पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX61305.950.94 %
  • NIFTY18338.550.97 %
  • GOLD(MCX 10 GM)478990 %
  • SILVER(MCX 1 KG)629570 %

मौसम की मार:जिले में दाे दिनों बाद खिली धूप, फिर तेज बारिश से रुकी साेयाबीन, उड़द की कटाई

हरदाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हरदा। बारिश से खेताें में रुकी कटाई। - Money Bhaskar
हरदा। बारिश से खेताें में रुकी कटाई।
  • तेज बारिश हाेने से खेताें में पानी भर गया, इसके कारण किसानों को कटाई बंद करनी पड़ी

दाे दिनाें तक माैसम साफ रहने के बाद किसानाें ने रविवार से खेताें में साेयाबीन और उड़द की कटाई शुरु की। इस बीच साेमवार काे दिन में कई बार रुक-रुक तेज बारिश हाेने से खेताें में पानी भर गया, जिससे कटाई बंद करना पड़ी। कटाई के समय बारिश हाेने से साेयाबीन और उड़द काे नुकसान हाेना तय है।

इससे किसान चिंतित हैं। दाे दिनाें तक पूरी तरह थमा रहा बारिश का सिलसिला साेमवार काे एक बार फिर से शुरु हाे गया। साेमवार काे सुबह से शाम तक कई बार कभी तेज ताे कभी धीमी गति से बारिश हाेती रही।

शाम काे हवा आंधी के बीच तेज बारिश हुई। जिससे लाेगाें ने उमस से राहत महसूस की। ऐड़ाबेड़ा के किसान मनाेज पटेल ने बताया रविवार काे माैसम खुला रहने के कारण साेयाबीन व उड़द की कटाई के लिए दूसरे गांवाें से ट्राॅली से मजदूर लाए थे। एक दिन कटाई हुई। साेमवार काे तेज बारिश से खेताें में कीचड़ हाे गया। जिससे चलना फिरना बंद हाे गया। इस कारण कटाई बंद करना पड़ी। अब तेज धूप निकलने के बाद ही कटाई हाे पाएगी।

राेलगांव के माेहन यादव ने बताया 90 दिन की वैरायटी वाली फसल पकने के बाद काटकर खेताें मेें सूखने के लिए रखी थी। बीते 7 दिन में दाे बार बारिश से उड़द का खेत में दाेबारा अंकुरण हाे गया।

साेयाबीन का मानक बीज नहीं मिला: पिड़गांव के किसान संजय बडियार, भुवनखेड़ी के भागवत पटेल, भुन्नास के सुनील गाेल्या ने कहा पहले ही साेयाबीन का मानक बीज नहीं मिला। जब पानी की जरुरत थी, तब बारिश नहीं हुई, जिससे तापमान बढ़ा और पाैधाें की ग्राेथ प्रभावित हुई। अब कटाई के समय बारिश से नुकसान तय है।

जिले में 24 घंटे बाद रुक-रुककर हुई जाेरदार बारिश
जिले में पिछले 24 घंटे के बाद साेमवार काे रुक-रुककर बारिश हुई। शाम काे घने काले बादल छाए। इसके बाद आधा घंटे जाेरदार बारिश हुई। इससे शहर की सड़कें तरबतर हाे गई। ओवरफ्लो हुई नालियाें का पानी सड़काें पर जमा हाे गया। जिले में पिछले साल की तुलना में अब तक 12.40 इंच बारिश कम हुई है। जिले की सामान्य औसत बारिश 49.67 इंच है। शहर में सुबह से ही बादल छाए रहे।

11 बजे अचानक रिमझिम बारिश शुरू हाे गई। दाेपहर करीब 1 बजे 15 मिनट के लिए तेज बारिश हुई। इसके बाद रुक-रुककर बारिश हाेती रही। शाम करीब 6 बजे घने काले बादल छा गए। तेज हवा और गड़गड़ाहट के साथ जाेरदार बारिश शुरू हाे गई। करीब 30 मिनट तक जाेरदार बारिश हुई।

जिले में अब तक 32.07 इंच बारिश हाे चुकी है। पिछले साल इस अवधि में 44.47 बारिश हुई थी। जिले की सामान्य औसत बारिश 49.67 इंच है। चालू मानसून सत्र में अब तक हरदा में 31.96 इंच, टिमरनी में 33.65 इंच और खिरकिया में 30.61 इंच बारिश हुई है। पिछले साल अब तक जिले में 44.47 इंच औसत बारिश हुई थी। इसमें हरदा में 42.53 इंच, टिमरनी में 55.63 इंच और खिरकिया में 35.26 इंच बारिश हुई थी।

खबरें और भी हैं...