पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जानें, NDA में कैसे पाएं सक्सेस:एक्सपर्ट बोले- स्मार्ट स्टडी प्लान बनाएं; रिटर्न, फिजिकल के साथ कॉन्सेप्ट क्लियर रखें तो कामयाबी पक्की

ग्वालियर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

NDA (नेशनल डिफेंस एकेडमी) का टेस्ट पास करना और डिफेंस में ऑफिसर बनकर खुद और देश का नाम रोशन करना हर युवा का सपना होता है, लेकिन यह टेस्ट इतना कठिन होता है कि सही प्लानिंग और मार्गदर्शन न मिले तो सफलता नहीं मिल सकती। NDA की परीक्षा में अच्छा स्कोर हासिल करने के लिए छात्रों को 'स्मार्ट स्टडी प्लान' के साथ ही शेड्यूल भी सुव्यवस्थित करना चाहिए।

सबसे पहले NDA परीक्षा में पूछे जाने वाले सिलेबस का विश्लेषण करें। उसके बाद महत्वपूर्ण टॉपिक को हाइलाइट्स करें। छात्रों को बेसिक टॉपिक से साथ तैयारी में आगे बढ़ना चाहिए।कॉन्सेप्ट क्लियर रखें। साथ ही, रिटर्न और फिजिकल की पूरी तैयारी करें। इसके बाद NDA टेस्ट में सफलता को कोई नहीं रोक सकता। NDA टेस्ट में सफलता के बारे में एक्सपर्ट जितेन्द्र शर्मा (को-ऑर्डिनेटर, जादौन डिफेंस अकादमी) से जानें...

डिफेंस की तैयारी करते छात्र-छात्राएं
डिफेंस की तैयारी करते छात्र-छात्राएं

मैथ्स के साथ ही इन विषयों पर भी दें ध्यान
NDA की परीक्षा संघ लोक सेवा आयोग करता है। इसके जरिए ही तीनों सेनाओं में लेफ्टिनेंट बनते हैं। लिखित परीक्षा में पास होने वाले अभ्यर्थियों को SSB टेस्ट में शामिल होने का मौका मिलता है। परीक्षा में दो पेपर होते हैं। पहला गणित और दूसरा पेपर सामान्य क्षमता का होता है, जिसमें अंग्रेजी के साथ ही इतिहास, भूगोल, रसायन विज्ञान विषयों के साथ ही सामान्य ज्ञान के सवाल पूछे जाते हैं। दोनों पेपर में अच्छा स्कोर करने पर ही NDA परीक्षा में सफलता मिलती है।

अंग्रेजी है NDA में सक्सेस की मास्टर "की'
NDA में सफलता के लिए अंग्रेजी में दक्ष होना जरूरी है। इस परीक्षा में लिखित के साथ ही इंटरव्यू में भी अंग्रेजी परखी जाती है। अगर अंग्रेजी विषय का ज्ञान अच्छा होगा तभी आप NDA की लिखित परीक्षा के बाद साक्षात्कार तक पहुंचेंगे। साक्षात्कार में सिलेक्शन के वक्त अभ्यर्थियों की अंग्रेजी बोलने की क्षमता का परीक्षण किया जाता है। इसलिए NDA में सफलता के लिए इंग्लिश स्पीकिंग पर विशेष ध्यान दें। इसे मजबूत बनाएं।

सॉल्व सवालों से मिलेंगे नए सवाल
NDA की तैयारी कर रहे विद्यार्थियों को पिछले सालों के सॉल्वड प्रश्न पत्रों को जरूर हल करना चाहिए। अगर आप ऐसा करेंगे तभी सही दिशा में पढ़ाई कर पाएंगे। इसके जरिए NDA में पूछे जाने वाले प्रश्नों के पैटर्न का अंदाजा लगेगा। इससे छात्र को कम समय में ज्यादा तैयारी का मौका मिलेगा।

नोट्स बनाकर रिविजन करना है सफलता की कुंजी
NDA की तैयारी कर रहे विद्यार्थियों को नोट्स बनाकर समय-समय पर उसका रिविजन करना चाहिए। स्मार्ट स्टडी के साथ ही रिविजन भी इस परीक्षा में सफलता की कुंजी है। स्टडी के साथ ही विद्यार्थी जितना रिविजन करेंगे, उनको चीजें उतनी ही याद रहेंगी। विद्यार्थियों को गैर-जरूरी टॉपिक से बचना चाहिए, सिर्फ महत्वपूर्ण टॉपिक पर फोकस करना चाहिए। जब आप मेहनत के साथ ही सही दिशा, सही टॉपिक और टाइम मैनेजमेंट के साथ आगे बढ़ेंगे, तभी सफलता हासिल कर सकेंगे।

फिजिकल पर फोकस
विद्यार्थियों को पढ़ाई के साथ ही स्वास्थ्य का भी ख्याल रखना चाहिए, क्योंकि इस परीक्षा में लिखित के साथ ही आपकी पर्सनालिटी और हेल्थ भी महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती है। परीक्षा के बाद फिजिकल भी होता है। उसको भी क्लियर करना उतना ही जरूरी होता है, जितना कि रिटर्न टेस्ट को। इसलिए फिजिकल की भी तैयारी करते रहें।

खबरें और भी हैं...