पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सरपंच बनने के कुछ घंटे बाद मौत:जीत की रात नींद में गई जान, हरदा की ग्राम पानतलाई में खुशियों की जगह छाया मातम

हरदा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सात साल बाद हुए त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर मतदाताओं में खासा उत्साह नजर आया। चुनाव के परिणाम में किसी को जीत से खुशी तो किसी को हार मिलने से निराशा मिली। वहीं हरदा जिले की टिमरनी जनपद के अंतर्गत आने वाले ग्राम पानतलाई में करीब 365 वोटों से जीतने वाली महिला सरपंच रुकमणी बाई (70) का जीत के अगले ही दिन निधन हो गया।

ग्राम पांनतलाई की आवास कालोनी में रहने वाले नवनिर्वाचित सरपंच के बेटे राजेश सरेआम ने बताया कि गांव के सभी लोगों के सहयोग से उनकी मां रुकमणी बाई को सरपंच पद के लिए खड़ा किया था। जिसमें उन्हें जीत हासिल हुई है। उन्होंने बताया कि रात 12 बजे के आसपास खाना खाने के बाद परिवार के सभी लोग बातचीत कर घर मे सो रहे थे।

जब सुबह उठकर देखा तो मां की मृत्यु हो चुकी थी। राजेश ने बताया कि उन्हें बीपी और गैस की समस्या रहती थी। वहीं उनकी मां और वे खुद गांव में मजदूरी कर अपना जीवन यापन करते है। उन्होंने कहा कि उनकी मां सरपंच पद पर जीत गई थी तो पूरे परिवार में खुशी का माहौल था। लेकिन उनके अचानक निधन से पूरा परिवार सदमे में है। मृतका के दो बेटे राजेश ओर मुकेश एवं एक बेटी है। वहीं पति का पहले ही निधन हो गया।

खबरें और भी हैं...