पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

द्रव्यों से स्नान के बाद हेमाद्री संकल्प:सर्वब्राह्मण व नार्मदीय ब्राह्मण समाज ने मनाया श्रावणी पर्व, रक्षा सूत्र बांधे

हरदा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहर में गुरुवार को श्रावणी उपाकर्म पर्व श्रद्धार्पूवक मनाया गया। करीब छह घंटे चले हेमाद्री संकल्प स्नान और ऋषि तर्पण के बाद कलाइयों पर संधानित रक्षा सूत्र बांधे गए। पुरोहितों ने नए यज्ञोपवीत धारण किए तथा एक-दूसरे को श्रावणी पर्व की शुभकामनाएं दी।

श्रावण शुक्ल पूर्णिमा पर श्रावणी उपाक्रम के अंतर्गत ब्राह्मणों ने विधि विधान से अपने जनेऊ बदले। बटुकों को जनेऊ धारण कराए। सामाजिक बंधुओं को हेमाद्रि दस विधि, पंचगव्य स्नान कराकर विधि-विधान से पूजन कराकर जनेऊ धारण कराए। शहर के खेडीपुरा में नार्मदीय ब्राह्मण समाज धर्मशाला में पंडित गजेंद्र शुक्ला के मार्गदर्शन में ब्राह्मणों ने विधि विधान से पूजन अर्चन कर जनेऊ धारण किया।

नि:शुल्क दी पूजन सामग्री

सप्तऋषियों को यज्ञोपवीत चढ़ाकर सभी ने नए यज्ञोपवीत धारण किए। समाज के अध्यक्ष किशोर शुक्ला ने बताया कि आयोजन में शामिल होने वाले विप्र बंधुओं को पूजा सामग्री नि:शुल्क प्रदान की गई है। आयोजन में ट्रस्टी शैलेंद्र जोशी, राजू पारे, सुबोध शुक्ला, ब्रज मोहन पारे, महेश गुहा, चंदा तारे, कैलाश शुक्ला, राजू बलबटे सहित अन्य सामाजिक बंधु मौजूद रहे।

पापकर्मों का प्रायश्चित किया

शहर की प्रताप कालोनी स्थि त बाबीसा ब्राह्मण समाज धर्मशाला में आचार्य ओमप्रकाश पुरोहित ने बताया कि इस दिन गुरु के सानिध्य में ब्रह्मंचारी गाय के दूध, दही, घी, गोबर, गोमूत्र तथा कुशा से स्नान कर वर्षभर में जाने-अनजाने में हुए पापकर्मों का प्रायश्चित कर जीवन को सकारात्मकता से भरते हैं। स्नान के बाद ऋषि पूजन, सूर्योपस्थान एवं यज्ञोपवीत पूजन तथा नवीन यज्ञोपवीत धारण किया। उन्होंने बताया कि यज्ञोपवीत या जनेऊ आत्मसंयम का संस्कार है। इससे व्यक्ति का दूसरा जन्म हुआ माना जाता है। वह द्विज कहलाता है। कार्यक्रम में मनोहरलाल शर्मा, महामंत्री सुनील तिवारी, दीपक शुक्ला, चंद्रकांत शुक्ला, अतुल शुक्ला, गजानंद डाले, विनय पांडे, जितेंद्र व्यास, कृष्ण गोपाल शर्मा, विजय शर्मा, सुदीप मंडलोई आदि मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...