पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Datia
  • The Reason For The Accident Being Erosion And Potholes On The Roads, No Repair Even After Accidents,

अनदेखी:सड़कों पर कटाव और गड्‌ढे बन रहे हादसे की वजह, दुर्घटनाओं के बाद भी मरम्मत नहीं

सेंवढ़ा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 9 वर्ष बाद भी मेंटेनेंस नहीं होने से बढ़ रहीं सड़क की दरारें, नाली नहीं इसलिए हो रहा जलभराव

नगरीय क्षेत्र में सड़क विकास निगम के द्वारा करीब 9 वर्ष पूर्व बनाई गई सड़क पर मेंटेनेंस का अभाव आमजन के लिए घातक होता जा रहा है। खास बात यह है कि गारंटी अवधि पूरी होने के बाद इसी सड़क मार्ग से लगे स्टेट हाइवे 19 का तीन बार मेंटेनेंस हो चुका है तो वहीं नगरीय क्षेत्र में सड़क का मेंटेनेंस नहीं होना आमजन को अखरता है। सड़क पर कई जगह खतरनाक कटाव और गड्‌ढों के कारण यह दिनों-दिन जानलेवा होती जा रही है। मेंटेनेंस को लेकर जिम्मेदार अधिकारियों के द्वारा रुचि नहीं दिखाने के चलते लोगों में गहरा आक्रोश व्याप्त है।

सेंवढ़ा में वर्ष 2012-13 में स्टेट हाईवे 19 की सड़क का निर्माण करवाया गया था। मप्र सड़क विकास निगम (एमपीआरडीसी) के द्वारा दतिया के दिनारा से सेंवढ़ा तक की यह सड़क डामर रोड बनाई गई। इस दौरान इसी विभाग के द्वारा नगरीय क्षेत्र सेंवढ़ा में आरसीसी की सड़क का निर्माण कार्य कराया गया। स्टेट हाइवे 19 का सेंवढ़ा से लेकर दिनारा तक वर्ष 2017-18 में 10 करोड़ की लागत से एक बार फिर मेंटनेंस किया गया, लेकिन नगरीय क्षेत्र के हिस्से की आरसीसी सड़क पर मेंटेनेंस को लेकर कोई काम नहीं किया।

नतीजा यह हुआ कि मेंटेनेंस के अभाव में सड़क पर धीरे-धीरे दरारें बढ़ती ही जा रहीं हैं। नगर के सदर बाजार से लेकर बस स्टैंड और सिविल लाइंस के बीच गड्‌ढे अब हादसे का सबब बनने लगे हैं, जिसमें कोई न कोई बाइक सवार या अन्य वाहन चालक हादसे का शिकार होता हुआ नजर आता है। वहीं नगरीय क्षेत्र की पुरानी सड़क की चौड़ाई के लिए नगर परिषद द्वारा पुरानी सड़क के हिस्से को छोड़कर दोनों ओर 3-3 मीटर का निर्माण और करवाया गया है। ऐसे में वह पुरानी सड़क और जर्जर होती जा रही है, जबकि एमपीआरडीसी के अधिकारी मेंटेनेंस को लेकर ध्यान नहीं दे रहे हैं।

जज बंगले के सामने से लेकर आरसीसी रोड पर हो रहा कटाव
सेंवढ़ा नगरीय क्षेत्र में सिविल जज बंगले के सामने से लेकर रेस्ट हाउस के बीच आरसीसी रोड पर कटाव गहरा होता जा रहा है। इसके कारण दो पहिया वाहनों के गिरने और फिसलने की घटनाएं आम हो गई हैं। यहीं एक बड़ा गड्डा भी सड़क धसकने के कारण हो गया है। जिससे अनबैलेंस होकर वाहन गिरते हैं। स्थानीय लोगों ने इसकी शिकायत अधिकारियों से की पर कोई सुनवाई नहीं हो रही है। साढ़े पांच मीटर चौड़ी यह सड़क दो हिस्सों में बनी। ऐसे में दोनों के बीच में एक पतली से दरार रही। समय के साथ यह दरार बढ़ती गई।

चूंकि सड़क निर्माण काफी घटिया दर्जे का हुआ था और इसके कारण अधिकतर स्थानों पर दरार बढ़ती गई और एक हिस्सा नीचा तथा दूसरा ऊंचा हो गया। इसके अलावा सड़क में भी धसक आने से गड्डे को स्वरूप बन गया। सबसे खराब हालत सिविल जज के बंगले से लेकर रेस्ट हाउस के बीच तक है। यहां सभी अधिकारियों के शासकीय आवास हैं।

बावजूद इसके इस सड़क को दुरुस्त नहीं किया गया। नतीजतन यहां से गुजरने वाले दो पहिया वाहन जैसे ही सड़क कटाव पर आते है अथवा गड्डे में पहिया आता है तो वह अनबैलेंस होकर गिर पड़ते है। वाहनों के गिरने से उसके सवारों को चोटें लगना तथा कई बार फ्रेक्चर होने की भी शिकायतें आती है।

दतिया रोड पर कीचड़ के हालात होने से लोग परेशान, निकलना मुश्किल
एक तरफ जहां नगरीय क्षेत्र में सड़क पर गड्‌ढो की समस्या है। तो दूसरी ओर प्रवेश स्थल पर दतिया रोड से लेकर गायत्री माता मंदिर तक पानी का निकास नहीं होना भी आम लोगों के लिए समस्या का सबब बना हुआ है। दतिया-लहार तिराहे से सेंवढ़ा की ओर प्रवेश करते ही सड़क पर जमा गंदा पानी और मिट्टी इसके स्वरूप को बिगाड़ देती है। थोड़ी बारिश होते ही पूरा पानी सड़क पर भर जाता है। और पैदल निकलने वाले लोगों के लिए दिक्कत बन जाता है। इसके कारण सड़क पर कई जगह गहरे गहरे गड्डों में वाहनों के गिरने से घटनाओं की भी आशंका बनी रहती है।

खबरें और भी हैं...