पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • In Gwalior, A Bullion Trader Bought 1 Kg 100 Grams Of Gold From A Businessman, Handed Over The Check Of The Closed Account, FIR After 2 Years

विश्वास में मिला धोखा...:सराफा कारोबारी ने दूसरे कारोबारी से 1 किलो 100 ग्राम सोना खरीदा, थमाया बंद खाते का चेक, 2 साल बाद FIR

ग्वालियर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Money Bhaskar
फाइल फोटो

ग्वालियर में आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए व्यापारी ने सोने के 1 किलो 100 ग्राम के पुश्तैनी गहने साथी सराफा कारोबारी को बेचे। 2 साल पहले कारोबारी ने 25 लाख रुपए में गहने खरीदे। पांच दिन में पैसे देने की बात कही। उसके बाद वह टालने लगा। घटना नवंबर 2019 थाटीपुर की है। इसके बाद कोविड और फिर अन्य बहाने बनाता रहा। इसके बाद पीड़ित ने कुछ समय पहले थाने में शिकायत की। घबराकर कारोबारी ने पंजाब नेशनल बैंक का 8 नवंबर का चेक थमा दिया। जब व्यापारी ने चेक बैंक में लगाया तो पता लगा कि यह अकाउंट तो बंद हो चुका है। इसके बाद थाना में शिकायत की।

उपनगर मुरार के गंगामाई संतर निवासी वैंणीशंकर शर्मा पुत्र मिट्‌ठु लाल शर्मा कारोबारी हैं। नवंबर 2019 में उनकी आर्थिक स्थिति खराब हो गई थी। उन्होंने घर के पुश्तैनी गहने व सोना करीब 1 किलो 100 ग्राम सोना थाटीपुर के विवेकानंद चौराहे स्थित सुंदरम ज्वेलर्स के यहां बेचा था। सुंदरम ज्वेलर्स के संचालक लक्ष्मी नारायण स्वर्णकार ने सोने का वजन करने के बाद टांका काटकर 25 लाख 08 हजार 500 रुपए में सोना खरीदना तय किया।

पेमेंट के लिए 5 से 10 दिन का समय मांगा
सौदा तय होने के बाद सराफा कारोबारी ने सोना अपने पास रखकर उन्हें 5 से 10 दिन का समय दिया था। उसके बाद वह चक्कर लगाते रहे, लेकिन पेमेंट देने के नाम पर दो-चार दिन की कहकर कारोबारी टालता रहा। इस बीच, मार्च 2020 से लेकर जुलाई 2021 का समय कोविड के संकट में निकले। सराफा कारोबारी ने हालात का बहाना बना दिया। काफी समय बीतने पर भी कारोबारी ने रुपए नहीं दिए, तो पीड़ित ने पुलिस से शिकायत की, तो आरोपी ने उन्हें पंजाब नेशनल बैंक का चेक 8 नवंबर 2021 की डेट का थमा दिया।

बंद खाते का चेक दिया था
जब सराफा कारोबारी ने पंजाब नेशनल बैंक का चेक दिया, तो वैंणीशंकर को लगा कि चलो अब तो उनका पैसा मिल जाएगा। जब पीड़ित ने चेक बैंक मेें लगाया, तो वह बाउंस हो गया। पड़ताल की तो पता चला कि लक्ष्मीनारायण स्वर्णकार ने जो चेक उन्हें दिया था, वह खाता तो काफी समय से बंद था। ठगी का शिकार कारोबारी थाने पहुंचा। पुलिस ने जांच के बाद केस दर्ज कर लिया है।

पिता के इलाज के नाम कोचिंग संचालक को लगाया चूना
दूसरा मामला थाटीपुर के सुरेश नगर का रहने वाला निरवेन्द्र कदम पुत्र वृंदावन कदम का है।निरवेंद्र की मयूर मार्केट में पॉइंट ऑफ एजुकेशन नाम से कोचिंग है। वर्ष 2017 में उनके मित्र मुकेश कुमाार जिझोतियाने पिता की बीमारी की कहकर उनसे 2 लाख 20 हजार रुपए उधार लिए थे। इसके बाद काफी समय बीत गया, तो उन्होंने अपने रुपए वापस मांगे इस पर मुकेश ने दो चेक उन्हें थमा दिए।

जब उन्होंने चेक बैंक में लगाए तो बाउंस हो गए। चेक बाउंस होते ही वह मुकेश के पास पहुंचे। वह आजकल की कहकर टरकाता रहा। जब उसने दबाव बनाया, तो घर खाली कर चला गया। मुकेश के घर खाली कर जाने का पता चलते ही कोचिंग संचालक ने थाटीपुर थाने पहुंचकर मामले की शिकायत की। पुलिस ने उनकी शिकायत पर मामला दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी है।

पुलिस का कहना
मामले में ASP क्राइम राजेश डंडौतिया का कहना है कि व्यवसायी की शिकायत पर सराफा कारोबारी के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया है। सराफा कारोबारी की तलाश शुरू कर दी है। जांच में जो तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...