-विदेश से बड़ी संख्या में पर्यटक आते हैं। पर्यटक बाघ को आसानी से देख सकें और स्थानीय लोगों के रोजगार में बढ़ोतरी हो, इसी उद्देश्य से टाइगर सफारी की सौगात पचमढ़ी को दी जाएगी।

ऐसा होता है टाइगर सफारी का स्वरूप

सतपुड़ा टाइगर रिजर्व का जंगल प्राकृतिक है। जंगल के अंदर कोई भी जानवर कहीं भी आ जा सकता है। टाइगर सफारी का स्वरूप यह है कि एक स्थान विशेष को विकसित कर उसमें वन्यजीवों को रखा जाता है। ऐसा करने से वन्यजीवों को आसानी से देखा जा सकता है। सतपुड़ा टाइगर रिजर्व में ऐसा नहीं है। टाइगर रिजर्व में नेचुरल वाटर होल, शाकाहारी वन्यजीव पाए जाते हैं, लेकिन टाइगर सफारी में व्यवस्था करनी होगी। टाइगर सफारी के चारों ओर सुरक्षा दीवार बनानी पड़ेगी, जिससे कोई भी जानवर बाहर नहीं आ सकेगा।

STR में जंगल सफारी पहले से सुविधा

सतपुरा टाइगर रिजर्व के मढ़ई, चूरना के जंगल और मटकुली क्षेत्र में पहले से पर्यटकों के लिए जंगल सफारी की सुविधा उपलब्ध है। सैलानी जंगल सफारी का आनंद लेते है। जंगल सफारी के दौरान बाघ व वन्य प्राणी जंगल में कहीं भी विचलन करते दिखाई देते है। लेकिन टाइगर सफारी एकदम अलग है। इसका स्वरूप चिड़ियाघर जैसा होता है। चिन्हित क्षेत्र के भीतर ही जंगली जानवर रहते है। वे उससे बाहर नहीं जा सकते।

एक साल करना होगा इंतजार

एसटीआर के फील्ड डायरेक्टर एल कृष्णमूर्ति ने बताया पचमढ़ी में टाइगर सफारी शुरू करने की तैयारी चल रही है। संभावना अगले साल की पहली तिमाही में सफारी का काम शुरू हो जाएगा। जिसके बाद पर्यटक टाइगर सफारी का लुत्फ उठा सकेंगे। इसकी क्या टिकट रहेगी, यह अभी निर्धारित नहीं किया गया है।

खबरें और भी हैं...