पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Angered By Biting The Son, The Quackery Doctor Showed Cruelty To The Dog, Beat Him With Slippers, Then Cut Him Like A Vegetable With A Knife And Killed Him.

सनकी झोलाछाप की करतूत:बेटे को काटने से नाराज झोलाछाप डॉक्टर ने बेजुबान पर दिखाई हैवानियत, चप्पलों से पीटा फिर चाकू से काट डाला

ग्वालियर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रविवार को सोशल मीडिया पर एक वीडियो सामने आया है। इसमें एक युवक कुत्ते को बेरहमी से पीट रहा है। पहले चप्पलों से पीटता है फिर गुस्से में धारदार हथियार लेकर कसाई की तरह उसका गला काट देता है। यह VIDEO दिल दहला देने वाला है। जब इसके बारे में पता किया तो जानकारी मिली कि यह वीडियो ग्वालियर के डबरा सिमरिया का है।

इस वीडियो में डॉग पर हैवानियत दिखाने वाला वहीं का एक बंगाली डॉक्टर है। VIDEO भी करीब 8 से 10 दिन पहले का बताया गया है। आवारा कुत्ते ने झोलाछाप डॉक्टर के बेटे को काट लिया था। जानवर से डॉक्टर ने बदला लिया था। घटना की अभी तक पुलिस के पास कोई शिकायत नहीं पहुंची है। डॉक्टर के सनकी मिजाज से गांव वाले भी दहशत में हैं।

झोलाछाप डॉक्टर चाकू से काटते हुए
झोलाछाप डॉक्टर चाकू से काटते हुए

यह है पूरा मामला
10 दिन पहले झोलाछाप डॉक्टर के बेटे को इस आवारा कुत्ते ने काट लिया था। घाव कुछ ज्यादा गंभीर भी नहीं था। इस पर बंगाली डॉक्टर को काफी गुस्सा आया। वह दिन रात इस कुत्ते को तलाश रहा था। घटना के अगले दिन उसे यह आवारा कुत्ता गांव के सरकारी स्कूल के पीछे मिल गया। इसके बाद उसने उसे पकड़ा और गर्दन पर पैर रखकर पीटना शुरू कर दिया।

बेरहमी से काट कर मार डाला
कुत्ते को पकड़ने के बाद बंगाली डॉक्टर ने पहले उसे पीटा, जब वह अधमरा हो गया तो चाकू निकाल कर उसे काट कर मार डाला। उसके कई टुकड़े कर दिए। यह VIDEO गांव के ही कुछ लोगों ने बना लिया था। उस समय तो मामला गर्म था, लेकिन बाद में उसे लोगों ने सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।

एनिकल लवर्स करेंगे मामले की शिकायत
मामले में पुलिस अफसरों का कहना है कि उनके पास किसी भी आवारा कुत्ते को मारने की शिकायत नहीं आई है। डॉग लवर्स छाया तोमर का कहना है कि यह बहुत निंदनीय है। बेजुबान पर इस तरह की हैवानियत दिखाने पर उस झोलाछाप डॉक्टर के खिलाफ मामला दर्ज किया जाना चाहिए। वह जल्द इस मामले में अपने संगठन के साथ पहुंचकर शिकायत करेंगी।