पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

छतरपुर में बोर खुला रखने के कारण FIR:पिता-पुत्र के खिलाफ धाराओं में दर्ज हुआ केस, पढ़ें...क्या है पूरा मामला

छतरपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

छतरपुर पुलिस ने कल खेत में बने बोर से बच्चे को सकुशल निकालने के बाद आज बोर को खुला छोडने वाले 2 व्यक्तियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। बता दें कि कल बुधवार 29 जून 2022 को थाना ओरछा रोड़ क्षेत्र के ग्राम नारायणपुरा में रमेश यादव के खेत में उसी का 4-5 साल का पोता (बेटे का बेटा) बालक दीपेन्द्र यादव खुले बोर में गिर गया था जिससे उसकी जान पर बन आई थी।

कलेक्टर के सुपरविजन में रेस्क्यू

उक्त पूरे रेस्क्यू मामले में कलेक्टर संदीप जी.आर. के नेतत्व में समस्त प्रशासनिक अमला और एस.पी. सचिन शर्मा के निर्देशन में पुलिस अमला, छतरपुर CMO ओमपाल सिंह भदौरिया सहित एवं SDRF, एवं NDRF की टीमों के साथ जे.सी.बी. मशीनों एवं पोकलेन मशीनों के द्वारा रेसक्यू कार्य सम्पन् किया गया। और करीब 7 घंटे के रेस्कयू आपरेशन के पश्चात बच्चे को सकुशल बाहर निकाला गया।

बोर किया बंद

रेसक्यू के बाद खेत में जे.सी.बी. मशीनों द्वारा खोदे गये हिस्से को समतल कराया गया। और बोर को भी बंद कर दिया गया।

पिता-पुत्र पर मामला दर्ज

मामले में बोर ऐसी क्षति कारित करने के आशय एवं ज्ञान से बिना ढके खोला छोडा गया था ताकि किसी व्यक्ति की मृत्यु हो सकती थी। मामले में उपरोक्त अपराधिक कृत्य के लिये ग्राम नारायणपुरा निवासी दोनों पिता-पुत्र (अखिलेश यादव पिता रमेश यादव एवं रमेश यादव पिता रामी यादव) ओरछा रोड़ के विरूध्द धारा 308 ता.हि. के तहत मामला दर्ज किया गया है। आरोपियों में से रमेश यादव बालक दीपेन्द्र यादव का दादा है, तथा अखिलेश यादव बालक का पिता है।

खबरें और भी हैं...