पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Sehore
  • Preparation To Build Kovid Center In Every Block, 100 Bedded Kovid Center Built In New Sports Residential Hostel

सीहोर में 57 नए कोरोना संक्रमित:हर ब्लाॅक में कोविड सेंटर बनाने की तैयारी, नए खेलकूद आवासीय छात्रावास में 100 बिस्तरों वाला कोविड सेंटर बनाया

सीहोर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जिले में कोरोना के केस पहुंचे 300 के पार - Money Bhaskar
जिले में कोरोना के केस पहुंचे 300 के पार

जिले में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। शहर के साथ ही ग्रामीण इलाकों में भी बड़ी संख्या में मरीज सामने आ रहे हैं। रविवार को 57 नए संक्रमित मरीज मिले। आष्टा 4, श्यामपुर में 3, नसरुल्लागंज में 4, इछावर में 4, बुधनी में 28 नए मरीज मिले हैं। अभी 1234 लोगों की जांच रिपोर्ट आना बाकि यहां कुल एक्टिव केसों की संख्या 300 हो गई है।

कैसी हैं स्वास्थ्य व्यवस्थाएं, कितने तैयार हैं हम
संक्रमितों की बढ़ती संख्या ने जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के भी होश उड़ा दिए हैं। प्रशासनिक स्तर पर कोविड सेंटरों में तैयारियों काफी तेज कर दी गई है। सीहोर सीएमएचओ सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि ब्लाॅक आष्टा, इछावर, बुधनी, नसरुल्लागंज, सीहोर में एक- एक कोविड सेंटर बनाया जाएगा, तैयारी लगभग पूरी हो चुकी है। जिला मुख्यालय पर नवीन आवासीय छात्रावास भवन में 100 बिस्तर का कोविड सेंटर तैयार हो गया है। जहां पर पंलग और बिस्तर लगा दिए गए हैं। अभी मरीजों को होम आइसोलेट किया जा रहा है। वहीं, सीहोर जिला अस्पताल में 30, आष्टा 10, नसरुल्लागंज में 10 बिस्तर का आईसीयू बनकर तैयार हैं।

जागरुकता के साथ जुर्माना भी
संक्रमण को रोकने के लिए जिला प्रशासन और नगरपालिका अमले द्वारा सयुंक्त कार्यवाही की जा रही है। शनिवार को नगर के विभिन्न स्थानों पर मास्क न लगाने वालों के खिलाफ जुर्माने की कार्यवाही की गई। इस दौरान सीहोर एसडीएम बृजेश सक्सेना, नगरपालिका स्वच्छता शाखा प्रभारी अमित यादव सहित अमला मौजूद रहा। यादव ने बताया कि बिना मास्क के घूम रहे लोग और दुकानदारों के चालान बनाए गए। शनिवार को 4 हजार रुपए जुर्माना वसूला गया।

एसडीएम बृजेश सक्सेना कहते हैं कि जरूरत के मुताबिक मिनी कंटेनमेंट बनाए जा रहे हैं। जिन घरों में ज्यादा संक्रमित मरीज निकल रहे हैं। वहीं, पर बेरिकेडिंग की जा रही है। मरीजों को मेडिकल कीट देकर घरों में रहने की हिदायत दी गई है। रोजाना फोन पर उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली जाती है। किसी को ज्यादा दिक्कत हो उस मरीज को ही कोविड सेंटर या फिर अस्पताल में रखा जाएगा।