पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सिविल लाइन थाना क्षेत्र का मामला:नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपी की जमानत याचिका को न्यायालय ने किया खारिज, आरोपी ने पीड़िता को दी थी जान से मारने की धमकी

हरदा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सिविल लाइन थाना क्षेत्र के अंतर्गत एक गांव में रहने वाली नाबालिग को बहला फुसला कर दुष्कर्म करने के आरोपी की जमानत को न्यायालय ने निरस्त कर दी है। महिला पुलिस थाना में नाबालिग ने अपने पिता के साथ आकर आरोपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी।

जिस पर पुलिस ने अपराध क्रमांक 70/22 अंतर्गत धारा 376 (2) (n) 506 आईपीसी व 5(L)/6 पॉक्सो एक्ट और एससीएसटी एक्ट के तहत दर्ज अपराध में आरोपी अजय विश्कर्मा पिता रामदास विश्वकर्मा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। विशेष लोक अभियोजक सुखराम बामने ने बताया कि जमानत पॉक्सो विशेष न्यायालय हरदा के न्यायधीश दिनेश कुमार सिंग ने ख़ारिज कर दी है।

विशेष लोक अभियोजक बामने ने बताया की महिला थाने में दर्ज अपराध में आरोपी युवक ने बहला फुसला कर 15 वर्षीय नाबालिग से दुष्कर्म किया और उसे धमकी दी की अगर यह बात किसी को बताई तो जान से खत्म कर दूंगा। लेकिन बाद में पीड़िता ने डरते-डरते अपने पिता को सारी सच्चाई बताई।

जिसके बाद पिता ने हिम्मत दी और नाबालिग ने महिला थाना में 16 मई 22 को शिकायत दर्ज कराई। उसके बाद आरोपी अजय विश्कर्मा को गिरफ्तार कर जेल भिजवाया गया था। इस मामले में आरोपी की ओर से प्रथम जमानत आवेदन पर सुनवाई हुई। शासन की ओर से पैरवी विशेष लोक अभियोजक सुखराम बामने ने की।

खबरें और भी हैं...