पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

3 राज्यों से जुड़े गांजा तस्कर के तार:2 ट्रेन बदलकर विशाखापट्टनम से साढ़े 27 KG गांजे की खेप लेकर हरदा पहुंचा, पकड़ा गया

हरदाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • वॉट्स एप कालिंग से करता था डिलिवरी के लिए संपर्क।

सिटी कोतवाली पुलिस ने सोमवार रात को तीन राज्यों से ताल्लुक रखने वाले एक गांजा तस्कर को पकड़ने में सफलता हासिल की है। पुलिस ने आरोपी के पास से करीब तीन लाख रुपए मूल्य का 27 किलो 500 ग्राम गांजा जब्त किया है। आरोपी विशाखापट्टनम से ट्रेन से सवार आकर इटारसी से आया वहां से दूसरी ट्रेन से सवार होकर देर रात हरदा पंहुचा था। जहां से वह गांजे की खेप की डिलीवरी करने के दौरान धरा गया।

मंगलवार को कंट्रोल रूम में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में मामले का खुलासा करते हुए एसपी मनीष कुमार अग्रवाल ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली थी कि 27 जून की रात एक व्यक्ति रन्हाई रोड पर ट्रॉली बैग में गंजा लेकर किसी को डिलिवरी देने जा रहा है। जिसके बाद पुलिस टीम ने घराबंदी कर उत्तर प्रदेश के आगरा जिले के ग्राम मलपुरा जमनेर निवासी मनोज प्रताप सिंह पिता कुशलपाल सिंह चौहान उम्र 35 साल को गिरफ्तार किया है।

आरोपी मनोज प्रताप सिंह चौहान विरुद्ध थाना हरदा में अपराध कर एनडीपीएस एक्ट का कायम कर विवेचना में लिया गया। आरोपी को पुलिस ने न्यायालय पेश कर पुलिस रिमांड मांगी है।

एसपी ने बताया कि आरोपी युवक विशाखापट्टनम ने ढाई हजार रुपए प्रति किलो गांजा खरीदकर हरदा में डिलेवरी पांच हजार रुपए प्रति किलो दिया करता था। वही आगरा की एक सिक्योरिटी कंपनी में काम करने के दौरान उसकी पहचान आगरा के ही किसी राहुल जोशी से हुई थी। जहां से दोनों दोस्तों ने गांजे की तस्करी का काम शुरू किया था। एसपी ने बताया कि आरोपी लोकेशन ओर मोबाइल पर बात रिकार्ड होने से बचने के लिए हमेशा वाट्सएप कालिंग करता था। ताकि बातचीत के कोई सबूत ना रह पाए। आरोपी ने पुलिस को बताया कि हरदा में वह जिसे गांजे की खेप की डिलिवरी देने आया था उस मोबाइल नंबर से कोई महिला बात किया करती थी।

जबकि वह सिम हरदा के खेड़ीपुरा में रहने वाले किसी व्यक्ति की है। उसे भी इस मामले में आरोपी बनाया जा रहा है। पुलिस टीम में सिटी कोतवाली टीआई प्रवीण चढोकर, उप निरीक्षक मनीष चौधरी, उप निरीक्षक संदीप पंवार, प्रधान आरक्षक शिवशंकर चौरे, आरक्षक तुषार धनगर, शैलेन्द्र परमार, उमेश पंवार, नितिन श्रीवास्तव, हरिओम, जीआरपी आरक्षक विजय बांके एवं अमित दवे की विशेष भूमिका रही।

खबरें और भी हैं...