पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57684.791.09 %
  • NIFTY17166.91.08 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47590-0.92 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61821-0.24 %
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • 8.08 Crore Theft In 8 Months, Police Was Able To Recover Only 35 Percent Of Goods From Thieves, Only 16 Percent Of Luxury Vehicles Recovered

बेलगाम चोर:8 महीने में 8.08 करोड़ की चोरी, पुलिस चोरों से बरामद कर पाई सिर्फ 35 फीसदी सामान, लग्जरी वाहनों की बरामदगी 16 प्रतिशत ही हुई

ग्वालियरएक महीने पहलेलेखक: अमित मिश्रा
  • कॉपी लिंक
जनवरी से अगस्त 2021 तक के आंकड़ों के विश्लेषण से पता चला कि शहर में चप्पे-चप्पे पर सीसीटीवी कैमरे लगे हैं, फिर भी पुलिस नाकाम। - Money Bhaskar
जनवरी से अगस्त 2021 तक के आंकड़ों के विश्लेषण से पता चला कि शहर में चप्पे-चप्पे पर सीसीटीवी कैमरे लगे हैं, फिर भी पुलिस नाकाम।

शहर में चोर बेलगाम हैं। साल दर साल चोरी की घटनाएं बढ़ रही हैं, लेकिन जिस तेजी से चोरी के मामले बढ़ रहे हैं, पुलिस चोरों को पकड़ने में नाकाम है। यही वजह है- इस साल जनवरी से लेकर अगस्त के बीच 8 माह में शहर से चोर करीब 8.08 करोड़ रुपए का माल चोरी कर ले गए। लेकिन पुलिस चोरों को पकड़ने के बाद 2.81 करोड़ रुपए का माल ही बरामद कर पाई। यानि करीब 34.85 प्रतिशत माल ही पुलिस बरामद कर पाई।

यह हालात तब हैं, जब शहर के प्रमुख बाजारों से लेकर गली-गली में सीसीटीवी कैमरे हैं, पुलिस के कैमरों से लेकर निजी कैमरे तक हर कोने में लगे हैं। अधिकांश घटनाओं के बाद पुलिस को चोरों के फुटेज भी मिल जाते हैं, लेकिन चोरों तक पहुंचने में पुलिस असफल साबित हो रही है।

हालांकि इस साल बरामदगी प्रतिशत पिछले साल जनवरी की तुलना में 7.25 प्रतिशत बढ़ा है। पिछले साल बरामदगी का आंकड़ा 27.60 प्रतिशत था, जो इस साल बढ़कर 34.85 प्रतिशत तक पहुंच गया है। लेकिन चोरी गए कुल माल की मशरुका इस बार बढ़ी है, यानि चोरी की घटनाओं में भी बढ़ोतरी हुई है। पिछले साल जनवरी से अगस्त के बीच 58879782 रुपए का माल शहर से चोरी गया था, जबकि इस साल यह आंकड़ा 80864793 रुपए तक पहुंच गया।

गृह भेदन और लक्जरी वाहन चोरी की वारदातों में लगातार हो रही बढ़ोतरी

गृह भेदन की घटनाएं इस साल करीब 3.80 प्रतिशत बढ़ी हैं। वहीं लक्जरी वाहन चोरी की घटनाएं इस साल अधिक हुई हैं। पिछले साल गृह भेदन की 473 घटनाएं हुई थीं, इस साल 491 घटनाएं जनवरी से अगस्त के बीच हुईं। लग्जरी वाहन चोरी की वारदातों में बरामदगी प्रतिशत करीब 16 प्रतिशत है, जो बेहद कम है।

इन मामलों में कई तो ऐसी घटनाएं हैं, जिनमें जनवरी में गाड़ियां चोरी हुई लेकिन पुलिस अभी तक गाड़ी बरामद नहीं कर पाई। इतना ही नहीं ऐसे मामलों में खात्मा रिपोर्ट भी नहीं लगाई, जिस वजह से लोगों को क्लेम भी नहीं मिल पा रहा।

यह हैं चोरी के हॉट स्पॉट

शहर के मुरार, बहोड़ापुर, हजीरा, सिटी सेंटर, लश्कर इलाके में सबसे ज्यादा चोरी की घटनाएं हुई हैं। यह इलाके चोरी के हॉट स्पॉट हैं, लेकिन फिर भी पुलिस अफसरों ने इन इलाकों में चोरी रोकने और चोरों को पकड़ने के लिए कोई विशेष प्लानिंग नहीं की।

भोपाल से अधिक रिकवरी ग्वालियर में

प्रदेश की राजधानी भोपाल में जनवरी से अगस्त के बीच चोरी की जो घटनाएं हुईं उनमें रिकवरी प्रतिशत करीब 19 प्रतिशत रहा। ग्वालियर से करीब डेढ़ करोड़ रुपए अधिक का माल भोपाल से चोरी गया।

खबरें और भी हैं...