पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सामुदायिक अस्पताल में एनबीएसयू की सुविधा नहीं:सरकारी अस्पताल में  नवजात शिशुओं के लिए न्यू बोर्न  सिक यूनिट उपलब्ध नहीं , उपचार  के लिए जिला अस्पताल भेजना पड़  रहा

कैलारस4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में हर महीने 450 प्रसव होने के बाद भी सरकारी अस्पताल में नवजात शिशुओं के लिए न्यू बोर्न सिक यूनिट उपलब्ध नहीं है। इस हाल में बीमार नवजात को उपचार के लिए जिला अस्पताल भेजना पड़ रहा है। अस्पताल में एनबीएसयू शुरू कराने के लिए नागरिकों ने सीएमएचओ डा.राकेश शर्मा के समक्ष प्रस्ताव रखा। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. शर्मा शनिवार को कैलारस अस्पताल की व्यवस्थाओं का अवलोकन करने के लिए पहुंचे तो वहां उपस्थित कस्बा के लोगों समेत डॉक्टर्स ने कहा कि 3 साल पहले तक सरकारी अस्पताल में न्यू बोर्न सिक यूनिट संचालित थी लेकिन बाद में उसे बंद कर दिया गया।

इस स्थिति में रोजाना औसतन पैदा हो रहे 12 से 15 बच्चों में से 4 नवजातों को जन्म लेने के बाद ही तकलीफ होने पर उपचार की जरूरत होती है लेकिन एनबीएसयू की सुविधा न होने से बीमार बच्चों को भर्ती कर इलाज नहीं दिया जा पा रहा है। जबकि एनबीएसयू के सैटअप के लिए अस्पताल में पर्याप्त जगह है। सीएमएचओ ने एनबीएसयू जल्द शुरू कराने का आश्वासन दिया। इधर स्थानीय लोगों ने सीएमएचओ से कहा कि अस्पताल में ब्लड स्टोरेज यूनिट नहीं होने से दान में मिल रहे ब्लड को रखने की सुविधा नहीं है।

इस हाल में इमरजेंसी में किसी को खून की जरूरत हो तो उसे मुरैना जाना पड़ता है। इसलिए सरकारी अस्पताल में ब्लड स्टोरेज यूनिट भी शुरू कराई जाए। निरीक्षण के दौरान अस्पताल के सफाई प्रबंधों पर संतोष व्यक्त किया। इस अवसर पर ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर डॉ शोभाराम मिश्रा,मेडिकल ऑफिसर डा.ध्रुव अग्रवाल, डीपीएम धर्मेंद्र दांतरे उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...