पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ऐसे तो गर्मी में गहरा जाएगा जलसंकट!:जमोनिया डेम और काहिरी बंधान से पंप लगाकर हो रहा पानी चोरी, जमोनिया में सिर्फ 17 फीट पानी बचा

सीहोर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जमाेनिया तालाब से पाइप लाइन बिछाकर कर रहे पानी की चोरी - Money Bhaskar
जमाेनिया तालाब से पाइप लाइन बिछाकर कर रहे पानी की चोरी

जिले में एक बार फिर प्रशासन की लापरवाही के कारण पेयजल स्त्रोतों से आरक्षित पानी लगातार चोरी हो रहा है। यदि पेयजल की चोरी पर अंकुश नहीं लगाया गया तो गर्मी के दौर में जलसंकट गहराने के हालात बन सकते हैं। बीते साल जिले में सामान्य से कम बारिश हुई थी। गर्मियों में जलसंकट की स्थिति नहीं बने, इसलिए पानी सहेजना जरूरी है। नगर पालिका और प्रशासन का इस ओर ध्यान नहीं है।

सीहोर की लाइफ-लाइन कहे जाने वाले काहिरी बंधान और जमोनिया तालाब से बड़ी मात्रा में पानी चोरी हो रहा है। बड़ी संख्या में लोग तालाब ऐ पंप के जरिए पानी की चोरी कर रहे हैं। जमोनिया डेम में अनेकों किसानों ने तालाब की पाल को खोदकर पाइन लाइन और बिजली के तार बिछा रखे हैं। किसान इसी पानी से फसलों की सिंचाई कर रहे हैं।

सामान्य बारिश हुई, घटने लगा जलस्तर
बीते साल सीहोर में सामान्य से कम बारिश रिकार्ड हुई थी। ऐसे में जिले के अधिकांश तालाब खाली रह गए। नगर की प्यास बुझाने वाला जमोनिया तालाब भी पूरी तरह से नहीं भर पाया। अभी गर्मी दूर है, लेकिन तालाबों का जलस्तर तेजी से गिरता जा है। जमोनिया डेम का जलस्तर करीब 17 फीट हो चला है जो चिंता की बात है। ऐसे में यदि इसी रफ्तार से तालाब से पानी की चोरी होती रही तो कहीं गर्मियों में शहर में बडा जलसंकट खड़ा नहीं हो जाए।

टीम भेजकर कार्रवाई करते हैं
एनसी राठौर, सब इंजीनियर, जलशाखा नगर पालिका सीहोर का कहना है कि पानी चोरी की जानकारी नहीं है, यदि ऐसा हो रहा है तो टीम भेजकर कार्यवाही करेंगे। अभी जमोनिया तालाब में पर्याप्त पानी है गर्मियों में कोई समस्या नहीं होगी।