पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57684.791.09 %
  • NIFTY17166.91.08 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47590-0.92 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61821-0.24 %
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Bullion Traders Had Bought Jewelry Worth Rs 1.97 Crore From The Nursing Home Operator, Neither Sold Nor Returned The Jewellery, Every Time A New Excuse Was Available On Demand.

ग्वालियर में दोस्ती में दगा, FIR:सराफा कारोबारी परिवार ने नर्सिंग होम संचालक से 1.97 करोड़ के गहने बिकवाने के बहाने लिए, फिर लौटाए नहीं

ग्वालियरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Money Bhaskar
फाइल फोटो

ग्वालियर में सराफा कारोबारी परिवार ने डॉक्टर को दोस्ती में धोखा दिया है। कारोबारी परिवार, नर्सिंग होम संचालक से उनके 1.97 करोड़ रुपए के गहने बिकवाने के लिए ले गया था, लेकिन इसके बाद न तो गहने वापस मिले और न ही रुपए आए। घटना साल 2016 लक्ष्मीबाई कॉलोनी की है। सराफा कारोबारी ने कुछ चेक बतौर सिक्युरिटी दिए, लेकिन वह भी बाउंस हो गए। आखिर में परेशान होकर डॉक्टर ने पड़ाव थाना पुलिस को मामले की शिकायत की है। पुलिस ने सराफा कारोबारी उनके परिवार के चार सदस्यों पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया है।

शहर की लक्ष्मीबाई कॉलोनी निवासी वीरेन्द्र माहेश्वरी डॉक्टर हैं। लक्ष्मीबाई कॉलोनी में उनका नर्सिंग होम है। अजीत जैन, विमल कुमार जैन, अनिकांत जैन व वर्षा जैन सराफा कारोबारी हैं। सराफा बाजार में अजीत कुमार विमल चन्द्र एवं विमल ज्वेलर्स के नाम से फर्म है, जो एक ही परिसर में चलती है। डॉक्टर व अजीत जैन के बीच पुराने पारिवारिक संबंध हैं। 2016 में उन्होंने व उनकी पत्नी और बेटी ने अपने पुराने जेवर बेचने के लिए दिए थे। इनकी कीमत 1 करोड़ 97 लाख रुपए थी। उस समय पैमेंट न होने के कारण आरोपियों ने एक साल बाद ब्याज साथ भुगतान करने का वादा किया था और बतौर सिक्युरिटी कुछ चेक दिए थे। पर एक साल गुजरने के बाद भी व्यापारियों ने न तो ब्याज के रुपए दिए न ही जेवरों की कीमत। साथ ही गहने भी नहीं लौटाए।

चेक लगाए तो हुए बाउंस

एक साल बाद जब डॉक्टर ने बैंक में चेक लगाए तो सभी चेक बाउंस हो गए। चेक बाउंस होते ही डॉक्टर ने रुपए मांगे और रुपए नहीं दे पाने की स्थिति में गहने वापस करने का दबाव बनाया तो आरोपी हर बार एक नई परेशानी और नया बहाना बनाते रहे। परेशान डॉक्टर ने मामले की शिकायत कुछ समय पहले पड़ाव पुलिस से की। पुलिस ने शिकायत की जांच करने के बाद आरोपियों अजीत कुमार जैन विमल कुमार जैन, अनिकांत जैन निवासी पारखजी का बाड़ा लश्कर एवं वर्षा जैन (गर्ग) पुत्री विमल कुमार जैन निवासी दाल बाजार के खिलाफ FIR दर्ज कर ली है।

अच्छे दाम में बिकवाने का दिया था झांसा
डॉक्टर ने शिकायत करते हुए पुलिस को बताया कि आरोपी उसके परिवारिक मित्र थे इसलिए विश्वास था। उन्होंने पुराने जेवर को अच्छी कीमत पर बिकवाने का झांसा दिया था। जिससे वह उनके झांसे में आ गए और पुराने संबंध होने के चलते उन पर विश्वास किया था। पर यह नहीं पता था कि वह इस तरह धोखा देंगे। अब जब वह उनसे अपने गहने या रुपए वापस मांगते हैं तो आरोपी उनसे गाली गलौज कर जान से मारने की धमकी देते हैं।

पुलिस का कहना
इस मामले में TI पड़ाव विवेक अष्ठाना ने बताया कि डॉक्टर की शिकायत पर सराफा कारोबारी के खिलाफ धोखाधड़ी की FIR दर्ज कर ली है। मामले की जांच की जा रही है। जांच में जो तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर कार्रवाई को आगे बढ़ाया जाएगा। जिन पर आरोप है उनको भी थाने बुलाया जाएगा।