पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57107.15-2.87 %
  • NIFTY17026.45-2.91 %
  • GOLD(MCX 10 GM)481531.33 %
  • SILVER(MCX 1 KG)633740.45 %

विसर्जन मां चली:रात भर चला चल समारोह, अखाड़े भी निकले; सुबह 10 बजे हुआ टिकारी क्षेत्र की महाकाली की प्रतिमा का विसर्जन

बैतूलएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • चल समारोह देखने के लिए कोठीबाजार के लल्ली चौक पर देर रात तक लोगों को हुजूम लगा रहा

शहर में प्रतिमा विसर्जन की धूम रही। दशहरे पर देर रात तक टिकारी, कोठीबाजार सहित अन्य इलाकों से देवी प्रतिमाएं निकाली गईं। जिनका विसर्जन शनिवार सुबह तक हुआ। टिकारी क्षेत्र की प्रसिद्ध महाकाली की प्रतिमा सुबह कोठीबाजार के लल्ली चौक पर पहुंची। जहां पर आरती के बाद सुबह 10 बजे विसर्जन हुआ। देवी प्रतिमाओं के जुलूस के लिए पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था बेहद सख्त करके रखी थी। इसके कारण शांति और सदभाव के साथ दशहरे पर्व का समापन हुआ।

चल समारोह देखने के लिए कोठीबाजार के लल्ली चौक पर देर रात तक लोगों को हुजूम लगा रहा। रात में एक बजे चलित अखाड़ा लल्ली चौक पर पहुंचा। कलाकारों ने हैरत अंगेज कला का प्रदर्शन किया। इसके बाद टिकारी और कोठीबाजार क्षेत्र की दुर्गा प्रतिमाओं का जुलूस पहुंचा। डीजे की धुन पर युवाओं ने माता की भक्ति में लीन रहकर जमकर नृत्य किया। यहां पर टिकारी की प्रसिद्ध काली जी की प्रतिमा को देखने के लिए लगी भीड़ को सुबह 7 बजे तक का इंतजार करना पड़ा। काली प्रतिमा के विसर्जन जुलूस में बड़ी संख्या में लोग शामिल थे।

खबरें और भी हैं...