पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57684.791.09 %
  • NIFTY17166.91.08 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47590-0.92 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61821-0.24 %
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • The People Of Chandpur Say That The Village Is Under The Drowning Of Sindh River, Should Be Settled Elsewhere, Ineligible People Are Getting Financial Assistance, SDM Said Get The List Done Again

बाढ़ पीड़ितों ने किया हाइवे जाम:चांदपुर के लोगों का कहना सिंध नदी के डूब में हैं गांव, कहीं और बसाया जाए, अपात्र लोगों को मिल रही है आर्थिक सहायता, SDM बोले- फिर से सूची बनवाते हैं

ग्वालियर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चांदपुर गांव के लोग हाइवे पर ट्रैफिक जाम करते हुए, उनकी मांग है कि उनको सरकार कहीं और बसाए - Money Bhaskar
चांदपुर गांव के लोग हाइवे पर ट्रैफिक जाम करते हुए, उनकी मांग है कि उनको सरकार कहीं और बसाए
  • - ग्वालियर-झांसी हाइवे पर दो घंटे चला हंगामा

ग्वालियर के डबरा में चांदपुर गांव के लोगों का गुस्सा सातवें आसमान पर है। जिन लोगों के घर पानी में डूबे हैं उनको कोई मदद नहीं मिली, अपात्र लोगों को आर्थिक सहायता पहुंच गई। गांव के लोगों का यह भी कहना है कि सिंध नदी की डूब में उनका गांव है। उन्हें शासन कहीं और सरकारी जमीन लेकर बसाए।

अपनी मांगों को लेकर गांव के लोग 2 घंटे तक हाइवे पर बैठे रहे। हंगामा बढ़ता देख SDM प्रदीप कुमार मौके पर पहुंचे और आक्रोशित गांव वासियाें से बात की। लोगोंं की मांग को लेकर SDM ने मदद का आश्वासन दिया है। फिर से नए सिरे से सूची में नाम चेक करने की बात भी कही है। जिसके बाद लोग माने हैं। इस दौरान करीब 2 घंटे तक हाइवे पर ट्रैफिक बंद रहा।

अपनी मांगों को लेकर हाइवे पर खड़े बाढ़ पीड़ित
अपनी मांगों को लेकर हाइवे पर खड़े बाढ़ पीड़ित

अंचल में 1-2 अगस्त की दरमियानी रात श्योपुर, शिवपुरी, ग्वालियर, दतिया में सिंध नदी के कारण बाढ़ ने भारी तबाही मचाई थी। इस तबाही में ग्वालियर के डबरा-भितरवारके 46 गांव तबाह हुए थे। इनमें से एक है सिंध नदी के किराने बसा चांदपुर गांव। यहां आज भी स्थिति सामान्य नहीं हुई है। पहले ही गांव सिंध नदी के डूब क्षेत्र में है। कभी भी सिंध नदी में पानी का जलस्तर बढ़ता है तो यहां पानी भर जाता है। इस बार की तबाही में लोगों की 50 साल की जमा पूंजी बर्बाद हो गई है। अब जब सरकार आर्थिक मदद कर रही है तो उसमें भी कुछ अफसर और स्थानीय छोटे नेता अपने-अपने लोगों को फायदा पहुंचाने उनके नाम सूची में जुड़वा रहे हैं। जिस कारण असली पीड़ित हाइवे पर तिरपाल तानकर रहने को विवश हैं। यही कारण था कि शुक्रवार को आक्रोशित चांदपुर गांव के लोगों ने ग्वालियर-झांसी हाइवे पर जाम लगा दिया। गांव के लोग एक साथ हाइवे पर जाकर बैठ गए। हंगामा और हाइवे पर जाम की सूचना मिलते ही डबरा पुलिस मौके पर पहुंच गई और स्थिति को संभालने का प्रयास किया, लेकिन 2 घंटे तक हंगामा चलता रहा। हंगामे की सूचना मिलते ही SDM प्रदीप कुमार पहुंचे। उन्होंने लोगों को समझाया। उनकी समस्याओं को सुना और हर संभव मदद का आश्वासन दिया। साथ ही SDM के आश्वासन पर जाम खुल सका।
चांदपुर के लोगों ने यह मांगे रखीं
- गांव में अपात्र लोगों को आर्थिक सहायत मिली है, जबकि पीड़ित परेशान हो रहे हैं।
- जिला प्रशासन सूची नए सिरे से बनवाए, पात्र लोगों को शामिल किया जाए।
- चांदपुर गांव को शासन किसी अन्य जगह शासकीय जमीन पर बसाए।
- जिससे बार-बार बाढ़ आने पर यह हालात न बनें।
- आर्थिक सहायता काफी कम है इससे मकान बनाना तो दूर मरम्मत भी संभव नहीं है

खबरें और भी हैं...