पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX60777.52-0.24 %
  • NIFTY18068.9-0.6 %
  • GOLD(MCX 10 GM)475300.32 %
  • SILVER(MCX 1 KG)648840.32 %

आकाशवाणी के इंजीनियर से मोबाइल लूट:ग्वालियर में खाना खाने के बाद टहलने निकले इंजीनियर पर झपट्‌टा मारकर बाइक सवार बदमाश मोबाइल लूट ले गए

ग्वालियरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इंजीनियर अरुण पांडे, जिन पर बदमाशों ने झपट्‌टा मारकर मोबाइल लूट लिया - Money Bhaskar
इंजीनियर अरुण पांडे, जिन पर बदमाशों ने झपट्‌टा मारकर मोबाइल लूट लिया

ग्वालियर में मोबाइल पर बात करते हुए टहल रहे इंजीनियर पर झपट्‌टा मारकर बाइक सवार बदमाश फोन लूट ले गए हैं। घटना पड़ाव स्थित रेसकोर्स रोड की है। वारदात के बाद इंजीनियर ने बदमाशों को पकड़ने दौड़ लगाई और शोर भी मचाया, लेकिन बदमाश बाइक को गति देकर भाग निकले। घटना का पता चलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और जांच के बाद मामला दर्ज कर लिया है। पिछले कुछ दिनों में लगातार शहर में मोबाइल लूट की वारदात हो रहीं है। पुलिस इन वारदातों को रोकने में नाकाम साबित हुई है।
पड़ाव इलाके में आकाशवाणी कॉलोनी निवासी 55 वर्षीय अरुण कुमार पाण्डे पुत्र हृदय नारायण पाण्डे आकाशवाणी में इंजीनियर हैं। रविवार रात को खाना खाने के बाद वॉक करने के लिए रेसकोर्स रोड पर पहुंचे। तभी उनके मोबाइल पर कॉल आया। कॉल रिसीव कर वह बातचीत कर ही रहे थे कि इसी समय पीछे से काली बाइक पर सवार तीन बदमाश आए और उनके हाथ पर झपट्‌टा मारकर मोबाइल लूट ले गए। वारदात के बाद अरुण ने बदमाशों का पीछा करते हुए शोर भी मचाया, लेकिन तब तक बदमाश बाइक को गति देकर भाग निकले। मामले का पता चलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और जांच के बाद मामला दर्ज कर बदमाशों की तलाश शुरू कर दी है।
CCTV से बदमाशों की तलाश
पुलिस अब आरोपियों का पता लगाने के लिए पड़ाव ब्रिज से लेकर गोला का मंदिर चौराहे तक लगे CCTV में फुटेज खंगाल रही है। जिससे पता चल सके कि बदमाश कौन थे और किस दिशा से आए थे। जिससे पुलिस आगे लगे CCTV कैमरों की मदद से बदमाशों का रूट पता लगा सकें। जिससे उन्हें पकड़ने में आसानी हो।
यह था हुलिया
लूट के शिकार इंजीनियर ने पुलिस को बताया है कि दोनों बदमाशों की उम्र करीब 25 से 30 साल के बीच थी और दोनों बदमाश साफी से मुंह बांधे हुए थे। दोनों बदमाश मजबूत कद काठी के थे। यदि उन्हें देखेंगे तो पहचान लेंगे।

खबरें और भी हैं...