पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57684.791.09 %
  • NIFTY17166.91.08 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47590-0.92 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61821-0.24 %

जयारोग्य अस्पताल:2,920 मरीज पहुंचे, इसमें 38% बच्चे, त्वचा व सर्दी-जुकाम, बुखार से पीड़ित

ग्वालियरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ग्वालियर अंचल के सबसे बड़े अस्पताल जयारोग्य चिकित्सालय में सोमवार को कुल 2920 मरीज इलाज के लिए पहुंचे। बीते कुछ दिनों से दिन और रात के तापमान में अंतर के चलते आ रही परेशानी का ही परिणाम है कि कुल मरीजों में से 38 फीसदी बच्चे, त्वचा और सर्दी-जुकाम और बुखार से पीड़ित लोग रहे। सबसे ज्यादा मरीज मेडिसिन विभाग (505) के रहे।

इसके अलावा इसमें डर्मेटोलाॅजी विभाग में 416 और पीडियाट्रिक विभाग में 202 मरीजों ने इलाज कराया। मरीजों की संख्या का असर दवा और पर्चा बनाने वाले काउंटर पर भी देखने को मिला। दोनों काउंटर पर काफी लंबी लाइन देखने को मिली। वहीं कई मरीज ऐसे भी रहे सारी दवाएं काउंटर से नहीं मिल पाई। दवा का स्टाक खत्म होने के कारण उन्हें बाहर से दवा लेने के लिए कहा गया।

एक्सपर्ट व्यू- -डॉ. अनुभव गर्ग, विभागाध्यक्ष,डर्मेटोलॉजी विभाग

फंगल इंफेक्शन का कारण हमारा पहनावा भी

60%मरीज फंगल इंफेक्शन के आते हैं क्योंकि ये उमस का मौसम रहता है। इसका सबसे बड़ा कारण हमारा पहनावा भी है। आजकल युवा काफी टाइट कपड़े पहनते हैं, रोज धोते भी नहीं है। कॉटन के ढीले कपड़े पहनने में परहेज करते हैं। कई तो ऐसे मरीज भी आते हैं जो ये बताते हैं कि वे अपने दोस्त के कपड़े भी शेयर कर लेते हैं। ऐसे में ये कहना कि मैं तो रोज नहाता हूं, इससे काम नहीं चलेगा। नहाने के बाद साफ कपड़े पहनना भी बहुत जरूरी है।

मौसम में आए बदलाव से बढ़ रहे हैं मरीज

मरीजों की बढ़ती संख्या का सबसे महत्वपूर्ण कारण मौसम में आया बदलाव है। मानसून के मौसम के बाद जो सारी गंदगी इकट्‌ठी हो जाती है। इस में डेंगू व वायरस जनित बीमारियों होने की संभावना काफी बढ़ जाती है। मौसमी बुखार के केस भी काफी आ रहे हैं।
-डॉ. राकेश गहरवार, एसोसिएट प्रोफेसर, मेडिसिन विभाग

खबरें और भी हैं...