पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हरदा में दोनों दलों के दावे:जिला पंचायत में फिर खिलेगा कमल ?, जनपद पंचायत में कांग्रेस-भाजपा के बीच कड़ा मुकाबला

हरदा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंचायत चुनाव के पहले चरण हरदा जिला पंचायत सहित तीनों जनपद पंचायत के ‎मतदान और मतगणना पूरी हो चुकी है। किस वार्ड से कौन जीता या फिर किन-किन प्रत्याशियों को हार का सामना करना पड़ा। इसके अधिकृत परिणाम 14 जुलाई आएंगे, लेकिन मतगणना के आधार पर जिला पंचायत हरदा और हरदा, खिरकिया एवं टिमरनी जनपद पंचायत के अंर्तगत आने वाले सभी वार्डों की स्थिति साफ हो रही है।

मतगणना के आंकड़ों के‎ आधार पर भाजपा ने जिला‎ पंचायत हरदा के 6 वार्डों में बढ़त हासिल कर अपनी जीत का दावा किया है। वहीं वार्ड में एक एवं नौ में कांग्रेस, वार्ड नं 10 में जयस और वार्ड नं 4 से भाजपा से टिकट नहीं मिलने वाली जयश्री लीलाधर बांके को बढ़त मिलती दिखाई दे रही है। इस वार्ड की प्रत्याशी के पति लीलाधर बांके कृषि मंत्री कमल पटेल के विधायक प्रतिनिधि भी है लेकिन भाजपा ने उन्हें अपना अधिकृत प्रत्याशी नहीं बनाया था। जिसके चलते उनकी पत्नी जयश्री बांके निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में खड़ी हुई थी। जिला पंचायत के वार्ड नं 6 में दोनों ही दलों ने अपने-अपने प्रत्याशी की जीत का दावा किया जा रहा है। दोनों ही प्रमुख दलों से जुड़े नेताओं ने इस वार्ड के प्रत्याशी की जीत को लेकर बधाई देने की पोस्ट की है। इस वार्ड में जीत-हार का अंतर काफी कम रहेगा।

उधर, जनपद पंचायतों‎ के अधिकतम वार्डों में दोनों ही प्रमुख दलों के द्वारा अपने पक्ष के उम्मीदवारों की जीतने का दावा‎ किया है। इनमें हरदा, टिमरनी, खिरकिया जनपद पंचायत शामिल‎ हैं। दूसरी तरफ कांग्रेस ने जनपद पंचायत हरदा और खिरकिया में अध्यक्ष और उपाध्यक्ष दोनों कांग्रेस के बनाने की बात कही जा रही है। वहीं भाजपा ने तीनों जनपद पर भाजपा का कब्जा होना बताया जा रहा है। फिलहाल शुरुआती रुझानों के आधार पर भाजपा में खुशी का माहौल है।‎ वहीं कांग्रेस के समर्थक उम्मीदवारों ने‎ ग्राम एवं जनपद पंचायत स्तर तक अपनी जीत‎ दर्ज करने की बात की जा रही हैं। उधर, कांग्रेस ने जिला पंचायत की काउंटिंग में गड़बड़ी होने और शासकीय मिशनरी का दुरूपयोग होने की शिकायत निर्वाचन आयोग से की है।

हरदा जनपद में 15 वार्डों में बीजेपी-10 पर कांग्रेस का दावा

हरदा जनपद पंचायत के 25 वार्डों में से 15 वार्डों में भाजपा समर्थित प्रत्याशियों के जीतने का दावा भाजपा जिलाध्यक्ष अमर सिंह पटेल कर रहे है। वहीं कांग्रेस जिला अध्यक्ष ओम पटेल भी निर्दलीय सदस्यों की मदद से कांग्रेस की जनपद होने की बात कर रहे है। किसान कांग्रेस जिलाध्यक्ष मोहन विश्नोई का कहना है कि भले ही रुझान में आंकड़े कुछ हो लेकिन जनपद अध्यक्ष और उपाध्यक्ष कांग्रेस समर्थित ही होंगे। रुझान में भाजपा को 15 वार्डो में, कांग्रेस को 8 और निर्दलीय को 2 वार्डों में बढ़त दिखाई दे रही है। हालांकि हरदा जनपद के कुल 25 वार्डो में से 6 सदस्य पूर्व में ही निर्विरोध रहे है। वहीं 19 वार्डों में निर्वाचन हुआ है। हालांकि दोनों ही दल के पदाधिकारियों ने अब तक खुलकर वार्डों के नाम नहीं बता रहे है। उन्हें शक है कि विजयी प्रत्याशियों को अपनी आखरी वक्त पर अपने प्रभाव और दबाव में निर्दलीय प्रत्याशी को अपनी ओर न खिंच ले।

खिरकिया में कांटे की टक्कर, टिमरनी में मिल सकता है भाजपा को बहुमत

जिले की खिरकिया जनपद के कुल 24 वार्डों में से जिस भी दल के साथ 13 सदस्यों का समर्थन होगा, उसका कब्जा होगा। रूझान में भाजपा और कांग्रेस दोनो को 10-10 वार्डों में बढ़त दिखाई दे रही है। वहीं 4 वार्डो में निर्दलीय उम्मीदवार आगे दिखाई दे रहे है। इस लिहाज से यहां दलों से जुड़े प्रत्याशियों से ज्यादा निर्दलीय लोगों की पूछ परख होगी। जिस दल को भी निर्दलीय प्रत्याशी का समर्थन मिल जाएगा। वह जनपद पर कब्जा कर लेगा। यहां एक रोचक मुकाबले में पूर्व जनपद अध्यक्ष जगदीश सोलंकी की पत्नी को एक सामान्य महिला प्रत्याशी जो पहली बार चुनाव मैदान में आई थी उनके द्वारा करारी शिकस्त दी गई है। वहीं जनपद अध्यक्ष के लिए अनारक्षित पद होने से यहां पर राजपूत समाज से जुड़े सदस्यों का दावा सबसे मजबूत माना जा रहा है। कांग्रेस से रानू दशरथ पटेल एवं भाजपा से ज्योति रामनारायण राजपूत इस पद की प्रबल दावेदार मानी जा रही है। वही निर्दलीय प्रत्याशी आयुषी अक्षय उपाध्यक्ष भी अध्यक्ष पद के विकल्प के रूप में देखी जा रही हैं। फिलहाल यह सभी पूर्वानुमान है।

उधर, टिमरनी में कुल 25 वार्डो में से 19 की स्थिति एकदम स्पष्ट है। यहां पर 9 वार्ड भाजपा, 7 कांग्रेस और 2 पर निर्दलीय प्रत्याशी आगे है। वहीं वार्ड नंबर 1-6 तक भाजपा और कांग्रेस दोनों ही दल के पदाधिकारियों के द्वारा इन वार्डों को लेकर कोई दावा नहीं किया गया है। वनांचल से जुड़े इन वार्ड से बढ़त हासिल करने वाले प्रत्याशी टिमरनी जनपद पर किस दल का कब्जा होगा तय करेंगे। लेकिन शुरुआती रुझानों में कांग्रेस के मुकाबले भाजपा मजबूत दिखाई दे रही है। लेकिन कांग्रेस भी यहां पर अपनी मजूबती का दावा कर रही है।

खबरें और भी हैं...