पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Rajgarh
  • Action On The Instructions Of CM, Investigation Of 120 Ration Shops; From Collector To Naib Tehsildar Engaged In Investigation Of Ration Shops

24 दल मैदान में उतरे:सीएम के निर्देश पर एक्शन 120 राशन दुकानों की जांच; कलेक्टर से लेकर नायब तहसीलदार तक राशन दुकानों की जांच में जुटे

राजगढ़4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पपड़ेल गांव में राशन दुकानों की जांच करते हुए अपर कलेक्टर। - Money Bhaskar
पपड़ेल गांव में राशन दुकानों की जांच करते हुए अपर कलेक्टर।
  • 4 गांवों की राशन दुकानों के संचालकों के खिलाफ एफआईआर
  • 8 दुकानों में अनियमिता मिलने पर वरिष्ठ कार्यालय को लिखा
  • जांच में अधिकारी तैनात रहे, प्रत्येक को 5-5 दुकानों की जांच सौंपी

सहकारी दुकानों से राशन वितरण में गड़बड़ी की शिकायत पर शनिवार काे छायन गांव में मंच से जिला खाद्य अधिकारी और खाद्य निरीक्षक काे निलंबित करने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चाैहान ने सभी सहकारी राशन दुकानों की जांच के निर्देश दिए थे। मुख्यमंत्री के निर्देश से हरकत में आए प्रशासन ने अगले ही दिन रविवार काे जिले में 120 दुकानों की जांच शुरू की। गड़बड़ी मिलने पर 4 राशन दुकानदारों पर एफआईआर भी कराई जा रही है। 2 दुकानें निरस्त की गईं, वहीं 8 दुकानदारों पर कार्रवाई के लिए वरिष्ठ कार्यालय को लिखा है।

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान शनिवार काे ओलावृष्टि से प्रभावित फसलें देखने और किसानों से मिलने छायन गांव आए थे। विधायक बापूसिंह तंवर ने राशन दुकानों पर हो रहे घोटाले को लेकर शिकायत की थी। इसके बाद मंच से सीएम श्री चौहान ने जिला खाद्य अधिकारी सुरेश वर्मा और सहायक आपूर्ति अधिकारी जसराम जाटव को निलंबित करने के आदेश दिए थे। वहीं कलेक्टर हर्ष दीक्षित व कमिश्नर गुलशन बामरा को जिले की राशन दुकानों की जांच के निर्देश दिए थे। 24 इसके लिए अधिकारी तैनात कर प्रत्येक को पांच-पांच दुकानों की जांच कर शाम 4 बजे तक रिपोर्ट देने कलेक्टर ने कहा गया। कलेक्टर हर्ष दीक्षित का कहना है कि गड़बड़ी करने वालों पर आगे भी कार्रवाई जारी रहेगी।

राशन कास्टाक चेक किया उपभाेक्ताओं से बात की
जांच के लिए तैनात अधिकारी दिनभर गांवों के दौरे पर रहे। जहां जांच के दौरान उनके साथ सहयोगी अधिकारी भी साथ रहे। जरूरत पड़ने पर ऑनलाइन सत्यापन करने तकनीकि अमले की मदद ली गई। जहां गेहूं, नमक, चावल व केरोसिन का स्टॉक चेक कर उपभोक्ताओं से भी बात की। इस दौरान बैसिक तौर पर ध्यान रखा की मामूली गड़बड़ी पर जुर्माना व निलंबन किया जाए। बड़ी गड़बड़ी पर सीधे एफआईआर कराने कहा गया।

कलेक्टर से लेकर नायब तहसीलदार तक दल में
जिलेभर में 24 अधिकारी 120 राशन दुकानों के लिए तैनात किए, इसमें कलेक्टर हर्ष दीक्षित, एडीएम केसी नागर, जिपं सीईओ प्रीति यादव के साथ ही सभी जंप सीईओ, एसडीएम व तहसीलदार के साथ ही नायब तहसीलदार भी थे । जिले में 120 राशन दुकानों में से दण्ड, भवानीपुरा, पपड़ेल ओर बागोरी दुकान संचालक के खिलाफ एफआईआर प्रस्तावित की है। वही पपड़ेल व भूमरिया में दुकान निरस्त की गई। 8 दुकानों में अन्य अनियमितता मिली हैं।

कहीं अनाज कम मिला तो कही केरोसिन
छायन
सीएम के दौरे के बाद देर शाम छायन पीडीएस दुकान की जांच की गई। जांच के 24 घंटे बाद महेश तंवर पुत्र मोड़सिंह निवासी माचलपुर के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया। जांच में 8 उपभोक्ता के बयान लिए, जिन्हें पर्ची नहीं दी गई। हजारों क्विंटल गेहूं, चावल, बाजरा सहित अन्य राशन देने के दस्तावेज नहीं मिले। वहीं जांच में 17 क्विंटल गेहूं, 1 क्विंटल बाजरा, 102 लीटर केरोसिन भी कम मिला।

भियांपुरा
पीडीएस राशन दुकान भियांपुरा में उपभोक्ताओं को राशन दिए बगैर पर्ची जारी की गई। 20 से अधिक उपभोक्ता को कम राशन दिया वहीं इन्हे पर्ची नहीं दी गई। इसके चलते कालीपीठ थाने में संचालक दयाराम शर्मा पुत्र घीसालाल निवासी भियांपुरा के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है।

रामपुरिया
भोजपुर थाना के रामपुरिया गांव में देवेंद्र पुत्र दीपचंद मेरोठा निवासी भूमरिया ने एक नवंबर 21 से 30 नवंबर 21 तक उपभोक्ता से अंगूठा लगवाया, लेकिन राशन नहीं दिया या फिर कम दिया गया। ऐसे में राशन की अफरा-तफरी करने पर शनिवार रात 9 बजे देंवेद्र पर आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया।

खबरें और भी हैं...