पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX52344.450.04 %
  • NIFTY15683.35-0.05 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47122-0.57 %
  • SILVER(MCX 1 KG)68675-1.23 %

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

शिवपुरी:4 लाख रुपए रिश्वत ली, फिर भी दर्ज कर दिया देशद्रोह का केस; एसआई, एएसआई और तीन सिपाही निलंबित

शिवपुरी7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो - Money Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो
  • कार में चलन से बाहर हो चुके नोट रखे होना बताकर रिश्वत ली
  • चेकिंग के नाम पर करैरा पुलिस का कारनामा... शिकायतकर्ता बोले- चेकिंग के वक्त मौके पर मौजूद पत्रकार ने पुलिस को दिए थे पुराने नोट

करैरा थाने के एसआई, एएसआई और तीन आरक्षकों को शुक्रवार को एसपी राजेश सिंह चंदेल ने निलंबित कर दिया। ललितपुर निवासी सुभाषचंद्र यादव व यशवंत सिंह ठाकुर और झांसी के नितेंद्र राय ने ऑडियो रिकार्डिंग के साथ शिकायत की थी कि वे 24 नवंबर की शाम कार से शिवपुरी की तरफ से वापस जा रहे थे। करैरा बायपास पर एसआई आदित्य प्रताप सिंह, एएसआई नरेंद्र सिंह यादव, आरक्षक अमित यादव, अनिल यादव, देवेश तोमर और दाे कथित पत्रकार मौजूद थे।

पुलिस ने दोनों वाहनों की चाबी छीन ली। एक पत्रकार ने जेब से 500 रुपए के पुराने नोटों की गड्‌डी निकाली और पुलिस वालों से कहा कि इनको लगा दो। इसके बाद थाने में देशद्रोह का केस लगाने की बात कहकर 2-2 लाख रुपए मांगे गए। 4 लाख रुपए लेने के बाद भी केस दर्ज कर लिया।

जानकारी के अनुसार सुभाषचंद्र यादव निवासी ललितपुर, यशवंत सिंह ठाकुर निवासी ताहबेहट ललितपुर और नितेंद्र राय निवासी झांसी ने आईजी और एसपी शिवपुरी से ऑडियो रिकार्डिंग के साथ लिखित शिकायत की थी। सुभाषचंद्र यादव का कहना है कि वे 24 नवंबर की शाम 5 बजे करैरा बायपास कॉलेज चौराहे पर अपने साथी यशवंत सिंह ठाकुर के साथ अपनी स्कॉर्पियो से शिवपुरी की तरफ से वापस जा रहे थे। चौराहे पर पुलिस के एसआई आदित्य प्रताप सिंह, एएसआई नरेंद्र सिंह यादव, आरक्षक अमित यादव, अनिल यादव, आरक्षक देवेश तोमर और दो कथित पत्रकार मौजूद थे। पुलिस ने चेकिंग के लिए कागज मांगे।

दस्तावेज की फोटो कॉपी होने पर पुलिस वाले गाली गलौज करने लगे। यादव के अनुसार, पुलिस ने उनसे चाबी छीन ली। वहां मौजूद दो पत्रकार में से एक ने अपनी जेब से प्रचलन से बाहर हो चुके पुराने नोटों की गड्‌डी निकाली और पुलिस वालों को दी। उसमें 500 रुपए के पुराने नोट (कुल 49 हजार रुपए) थे। इसके बाद पुलिस गाड़ियाें के साथ हमें पकड़कर थाने ले आई। थाने में देशद्रोह का केस लगाने की बात कहकर 2-2 लाख रुपए मांगे। 2-2 लाख के मान से 4 लाख रुपए ले लेने के बाद भी केस दर्ज कर दिया। एसपी ने पांचों पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया।

यशवंत के बहनोई से 2 लाख रुपए लिए, कॉल रिकार्डिंग में फंसे पुलिसकर्मी
शिकायतकर्ताओं का कहना है कि करैरार पुलिस ने थाने में उनके मोबाइल फोन छीन लिए थे। यशवंत सिंह ने मोबाइल मांगा तो दो घंटे बाद उनका मोबाइल मिला। पुलिस ने दो-दो लाख रुपए रिश्वत मांगी तो यशवंत ने अपने बहनोई शैलेंद्र सिंह से फोन पर 2 लाख रुपए का इंतजाम करने की बात कही। पूरी घटना भी बताई। फिर आरक्षक अनिल यादव ने कहा कि करैरा थाने का एक सिपाही अमित यादव ड्यूटी दिन समाप्त करके दतिया चला गया है।

आप अपने रिश्तेदार शैलेंद्र से कहाे कि दो लाख रुपए सिपाही अमित के पास पहुंचा दे और अमित सिपाही का फोन जब तुम्हारे मोबाइल पर आ जाए कि मेरे पास दो लाख रु. आ गए हैं तो हल्की धारा लगाकर तुम्हे छुड़वा दूंगा। इस दौरान यशवंत और उनके रिश्तेदार शैलेंद्र की कई बार बात हुई। जब शैलेंद्र ने दो लाख रुपए का इंतजाम कर सिपाही अमित के पास दतिया निवास पर पहुंचा दिए तो अमित ने यशवंत के मोबाइल पर सिपाही सतीश यादव बात करके बता दिया कि पैसा आ चुका है। इसी कॉल रिकॉर्डिंग के आधार पर पुलिसकर्मी फंस गए।

नितेंंद्र के करैरा निवासी रिश्तेदार के माध्यम से थाने पर लिए रुपए
नितेंद्र राय ने अपने रिश्तेदार बालगोविंद शिवहरे निवासी शिवहरे मार्केट करैरा से दो लाख रुपए का इंतजाम करने के लिए कहा। बालगोविंद शिवहरे ने रुपए लाकर दिए। कुछ पैसे नितेंद्र राय के पास थे। कुल मिलाकर दो लाख रुपए नितेंद्र ने पुलिस को थाने पर दिए थे। इसके बावजूद भी पुलिस ने कहा कि पैसे तो ले ही लिए हैं, अगर इन पर मुकदमा दर्ज नहीं लिखोगे तो ये नेतागिरी करेंगे। इसके बाद पुलिस ने इनके खिलाफ केस दर्ज कर लिया। इसके बाद करैरा कोर्ट के माध्यम से दोनों ने गाड़ी छुड़वाई।

खबरें और भी हैं...