पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

छतरपुर में डीएपी की रैक रुकवाई, यूरिया उतरवाई:निवाड़ी में रोकी डीएपी की रैंक, झांसी में खड़ी यूरिया की रैक बुलाई

छतरपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

छतरपुर के हरपालपुर में प्रशासन के प्रबंधन फैल और यूरिया की जरूरत मामले पर आई डीएपी की खेप के बाद जिला प्रशासन हरकत में आया यूरिया के लिए परेशान हो रहे किसानों के लिए राहत की खबर है।जिला प्रशासन ने मऊरानीपुर में खड़ी एनएफएल डीएपी की रैक को रोककर झांसी में फंसी यूरिया की रैक पहले बुला ली है।

मामले में कृषि विकास अधिकारी एस के मिश्रा ने बताया कि जिला कलेक्टर संदीप जीआर ने किसानों की सुविधा को देखते हुये यूरिया की रैंक समय डीएपी की रैंक से पहले हरपालपुर स्टेशन पर उतरा कर किसानों को बड़ी राहत प्रदान की है। क्यों कि फसलों में एक पानी लगने के बाद किसानों को यूरिया की जरूरत पड़ती हैं फसलों में छिड़काव के लिए।

बुधवार की सुबह हरपालपुर रैक प्वाइंट पर 2623 मीट्रिक टन यूरिया पहुंच गई। यूरिया की रैक से जिले की 23 सोसाइटियों को 736 मीट्रिक टन यूरिया उपलब्ध कराई जाएगी। इसके अलावा 787 मीट्रिक टन 18 निजी विक्रेताओं को उपलब्ध कराई जाएगी। इसके साथ ही एमपी एग्रो समेत 6 डबल लॉक गोदामों को 661 मीट्रिक टन यूरिया उपलब्ध कराई जा रही है। रैक से 75 मीट्रिक टन टीकमगढ़ के पलेरा भी भेजी जा रही है।

बुधवार सुबह यूरिया की रैक आने बाद तहसीलदार सुनीता साहनी कृषि विकास अधिकारी एस.के मिश्रा सुरेंद्र अग्रवाल, व्ही.के शुक्ला द्वारा रैंक पॉइंट पर यूरिया की रैंक का निरीक्षण कर अपनी निगरानी में यूरिया का परिवहन शुरू करवाया। रैंक पॉइंट से मार्कफेड गोदामों सहकारी समितियों में सीधा भेजा जा रहा हैं परिवहन ठेकेदार रणछोड़ चौरसिया ने बताया यूरिया के समय परिवहन के लिए आधा सैकड़ा ट्रैकों को लगा कर परिवहन किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...