पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57684.791.09 %
  • NIFTY17166.91.08 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47590-0.92 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61821-0.24 %
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • 5 Thousand Rupees Were Transferred To A Friend, If He Did Not Reach, Then The Customer Care Number Was Taken Out From The Internet, Then Sent A Link And It Cost 99 Thousand Rupees

एक साल बाद 99 हजार की ठगी की FIR:दोस्त को ट्रांसफर किए थे 5 हजार रुपए, नहीं पहुंचे तो इंटरनेट से निकाला कस्टमर केयर का नंबर, लिंक मिली और लग गया चूना

ग्वालियर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Money Bhaskar
फाइल फोटो
  • क्राइम ब्रांच ने एक साल बाद दर्ज किया मामला

ग्वालियर में 99 हजार की ठगी होने के एक साल बाद मामला दर्ज किया गया है। मंगलवार शाम क्राइम ब्रांच ने FIR दर्ज की है, लेकिन ऑनलाइन फ्रॉड में 1 साल बाद क्या सबूत मिलेंगे यह तो पुलिस ही जानती है। युवक 6 सितंबर 2020 में गूगल पे से दोस्त को 5 हजार रुपए ट्रांसफर कर रहा था। उसके अकाउंट से कैश निकल गया, लेकिन दोस्त तक नहीं पहुंचा। इंटरनेट से कस्टमर केयर का नंबर निकाला। फेक नंबर मिला। इसके बाद उसे एक लिंक भेजी गई। लिंक खोलते ही खाते से 99 हजार रुपए और निकल गए। ठगी के बाद तत्काल मामले की शिकायत की, लेकिन पुलिस और साइबर एक्सपर्ट टीम ने तत्काल एक्शन ही नहीं लिया। अब जाकर जांच के बाद मामला दर्ज किया गया है।
यह है पूरा मामला
उपनगर मुरार के लाल टिपारा निवासी जितेंद्र कुमार सेन मालनपुर स्थित एक कंपनी में कर्मचारी हैं। उन्होंने बताया कि वह अपने एक दोस्त को ई-वॉलेट (गूगल-पे) के माध्यम से 5 हजार रुपए ट्रांसफर कर रहे थे। उनके अकाउंट से रुपए कट गए, लेकिन दोस्त तक नहीं पहुंचे। इस पर उन्होंने अपने रुपए वापस पाने के लिए इंटरनेट से गूगल-पे का कस्टमर केयर नंबर सर्च किया। यहीं जितेन्द्र से गलती हो गई। उनको यहां से फेक नंबर मिला। जिस पर उन्होंने कॉल किया तो कॉल रिसीव करने वाले ने खुद को गूगल-पे का कस्टमर केयर ऑफिसर बताया। इसके बाद बोले कि सर्वर डाउन होने के कारण कई बार ऐसा हो जाता है। सिर्फ 5 मिनट में आपका बैलेंस वापस कर दिया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि अभी हमारा एक कर्मचारी आपको कॉल करेगा। वह जो बताए वह करते जाना आपका पैमेंट हो जाएगा।
5 मिनट बाद फिर आया कॉल, लिंक खोलते ही 99 हजार रुपए कट गए
करीब 5 मिनट बाद फिर से जितेन्द्र को कॉल आया। कॉल करने वाले ने बताया कि वह कस्टमर केयर से बोल रहा है। उसने 5 हजार रुपए वापस उसके खाते में भेजने के लिए एक लिंक भेजी। जैसे ही जितेन्द्र ने लिंक खोली तो उसका मोबाइल हैंग हो गया। कुछ देर बाद जब मोबाइल सही हुआ तो उसके अकाउंट से 99 हजार रुपए और निकल चुके थे। उसे समझते देर नहीं लगी कि उसके साथ ठगी हुई है। मामले की शिकायत साइबर सेल, राज्य साइबर सेल में की, लेकिन मामले में तत्काल कार्रवाई नहीं की गई। अब एक साल बाद क्राइम ब्रांच ने FIR दर्ज की है।

स्टेट साइबर सेल में अटका था मामला
- इस मामले की जांच कर रहे सब इंस्पेक्टर धर्मेन्द्र शर्मा ने बताया कि फरियादी ने पहले स्टेट साइबर सेल में मामले की शिकायत की थी। वहां से दो दिन पहले जांच हमें मिली है। इसलिए मामला दर्ज करने में देरी हुई है। वहां क्या जांच हुई उस रिपोर्ट को लेकर अपने यहां नए सिरे से जांच शुरू करेंगे।

दो दिन पहले ही मिली है रिपोर्ट

इस मामले की जांच कर रहे सब इंस्पेक्टर धर्मेंद्र शर्मा ने बताया कि फरियादी ने पहले स्टेट साइबर सेल में मामले की शिकायत की थी। वहां से दो दिन पहले ही हमें जांच मिली है। इसलिए मामला दर्ज करने में देरी हुई है। वहां क्या जांच हुई उस रिपोर्ट को लेकर अपने यहां नए सिरे से जांच शुरू करेंगे।

खबरें और भी हैं...