पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Harda
  • Sirali's BJP Councilor And Her Husband Were Expelled From The Party For 6 Years By The District President

पार्टी विरोधी कार्य के चलते हुई कार्रवाई:सिराली की भाजपा पार्षद और उनके पति को जिलाध्यक्ष ने 6 साल के लिए पार्टी से किया निष्कासित

हरदा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नगर परिषद सिराली में अध्यक्ष पद के चुनाव में भाजपा संगठन के ओर से तय किए गए प्रत्याशी के खिलाफ चुनाव लड़ना भाजपा पार्षद अनुराधा सोमानी को महंगा पड़ गया है। भाजपा जिलाध्यक्ष अमरसिंह मीणा ने सिराली के वार्ड नं 3 की पार्षद अनुराधा सोमानी व उनके पति कुंजबिहारी सोमानी को 6 साल के लिए पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निष्कासित कर दिया है।

गौरतलब है कि शनिवार को सिराली नगर परिषद के गठन के बाद पहली मर्तबा अध्यक्ष चुनने को लेकर भाजपा ने अनीता अग्रवाल को अपना अधिकृत प्रत्याशी बनाया था। लेकिन भाजपा पार्षद अनुराधा सोमानी ने कांग्रेस व निर्दलीय पार्षदों के सपोर्ट से अध्यक्ष पद के लिए फार्म भरा था।

इस दौरान हुए चुनाव में भाजपा की अनिता अग्रवाल को 9 व अनुराधा सोमानी को 6 मत मिले थे। वहीं अनीता अग्रवाल 3 मतों से जीतकर अध्यक्ष बनी है। गौरतलब है कि यहां पर भाजपा के 11, कांग्रेस के तीन व एक वार्ड में निर्दलीय पार्षद जीता है।

11 पार्षद चुनकर आए लेकिन अध्यक्ष को मिले 9 वोट

सिराली नगर परिषद अध्यक्ष के चुनाव में भाजपा के पास 11 पार्षद होने के बावजूद अध्यक्ष प्रत्याशी अनीता अग्रवाल को 9 वोट मिले है। ऐसा माना जा रहा है कि बागी प्रत्याशी अनुराधा सोमानी को स्वयं के अलावा तीन कांग्रेस, एक निर्दलीय व एक भाजपा पार्षद का वोट मिला है। यहां संगठन को अब तक यह पता नहीं चल पाया है कि भाजपा के किस पार्षद ने पार्टी से बागी उम्मीदवार को अपना समर्थन प्रदान किया है।

पूर्व में नगर मंडल अध्यक्ष पर भी हुई है कार्रवाई

उधर खिरकिया जनपद अध्यक्ष के चुनाव में भी भाजपा को बहुमत होने के बाद भी हार का सामना करना पड़ा था। इसको लेकर जिलाध्यक्ष मीणा ने खिरकिया नगर मंडल अध्यक्ष गोलू राजपूत के खिलाफ निष्कासन की कार्रवाई की थी। जिसको लेकर सोशल मीडिया पर अलग-अलग लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त कर जिलाध्यक्ष के निर्णय का विरोध जताया था। वहीं राजपूत समाज के लोगों ने भी गोलू राजपूत के खिलाफ भाजपा संगठन के ओर से लिए निर्णय को गलत ठहराया था।

खबरें और भी हैं...